फिरोजाबाद में डेंगू का डर, लोग घर छोड़ने को हुए मजबूर

372 0

फिरोजाबाद में इस समय डेंगू बुखार और वायरल से 50 की मौत हो चुकी है, लेकिन इतनी मौतों के बाद भी नगर निगम के कई क्षेत्र ऐसे हैं जहां आज भी गंदगी का अंबार लगा हुआ है। किशन नगर में घरों के बाहर इतना पानी भरा हुआ है और गंदगी है कि लोगों का घर से निकलना काफी मुश्किल हो गया है। आलम तो यह है कि लोग अपने बच्चों को घर से बाहर नहीं निकलने दे रहे, उन्हें डर है कि कहीं डेंगू बुखार की चपेट में न आ जाये।

नगला अमान की गलियां सूनी पड़ी हैं। चौपाल पर इक्का-दुक्का लोग बैठे हैं। जिस नीम के पेड़ के नीचे ठहाके लगते थे, आज मातम पसरा हुआ है। घरों के आंगन सूने पड़े हैं। घरों में बच्चों की किलकारियां नहीं, उनकी दर्द भरी आहें सुनाई दे रही हैं। उन्हें ग्लूकोज की बोतलें चढ़ रही हैं। नन्हीं सी जानों के जिस्म को सुइयों ने घायल कर दिया है। यह वही गांव है, जहां डेंगू से पहली मौत हुई थी। इसके बाद इस जानलेवा बीमारी ने पूरे जिले को अपनी चपेट में ले लिया।

प्रेरणा शर्मा नगर आयुक्त फिरोजाबाद ने बताया कि ‘हमारे शहर के कई वार्डो में डेंगू और बुखार वायरल का प्रकोप फैल गया है, नगर निगम ने अपने सभी कर्मचारियों को लगा रखा है, हमने स्पेशल टीम बनाई है। वह खाली प्लॉट और जहां गंदगी है, उसकी साफ-सफाई को देखती है और गंदगी को वहां से खत्म करती है। जितने भी डेंगू प्रभावित क्षेत्र हैं वहां हमने सफाई कर्मचारी बढ़ा दिए हैं लेकिन लगातार बारिश होने की वजह से जलभराव बराबर हो रहा है।

काँग्रेस तैयार: रामलीला मैदान में होगी जनसभा !

‘ उन्होंने बताया कि ‘हमारे सफाई कर्मचारी काम कर रहे हैं, कुछ जगह जलभराव होता है, वह निकल जाता है लेकिन जहां जलभराव नहीं निकलता वहीं उसी दिन उसे निकाला जाता है, जहां पानी नहीं निकल पाता है वहां कैरोसिन ऑयल डाला जा रहा है। एंटी लारवा का छिड़काव बराबर किया जा रहा है।

Related Post