AGRA POLICE MURDER CASE

आगरा में दरोगा की हत्या: नम आंखों के साथ शहीद को अंतिम विदाई

230 0

आगरा। जिले के खंदौली थाना क्षेत्र में स्थिति गांव नहर्रा में भाईयों का जमीनी विवाद सुलझाने गए दारोगा प्रशांत कुमार यादव की बुधवार शाम गोली मारकर हत्या (Firing on SI Prashant Kumar)  कर दी थी। हत्यारोपी की तलाश में रातभर गांव और उसके आसपास के क्षेत्र में पुलिस टीमों का सर्च ऑपरेशन चला। मगर आरोपी और उसका परिवार का कोई भी सदस्य पुलिस के हाथ नहीं आया।

लखनऊ: अमिताभ ठाकुर ने सरकार को लिखे पत्र को किया सार्वजनिक

आशंका है कि, आरोपी और उसके परिजन गांव से सटी नदी को पार करके हाथरस जिले की सीमा में प्रवेश कर गया है। पुलिस टीमें संभावित स्थानों पर आरोपी और उसके परिजनों की तलाश में दबिश दे रही हैं। वहीं, दारोगा प्रशांत कुमार यादव की हत्या की खबर मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। पत्नी और मां सहित अन्य परिजन भी खंदौली के सरकारी अस्पताल पर देर रात पहुंच गए। उन्होंने हंगामा करते हुए आरोपी की गिरफ्तारी की मांग की। पुलिस अधिकारियों ने 24 घंटे में आरोपी की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया है।

 

रात भर चला सर्च ऑपरेशन

दारोगा प्रशांत कुमार यादव की हत्या की खबर मिलते ही एडीजी राजीव कृष्ण, आईजी के साथ ही एसएसपी बबलू कुमार और कई थानों का फोर्स गांव नहर्रा पहुंच गए। पूरा गांव छावनी में बदल गया। एडीजी ने कई टीमों का गठन किया और आरोपी की तलाश में दबिश देने के लिए रवाना की। इसके साथ ही कई थानों के पुलिस फोर्स ने गांव नहर्रा और उसके आसपास के गांव में सर्च ऑपरेशन रात भर चलाया लेकिन, आरोपी विश्वनाथ और उसके परिवार का कोई भी सदस्य पुलिस टीम के हाथ नहीं आया है।

सरकार ने दिया शहीद का दर्जा

दबंग विश्वनाथ द्वारा गोली मारकर दारोगा प्रशांत कुमार यादव की हत्या करने के बाद से आगरा से लखनऊ तक पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। सरकार ने मृतक दारोगा प्रशांत कुमार यादव को शहीद का दर्जा दिया है। साथ ही परिवार को 50 लाख रुपये की तत्काल आर्थिक राहत के साथ ही परिवार के एक सदस्य को नौकरी और गांव में उनके नाम से सड़क बनाने का भी ऐलान किया है।

2007 में चर्चा में आया था गांव नहर्रा 

बता दें गांव नहर्रा सन् 2007 में भी चर्चाओं में आया था। उस समय गांव में प्रेमी और प्रेमिका की हत्या करके शव दफना दिए थे। सूचना पर पहुंची पुलिस को सिर्फ राख मिली थी। इस मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज की। तमाम लोगों की गिरफ्तारी हुई। मगर, साक्ष्यों के अभाव में सभी आरोपी बरी हो गए। अब एक बार फिर 24 मार्च 2021 को दरोगा की हत्या से गांव चर्चा में आया है।

जिले के खंदौली थाना क्षेत्र में बुधवार देर शाम को एक दारोगा की गोली मारकर हत्या कर दी गई। गौरतलब है कि क्षेत्र के गांव मेहरा में दारोगा प्रशांत यादव और दो पुलिस कर्मी एक मामले में जांच के लिए गए थे। इस दौरान एक आरोपी ने दारोगा पर गोली चला दी। घटना की सूचना मिलते ही एसएसपी सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए।

ये था घटनाक्रम

जिले के खंदौली के गांव नहर्रा निवासी शिवनाथ सिंह का बुधवार सुबह अपने छोटे भाई विश्वनाथ सिंह से आलू खुदाई को लेकर विवाद हो गया। मामला पुलिस तक पहुंच गया। इस पर दारोगा प्रशांत अपने सहकर्मियों संग मौके पर पहुंच गए। उनकी मौजूदगी में आलू खुदाई हुई। शाम तकरीबन सात बजे पुलिस ने विश्वनाथ को हंगामा करने के आरोप में पकड़ लिया. पुलिस आरोपी को अपने साथ लेकर आने लगी। विश्वनाथ के पास तमंचा था। आरोप है कि उसने मौका देखकर तमंचे से दारोगा प्रशांत पर गोली चला दी। दारोगा की मौके पर ही मौत हो गई. घटना से गांव में अफरा-तफरी मच गई. सूचना पर एसएसपी बबलू कुमार सहित अन्य पुलिस अधिकारी पहुंच गए. पुलिस टीम जांच में जुटी है।

सीएम ने दुख जताया 

दारोगा प्रशांत यादव की मौत पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुख जताया है। उन्होंने दारोगा के परिवार को 50 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है। साथ ही कहा है कि ड्यूटी पर शहीद हुए दारोगा के नाम पर सड़क का नामकरण किया जाएगा और परिवार में निर्भर व्यक्ति को योग्यतानुसार नौकरी दी जाएगी।

खंदौली में थी तैनाती

दारोगा प्रशांत यादव की तैनाती खंदौली थाना में थी। वह वर्ष 2015 में यूपी पुलिस में दारोगा पद पर भर्ती हुए थे। दारोगा प्रशांत यादव मूल रूप से बुलंदशहर के छतारी के रहने वाले थे। पुलिस ने परिजनों को सूचना दी तो घर में कोहराम मच गया।

Related Post

corona cases in india

यूपी में कोरोना के 103 नये मामले, तीन और की मौत लखनऊ में 17 मिले संक्रमित,

Posted by - February 14, 2021 0
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अब सोमवार के साथ ही मंगलवार को भी फ्रंट लाइन वर्कर्स का वैक्सीनशन होगा। अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने रविवार को बताया कि अब तक 8.9 लाख स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंट लाइन कर्मियों को कोविड वैक्सीनेशन लगाने का काम किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य कर्मियों के बाद फ्रंट लाइन कर्मियों को टीके लगाये जा रहे हैं। इसी क्रम में 15 और 16 फरवरी को वैक्सीन के लिए चिन्हित लोगों को दो दिन पहले ही सूचित करने के निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा दिये गये हैं, जिससे कि संबंधित कर्मी समय से पहुंचकर वैक्सीन की डोज लगवा सके। इसी बीच प्रदेश में रविवार को कोरोना के 103 नये मामले सामने आये हैं, जबकि तीन और की मौत हो गयी है। इसी तरह राजधानी लखनऊ में भी 17 और पीड़ित मिले हैं और एक मरीज की मौत हो गयी है। मौजूदा समय में प्रदेश में संक्रमण अब स्थिति लगभग पूरी तरह से नियंत्रण में है। जहां एक तरफ रोज होने वाली मौतों की संख्या में भरी कमी हुई है, वहीँ दूसरी तरफ एक्टिव केसेस का नंबर भी कम हो रहा है। वैसे प्रदेश में अब तक कुल 6,02,190 संक्रमित मिल चुके हैं। इसके साथ ही मरने वालों का आंकड़ा भी अब बढ़ कर 8,702 हो गया है। रविवार को मरने वालों में लखनऊ के अलावा मेरठ और लखीमपुर खीरी के 1-1 मरीज शामिल हैं। अपर मुख्य सचिव ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को बात करते हुए बताया कि प्रदेश में कोविड से रिकवरी का प्रतिशत अब 98 फीसदी से ज्यादा हो गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 156 और अब तक 5,90,448 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,85,179 क्षेत्रों में 5,11,270 टीम दिवस के माध्यम से 3,14,57,411 घरों के 15,27,66,050 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में शनिवार को एक दिन में कुल 1,21,440 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 2,95,61,480 सैम्पल की जांच की गयी है। सहगल ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस का नया प्रयोग कर हर परिवार तक पहुंच कर उनका हालचाल लेते हुए कोविड संक्रमण की जानकारी ली जा रही है। उन्होंने बताया कि अब तक 2.95 करोड़ से ज्यादा कोविड के टेस्ट और 15.27 करोड़ से ज्यादा व्यक्तियों से संपर्क कर कोविड संक्रमण की जानकारी ली गयी है। प्रदेश में कोरोना का संक्रमण कम हुआ है। मुख्यमंत्री के निर्देशन में प्रदेश सरकार के कोविड संक्रमण के प्रभावी नियंत्रण की कार्ययोजना कारगर सिद्ध हो रही है। प्रदेश में सर्विलांस, कांट्रैक्ट कांटेक्ट व एग्रेसिव टेस्टिंग से कोविड नियंत्रण में सफलता मिली है।
West Bangal Election

सीतलकुची में वोटिंग स्थगित करने के आदेश, अभी तक 52.16 फीसद वोटिंग

Posted by - April 10, 2021 0
ऩई दिल्ली। चुनाव आयोग ने विशेष पर्यवेक्षकों की एक अंतरिम रिपोर्ट के आधार पर कूच बिहार के सीतलकुची विधानसभा क्षेत्र…