CM Yogi

Year Ender: 2023 में सीएम योगी ने बाबा विश्वनाथ के दर पर 20 बार झुकाया शीश

143 0

वाराणसी। सर्वविदित है कि उप्र के मुख्यमंत्री व गोरक्षपीठाधीश्वर महंत योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) की सनातन धर्म के प्रति अगाध श्रद्धा है। प्रशासनिक कौशल के साथ ही आध्यात्मिक रूप से समृद्ध महंत योगी आदित्यनाथ अमूमन अपने अधिकांश दौरे पर मंदिरों में दर्शन-पूजन करने अवश्य पहुंचते हैं। वाराणसी दौरे पर भी सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) काशी विश्वनाथ धाम व काशी कोतवाल काल भैरव के दरबार में शीश झुकाना नहीं भूलते। सिर्फ 2023 की ही बात करें तो योगी आदित्यनाथ 20 बार श्री काशी विश्वनाथ धाम में हाज़िरी लगा चुके हैं। वहीं मार्च 2023 तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने कार्यकाल में सौ बार दर्शन-पूजन कर चुके हैं। ऐसा करने वाले वे सूबे के इकलौते मुख्यमंत्री हैं। बाबा के दरबार में विधिवत दर्शन पूजन कर सीएम लोक कल्याण की कामना करने के साथ हर बार मंदिर में श्रद्धालुओं की सुविधा और सुरक्षा की समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश देते हैं।

विकास के साथ नागरिक सुविधा पर भी पैनी नजर

राजराजेश्वर काशी पुराधिपति श्री काशी विश्वनाथ मंदिर के प्रति मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) की गहरी आस्था है। योगी आदित्यनाथ औसतन महीने में एक या दो बार काशी की यात्रा जरूर करते हैं। वाराणसी के हर दौरे में योगी आदित्यनाथ विकास कार्यों की समीक्षा और स्थलीय निरीक्षण करते हुए सुनियोजित विकास का ख़ाका खींचते रहते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में इसका परिणाम विकास का मॉडल नई काशी के रूप में दुनिया देख रही है।

घरेलू हो या विदेशी मोर्चा, अटल जी राह बनाते गए

योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) अपने हर दौरे में बाबा विश्वनाथ के धाम में मत्था जरूर टेकते हैं। मुख्यमंत्री और गोरक्षपीठाधीश्वर महंत योगी आदित्यनाथ इस वर्ष 2023 के 12 महीनों में 20 बार श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन पूजन कर चुके हैं। ऐसा करने वाले वे उत्तर प्रदेश के इकलौते मुख्यमंत्री हैं।

सीएम योगी (CM Yogi) की कामना, देश-प्रदेश का हो कल्याण

श्री काशी विश्वनाथ के अर्चक श्रीकांत पांडेय बताते हैं कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) जब भी काशी आते हैं तो श्री विश्वनाथ जी के दर्शन करने जरूर आते हैं। ये उनकी सनातन धर्म के प्रति और बाबा विश्वनाथ के प्रति आस्था दर्शाती है।

सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) षोडशोपचार पूजन एवं रूद्र सूक्त से विश्वनाथ जी का अभिषेक करते है और विश्व के नाथ बाबा विश्वनाथ से लोक कल्याण, देश और प्रदेश के सर्व कल्याण की कामना करते हैं।

Related Post