होली से पहले सीएम ने सोनभद्र को दिया तोहफा

होली से पहले सीएम ने सोनभद्र को दिया तोहफा

222 0

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सोनभद्र  जिले की आधी आबादी वनवा सियों, गिरिवासियों और आदिवासियों की है। उन्होंने जिले की स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने के लिए जिले में  मेडिकल कॉलेज खोले जाने की घोषणा की।  उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार यहां पर पानी की किल्लत को दूर करने के साथ-साथ विकास कार्य भी तेजी से कर रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वनवासी कल्याण आश्रम में नवनिर्मित छात्रावास और विद्यालय के उद्घाटन के अवसर पर यहां राष्ट्रपति  का आगमन वनवासी समाज के जीवन में एक व्यापक परिवर्तन लाएगा। इस मौके पर भारत की प्रथम महिला सविता कोविंद व राज्यपाल आनंदीबेन मौजूद थी।

टाउनहाल मैदान में रेडीमेड गारमेंट प्रदर्शनी आज से

सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यकाल में देश ने वैश्विक मंच पर अलग पहचान बनाई है। अभी हाल में ही कोविड प्रबंधन पर अमेरिका व ब्राजील के राष्ट्रपति व आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संवाद किया था। इसमें अमेरिका के राष्ट्रपति ने भारत में कोविड प्रबंधन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  का अभिनंदन किया । सीएम ने कहा कि भारत ने दुनिया के सामने बेहतरीन कोविड मैनेजमेंट का उदाहरण प्रस्तुत करने के साथ-साथ दुनिया को कोविड की दो वैक्सीनें देकर विश्व मानवता का मार्ग प्रशस्त किया है।   इस पर पूरी दुनिया से जो सम्मान प्रधानमंत्री  को मिल रहा है, वह सम्मान भारत की 135 करोड़ की आबादी का सम्मान है।

सीएम ने कहा कि केंद्र औरराज्य सरकार देश के अंदर गांव, गरीब,किसान, नौजवान,महिलाओं, वनवासियों,गिरिवासियों समेत अनुसूचित जाति व अति पिछड़े लोगों को समाज के मुख्यधारा से जोड़कर बिना किसी भेदभाव के शासन की योजनाओं का  लाभ पहुंचा रही है।  इसी क्रम में सोनभद्र जनपद साक्षात रूप से लाभान्वित होते  दिख रहा है। राज्य सरकार एक मेडिकल कॉलेज का तोहफा भी सोनभद्र को देने जा रही है।

विजय हजारे ट्रॉफी : आदित्य तारे के नाबाद शतक से मुंबई बना विजेता

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विंध्य क्षेत्र के दो जनपद मिजार्पुर व सोनभद्र हर साल जनवरी से जुलाई महीने तक पानी की समस्या से जूझते थे। प्रधानमंत्री के जल जीवन मिशन से यहां पानी की किल्लत दूर हुई है। हर घर नल, घर घर जल भाव के साथ यहां के लोगों को शुद्ध पीने का पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। साल के अंत तक विंध्य क्षेत्र के सभी गांवों में पेयजल मिलना शुरू हो जाएगा। शुद्ध पेयजल मिलने से यहां बीमारियों पर लगाम लगेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महामहिम राष्ट्रपति के साथ पूजन कार्यक्रम में आए थे। वहां कुछ वनवासी बच्चे भी मौजूद थे। उसमें मंैने एक बालिका से पूछा कि कौन सी क्लास में पढ़ती हो? उसने कहा कि  इंटर पास कर लिया है लेकिन आगे की पढ़ाई छोड़ दी है। क्यों कि पढ़ाई के लिए प्रवेश नहीं मिल पाया। इस पर मुख्यमंत्री ने प्रशासन को निर्देश दिए कि सेवा समर्पण संस्थान के साथ बातचीत कर उस बालिका का प्रवेश अगर संभव हो तो इसी जनपद में कराए, नहीं तो काशी या फिर लखनऊ में कराएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे बच्चों को ढूंढ कर निकालिए जो आगे की पढ़ाई करना चाहते है लेकिन किन्हीं कारणों से उनका दाखिला नहीं हो पाता है।

सरकार उनकी पढ़ाई के साथ रहने व खाने की व्यवस्था भी करेगी। क्योंकि पढ़ा लिखा बालक व बालिका समाज का आधार बनता है। सीएम ने कहा कि अभिनव कार्यक्रम 21 साल पहले शुरू हुआ था। तब से राष्ट्रपति इससे जुड़े हुए हैं। जब वह सांसद थे तो उन्होंने यहां भवन के निर्माण में पहला योगदान दिया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां की शूटिंग रेंज के लिए कोच की व्यवस्था भी राज्य सरकार जल्द करेगी।

Related Post

देश की स्वास्थ्य व्यवस्था पर CJI ने जताई चिंता, कहा- मेडिकल सेक्टर पर नहीं सरकार का ध्यान

Posted by - July 2, 2021 0
कोरोना संकट के बीच सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एनवी रमण ने मोदी सरकार को लेकर तल्ख टिप्पणी की है,…