Chief Minister

दांव पर मुख्यमंत्री की कुर्सी? गहलोत की बढ़ी चिंता

208 0

जयपुर: राजस्थान की सत्ता संभाल रहे अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के लिए राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha elections) कड़ी परीक्षा साबित हो रहा है। चुनाव में बीजेपी के समर्थन से निर्दलीय उम्मीदवार के मैदान में आने से राजस्थान में कांग्रेस के सामने तीसरे उम्मीदवार की जीत को लेकर मुश्किल खड़ी हो गई है। राजस्थान में राज्यसभा चुनाव के नतीजे से मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत का राजनीतिक भविष्य भी तय हो सकता है। राज्यसभा चुनाव ऐसे वक्त में हो रहे हैं, जहां एक तरफ पार्टी हाईकमान राजस्थान में तय करने पर विचार कर रहा है कि 2023 में विधासनभा चुनाव मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में लड़ा जाए या फिर सचिन पायलट को कमान सौंपी जाए।

शिक्षिका रजनी का हुआ अंतिम संस्कार, आतंकियों की बनी थी शिकार

अशोक गहलोत के सामने बड़ी चुनौती है, क्योंकि सिर्फ निर्दलीय व सहयोगी दल ही नहीं, बल्कि कांग्रेस पार्टी के कई विधायक भी सरकार से नाराज हैं। कांग्रेस को राजस्थान में तीसरी सीट जीतने के लिए 13 निर्दलीय विधायक, 2 बीटीपी और 2 सीपीएम के विधायकों के समर्थन की दरकार है। कांग्रेस के पास 108 खुद के विधायक हैं और एक सरकार में मंत्री राष्ट्रीय लोकदल के सुभाष गर्ग का औपचारिक समर्थन है।

महीने के पहले दिन महंगाई से राहत, इतने रुपए सस्ता हुआ LPG सिलेंडर

जाहिर है मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को निर्दलीयों और अपनी पार्टी के नाराज विधायकों को साधने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ सकती है। पार्टी के एक नेता का दावा है कि गहलोत के सामने ये चुन्नौती भी ठीक वैसी ही है जैसी पौने दो साल पहले सरकार बचाने की थी।

 

Related Post

छह बागी विधायकों का इस्तीफा स्वीकार

मध्य प्रदेश : विधानसभा अध्यक्ष ने छह बागी विधायकों का इस्तीफा किया स्वीकार

Posted by - March 14, 2020 0
भोपाल। मध्यप्रदेश में सियासी संकट के बीच बागी हुए 22 कांग्रेसी विधायकों में छह के इस्तीफे शनिवार को स्वीकार कर…
Mission 2024

प्रदेश कार्यसमिति में यूपी की 80 लोकसभा सीटों पर कमल खिलाने का संकल्प

Posted by - January 22, 2023 0
लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में संपन्न प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में मिशन 2024…