बसपा ने कांग्रेस पर उठाए सवाल, कहा- महिलाओं के लिए 40% सीटों का ऐलान सियासी स्टंट

125 0

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी ने बुधवार को आगामी विधानसभा चुनावों में महिलाओं के लिए 40 प्रतिशत आरक्षण की कांग्रेस की घोषणा को सियासी स्टंट करार दिया है। बीएसपी ने पूछा कि दूसरे चुनावी राज्यों में इस योजना की घोषणा क्यों नहीं की गई। पार्टी प्रवक्ता सुधींद्र भदौरिया ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के छल का लंबा रिकॉर्ड रहा है। उन्होंने कहा कि पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। क्या महिलाएं दूसरे राज्यों में नहीं रहती हैं?

बहुजन समाज पार्टी के प्रवक्ता सुधींद्र भदौरिया ने कहा कि प्रियंका जी ने आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए उत्तर प्रदेश में महिलाओं के लिए 40 प्रतिशत सीटों का ऐलान किया है। वो खुद एक महिला हैं और पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव भी हैं, मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि क्या महिलाएं दूसरे राज्यों में नहीं रहती हैं? क्या महिलाएं पहले से ही दूसरे राज्यों में नहीं रही हैं? फिर ऐसी घोषणाएं सिर्फ उत्तर प्रदेश के लिए ही क्यों की जा रही हैं? उन्होंने आगे कहा, मुझे याद है जब बाबा साहब महिलाओं के अधिकारों के लिए हिंदू कोड बिल लाए थे। तब यह कांग्रेस पार्टी थी जिसने महिलाओं को सशक्त बनाने वाले विधेयक का विरोध किया था। भदौरिया ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने केंद्र में अपने कार्यकाल के दौरान महिलाओं के लिए आरक्षण विधेयक कभी पारित नहीं किया।

मायावती ने भी साधा निशाना

बता दें कि इससे पहले बसपा अध्यक्ष मायावती ने यूपी के आगामी विधानसभा चुनाव में 40 प्रतिशत टिकट महिलाओं को देने का ऐलान करने वाली कांग्रेस पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा कि इस पार्टी की सरकार ने आधी आबादी के कल्याण के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए। मायावती ने यह भी कहा कि कांग्रेस अगर महिलाओं को भागीदार बनाना चाहती थी तो उसने अपने शासनकाल में संसद और विधानसभाओं में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने का कानून क्यों नहीं बनाया।

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा, कांग्रेस जब सत्ता में होती है व उसके अच्छे दिन होते हैं तो उसे दलित, पिछड़े व महिलाएं आदि की याद नहीं आती, किन्तु अब जब इनके बुरे दिन नहीं हट रहे हैं तो पंजाब में दलित की तरह यूपी में इनको महिलाएं याद आई हैं। उन्हें 40 प्रतिशत टिकट देने की घोषणा कांग्रेस की कोरी चुनावी नाटकबाजी है।

उन्होंने कहा,  महिलाओं के प्रति कांग्रेस की चिन्ता अगर इतनी ही सही और ईमानदार होती तो केन्द्र में उसकी सरकार ने संसद और विधानसभाओं में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने का कानून क्यों नहीं बनाया?  कहना कुछ व करना कुछ कांग्रेस का स्वभाव है, जो उसकी नीयत व नीति पर प्रश्नचिन्ह खड़े करता है।

गौरतलब है कि कांग्रेस महासचिव और पार्टी की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने हाल ही में एक संवाददाता सम्मेलन में ऐलान किया कि उनकी पार्टी प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में 40 प्रतिशत सीटों पर महिला उम्मीदवार उतारेगी। जिसके बाद से कांग्रेस पार्टी पर सियासी हमले शुरू हो गए है।

Related Post

कृषि कानून इतना अच्छा है तो भाजपा का कोई मंत्री बिना सुरक्षा सिंघु बॉर्डर जाकर दिखाए – मनीष तिवारी

Posted by - July 18, 2021 0
पंजाब में विधानसभा चुनाव की तैयारियां जारी हैं, मोदी सरकार द्वारा पास किया गया कृषि कानून प्रदेश की राजनीति का…

यूपीपीएससी के पूर्व परीक्षा नियंत्रक के खिलाफ सीबीआई ने दर्ज की एफआईआर

Posted by - August 6, 2021 0
सीबीआई ने अपर सचिव सचिवालय भर्ती परीक्षा 2010 में अनियमितता के मामले में उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) के…
सुषमा स्वराज

‘दुश्मनी इतनी करो कि दोस्त हो जाएं तो शर्मिंदा ना होना पड़े’ -सुषमा स्वराज

Posted by - May 8, 2019 0
नई दिल्ली। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अलग-अलग ट्वीट कर कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी और पश्चिम बंगाल की सीएम…