Paayel

पश्चिम बंगाल: BJP प्रत्याशी पायल सरकार के ​काफिले पर हमला, TMC समर्थकों पर आरोप

430 0

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के चुनावी महासंग्राम में जुबानी जंग के साथ हिंसा भी देखने को मिल रही है। ताजा मामले में बीजेपी प्रत्याशी के काफिले पर हमला किए जाने की खबर मिली है। इस मामले में अभी तक बीजेपी द्वारा कोई बयान जारी नहीं किया गया है।

पश्चिम बंगाल में दूसरे चरण के मतदान के बाद तीसरे चरण के लिए प्रत्याशियों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। चुनावी महासंग्राम के इस रण में जहां जुबानी तीर चल रहे हैं, तो आज बड़ी खबर पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24-परगना जिले के  ठाकुरपुकुर इलाके की है। यहां चुनाव प्रचार के दौरान बीजेपी प्रत्याशी पायल सरकार (Paayel Sarkar) के काफिले पर हमला किया गया। कथित तौर पर आरोप लगाया गया कि हमलावर टीएमसी समर्थक थे। इस हमले में बीजेपी समर्थकों को चोटें भी आई हैं।

हुगली में मोदी-शाह पर बरसीं ममता, कहा- इतना खराब पीएम और गृह मंत्री कभी नहीं देखा

 

पश्चिम बंगाल की बेहला पूर्व से बीजेपी ने पायल सरकार को चुनाव मैदान में उतारा है. नेता से अभिनेता बनीं पायल (Paayel Sarkar) सरकार इस चुनाव को लेकर काफी उत्साहित हैं। उनके द्वारा दिन-रात एक कर जनता से समर्थन जुटाने के लिए क्षेत्र में प्रचार किया जा रहा है। ऐसे में रविवार को जब प्रचार चल रहा था, ​तब कथित तौर पर टीएमसी समर्थकों द्वारा उनके काफिले पर हमला किया गया।

इस हमले में काफिले में शामिल ​बीजेपी कार्यकर्ताओं को चोटें आई हैं। इस हमले के बाद बीजेपी प्रत्याशी कार्यकर्ताओं को संभालते हुए नजर आईं। चोटिल हुए कार्यकर्ताओं को उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया है। वहीं बीजेपी द्वारा इस मामले में अभी कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है। वहीं इस घटना के बाद ठाकुरपुकुर इलाके में तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है।

बता दें कि अभिनेता से नेता बनीं पायल सरकार (Paayel Sarkar) इसी वर्ष फरवरी में बीजेपी में शामिल हुई थीं। बीजेपी में शामिल होने के फैसले के बारे में पूछे जाने पर पायल सरकार (Paayel Sarkar) ने कहा, “मुझे राजनीति में दिलचस्पी रही है, लेकिन कभी भी इसमें सक्रिय रूप से भाग नहीं लिया। भाजपा में शामिल होने के पीछे का कारण सिर्फ यह है क्योंकि मैं भाजपा की विचारधारा से प्रभावित हूं।”

बता दें कि पायल सरकार (Paayel Sarkar) उन पांच भाजपा नेताओं में शामिल थीं, जिन्हें इस साल मार्च में गृह मंत्रालय द्वारा CISF सुरक्षा कवच प्रदान किया गया। पायल सरकार (Paayel Sarkar) को केंद्र सरकार द्वारा ‘वाई’ श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गई। पायल सरकार को तृणमूल कांग्रेस के रत्न चटर्जी के खिलाफ खड़ा किया गया है।

Related Post

दिल्ली दंगा: उमर खालिद पर लगे आरोपों को वकील ने नकारा, कहा- पुलिस के पास साबित करने को कुछ नहीं

Posted by - September 3, 2021 0
दिल्ली में पिछले साल हुए दंगो के मामले में जेल में बंद जेएनयू के छात्र नेता उमर खालिद की जमानत…
66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार

66th National Film Award: नहीं शामिल हो सके अमिताभ बच्चन, ट्वीट कर दी जानकारी

Posted by - December 23, 2019 0
एंटरटेनमेंट डेस्क। 66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार सामारोह का आगाज दिल्ली के विज्ञान भवन में हो चुका हैं। जो आज सोमवार…