बंगाल के बाद त्रिपुरा में भी राजनीतिक हिंसा, कई घायल

137 0

पश्चिम बंगाल में भाजपा एवं टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच जारी हिंसा की आग त्रिपुरा तक पहुंच चुकी है, वहां से भी हिंसा की खबरे सामने आ रही हैं। आरोप है कि धलाई जिले में भाजपा के पूर्व उपाध्यक्ष सुबल भौमिक ने टीएमसी कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर धर्मनगर इलाके में तोड़ फोड़ की। भाजपा ने झगड़े का खंडन करते हुए कहा- टीएमसी की कोई औकात नहीं कि वह भाजपाशासित त्रिपुरा में कार्यकर्ताओं के खिलाफ हिंसा करे।

टीएमसी प्रवक्ता देबांग्शु भट्टाचार्य ने कहा, सुदीप राहा और जया दत्ता के ऊपर अंबासा में भाजपा कार्यकर्ताओं ने हमला किया, उनकी गाड़ियों पर पत्थर फेंके गए। बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा- टीएमसी त्रिपुरा में हिंसा भड़का रही है और खुद ही पीड़ित बनने का नाटक कर रही है।

पुलिस ने कहा कि अंबासा में अज्ञात उपद्रवियों के समूह ने दो लोगों पर हमला कर उनके वाहन को आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त कर दिया। तृणमूल प्रवक्ता देबांग्शु भट्टाचार्य ने आरोप लगाया कि पार्टी नेता सुदीप राहा और जया दत्ता उत्तरी त्रिपुरा जिले के धर्मनगर जाते समय अंबासा में भाजपा कार्यकर्ताओं के हमले में घायल हो गए। भट्टाचार्य ने पत्रकारों से कहा, उपद्रवियों ने उस कार पर हमला किया, जिसमें मैं भी बैठा था। उन्होंने लाठी और घातक हथियारों से हमला किया और वाहन पर पत्थर फेंके।

बोले बदरुद्दीन अजमल, कुल सात राज्यों ने हड़प ली असम की जमीन

उनके कृत्य से पता चलता है कि उन्हें राज्य में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में हार का अहसास हो गया है। वहीं, बंगाल भाजपा प्रमुख दिलीप घोष ने कहा, टीएमसी त्रिपुरा में राजनीतिक हिंसा भड़का रही है। वे नाटक कर रहे हैं। पूर्वोत्तर राज्य में कोई भी टीएमसी को ज्यादा महत्व नहीं देता है।

Related Post

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सलियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच मुठभेड़

Posted by - November 26, 2018 0
छत्तीसगढ़। खबर सुकमा जिले से है जहाँ सोमवार तड़के नक्सलियों और सुरक्षाकर्मियों में मुठभेड़ हो गई। जानकारी के मुताबिक मुठभेड़…
रोजगार मेला

एमआईटी मेरठ में आठ फरवरी को 8921 पदों पर भर्ती के लिए रोजगार मेला

Posted by - February 4, 2020 0
लखनऊ। सेवायोजन विभाग और मेरठ इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एमआईटी संयुक्त रूप से एक वृहद रोजगार मेला आठ फरवरी को एमआईटी…

चन्द्रयान-2 : इसरो के इतिहास में पहली बार दो महिला वैज्ञानिकों के हाथ में थी कमान

Posted by - July 23, 2019 0
लखनऊ डेस्क। इसरो के इतिहास में यह पहली बार हुआ है जब किसी अंतरिक्ष मिशन की कमान दो महिला वैज्ञानिकों…