बाला देवी

बाला देवी विदेशी फुटबॉल क्लब खेलने वाली पहली भारतीय महिला

277 0

नई दिल्ली। भारत में स्पोर्ट्स एक ऐसा क्षेत्र है, जहां पुरुषों का ही दबदबा माना जाता है, लेकिन पिछले कुछ वर्षों में जिस तेजी के साथ महिलाओं ने भी स्पोर्ट्स में दमखम दिखया है वह काबिले तारीफ है। हाल में ही भारतीय महिला फुटबॉल टीम की प्लेयर बाला देवी ने एक नया कृतिमान रचा है।

बाला देवी विश्व की जानी-मानी स्कॉटलैंड के फुटबॉल क्लब रेंजर्स के साथ खेलने का मौका हासिल किया

भारतीय महिला फुटबॉल प्लेयर बाला देवी विश्व की जानी-मानी स्कॉटलैंड के फुटबॉल क्लब रेंजर्स के साथ खेलने का मौका हासिल किया है। बाला देवी ऐसी पहली भारतीय महिला फुटबॉल प्लेयर है जो फुटबॉल क्लब रेंजर्स के साथ जुड़ी हैं। यूरोप में फुटबॉल क्लब रेंजर्स दुनिया का सबसे बेहतरीन फुटबॉल क्लब माना जाता है। 29 साल की बाला देवी के साथ इस क्लब ने 18 महीने का करार किया है। बाला भारतीय महिला टीम के के लिए सबसे अधिक गोल करने वाली खिलाड़ी है। बाला ने 58 मैचों में भारत के तरफ से 52 गोल किए हैं। इससे पहले बाला देवी भारतीय महिला फुटबॉल टीम की कप्तान भी रह चुकी हैं।

अब जब मुझे यह मौका मिला है तो, मैं इसे दोनों हाथों से पकड़ना चाहती हूं

एक मीडिया संस्था से बात करते हुए बाला देवी ने फुटबॉल को लेकर कई जवाब दिए है। बाला कहती है कि जब हम बच्चे थे तब टेलीविजन पर या यूट्यूब पर यूरोपीय फुटबॉल मैच को देखती थी, और खुद को इस तरह की यूरोप में खेलने का सपना देखती थी। अब जब मुझे यह मौका मिला है तो, मैं इसे दोनों हाथों से पकड़ना चाहती हूं और देश को दिखाउंगी कि हम महिला खिलाड़ी अगर कड़ी मेहनत करें। इसे अपना सर्वश्रेष्ठ दें तो सब अच्छा हो सकता है।

बाला देवी दक्षिण एशियाई क्षेत्र में सबसे अधिक गोल करने वाली खिलाड़ी

बता दें कि बाला देवी ने पहली बार 15 साल की उम्र में भारत के लिए पहला मैच खेला था। तब से लेकर आज तक बाला ने कभी पीछे मुड़ के नहीं देखा और हमेशा आगे बढ़ती रही। मणिपुर से आने वाली बाला देवी भारतीय महिला फुटबॉल टीम के लिए कई बार मैच जिता चुकी है। बाला देवी दक्षिण एशियाई क्षेत्र में सबसे अधिक गोल करने वाली खिलाड़ी भी हैं। बाला देवी बताया कि मैं चाहती हूं कि भारतीय टीम से ऐसे और भी खिलाड़ी आए जो देश के लिए नाम कमाएं’। अगर हम कड़ी मेहनत करेंगे तो ज़रूर हमें सफलता मिलेगी, बस ज़रूरी है अपने गेम्स पर ध्यान देने की है।

यूरोप में खेलना हमेशा से मेरे लिए एक सपना रहा है और अब यह सच हो गया

बाला देवी कहा कि यूरोप में खेलना हमेशा से मेरे लिए एक सपना रहा है और अब यह सच हो गया है। हम सभी इतिहास, विरासत और संस्कृति के बारे में जानते हैं कि रेंजर्स जैसा क्लब इसके साथ काम करना और खेलना कितना मायने रखता है। बता दें कि इस साल के अंत में फीफा अंडर -17 विश्व कप होने वाला है जिसे लेकर बाला ने युवाओं को संदेश देते हुए बाला ने कहा कि कड़ी मेहनत से खेलें। अपने लिए खेलें, लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि अपने देश के लिए खेलें, क्योंकि ‘भारत की जर्सी’ ऐसे ही किसी को नहीं मिलाती है।

Loading...
loading...

Related Post

मायावती

महाराष्ट्र सरकार में शिवसेना के साथ, कांग्रेस का दोहरा चरित्र नहीं है तो और क्या है?

Posted by - December 15, 2019 0
लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने रविवार को एक बार फिर कांग्रेस पर हमला बोला है। मायावती ने ट्वीट…

कुत्ते के साथ मलाइका ने तस्वीर शेयर तस्वीर, बिना कमेंट किए रह नहीं पाए अर्जुन

Posted by - August 18, 2019 0
बॉलीवुड डेस्क। मलाइका अरोड़ा और अर्जुन कपूर का प्यार अब जग जाहिर हो चुका है।इसी बीच मलाइका ने इंस्टाग्राम पर…
पूर्णा सुंदरी

मेहनत व हौंसले से पूर्णा सुंदरी ने शारीरिक दुर्बलता को दी मात, UPSC में मिली 286वीं रैंक

Posted by - August 6, 2020 0
नई दिल्ली। पूर्णा सुंदरी न सिर्फ अपने परिवार, बल्‍क‍ि पूरे समाज के लिए एक प्रेरणा बनकर उभरी हैं। आंखों में…