अनुराग ठाकुर

‘गोली मारो’ वाले नारे के सवाल पर भड़के अनुराग ठाकुर, बोले- अधूरी जानकारी घातक

136 0

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर रविवार को चंडीगढ़ पहुंचे थे। इस दौरान कुछ पत्रकारों ने उनसे विवादित नारा ‘देश के गद्दारों को… गोली मारो’ पर सवाल किया तो वह जवाब देने से कतराते नजर आए। उन्होंने उल्टा ही मीडिया को नसीहत देनी शुरू कर दी।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि मामला कोर्ट में है, इसलिए मैं आगे कोई टिप्पणी नहीं कर सकता

अनुराग ठाकुर ने कहा कि आप झूठ बोल रहे हैं। आप लोगों को पहले अपना ज्ञान बढ़ाना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आधा ज्ञान खतरनाक है। इस दौरान अनुराग ठाकुर ने कहा कि मामला कोर्ट में है, इसलिए मैं आगे कोई टिप्पणी नहीं कर सकता हूं। वह चाहे मीडिया का दुष्प्रचार हो या किसी और का हो।

जीएसटी पूरा कर रहा है लक्ष्य , इसका सरलीकरण आगे भी होता रहेगा

सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेज एंड कस्टम (सीबीआईसी) और सेंटर बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (सीबीडीटी) की ओर से एक्सचेंज ऑफ आइडियाज पर हुए कार्यक्रम में पहुंचे थे। केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने जीएसटी के नियमों से लेकर उसके कलेक्शन तक प्रकाश डाला। कहा कि जीएसटी ने अपना लक्ष्य पूरा किया है। उन्होंने कहा कि मैं यहां से सुझाव लेने आया हूं और जो सुझाव बेहतर होंगे उस पर अमल किया जाएगा ताकि जीएसटी का और सरलीकरण हो सके।

केंद्रीय राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि यूपीए सरकार में चल रहे कंपनी एक्ट को खत्म किया। उस दौरान तमाम लोगों को मजबूरी में टैक्स चोरी करना पड़ता था, लेकिन आज जीएसटी के जरिए सभी लोग टैक्स अदा आसानी से कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 130 करोड़ की जनसंख्या में से 10 करोड़ लोगों पर टैक्स का बोझ पड़ रहा है।

ऋषिकेश : अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव में गंगा तट ऊं की ध्वनि से गूंज उठा

टैक्स और लोग अदा करें, इसके लिए सुझाव दिए जाएं। उन्होंने कहा, हमने ट्रेडर्स के बीच विश्वास बनाया है और यह आगे भी जारी रहेगा। कारपोरेट टैक्स, बैंकों के विलय पर भी प्रकाश डाला। कहा कि देश की सही पिक्चर जनता के सामने जाए, इसके लिए आप सभी को आगे आना होगा।

बजट के लिए केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर से मिले वीसी

केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर से पंजाब विश्वविद्यालय के वीसी प्रो. राजकुमार ने कार्यक्रम के दौरान मुलाकात की। पीयू के लिए बजट की मांग की। उसके बाद केंद्रीय मंत्री ने शिक्षा के बजट में सुधार के सुझाव वीसी प्रो. राजकुमार से मांगे। वीसी ने पीयू के कई बेहतर उदाहरण पेश किए। वीसी प्रो. राजकुमार ने कहा, बजट इस बार भी सराहनीय रहा है।

उपकरणों की मरम्मत के लिए एक पॉलिसी का प्रावधान हो और सीएसआर बजट का भी विलय इसके जरिए कर दिया जाए

शिक्षा क्षेत्र को बहुत कुछ मिला है। पीयू में करोड़ों के तमाम उपकरण खराब हैं, कुछ सही भी करवाए गए हैं। इन उपकरणों की मरम्मत के लिए एक पॉलिसी का प्रावधान हो और सीएसआर बजट का भी विलय इसके जरिए कर दिया जाए। इसके अलावा पीयू में 15 करोड़ की लागत से इंक्यूबेशन सेंटर हम बना रहे हैं, हर शिक्षण संस्थान या विश्वविद्यालय को इसकी जरूरत है।

वीसी ने सीआईएल लैब की आमदनी बढ़ाने के तरीकों को भी सामने रखा

सीएसआर के फंड को इसके साथ टैग किया जा सकता है। वीसी ने सीआईएल लैब की आमदनी बढ़ाने के तरीकों को भी सामने रखा। केंद्रीय मंत्री ने इस कार्य को सराहा। केंद्रीय मंत्री ने कार्यक्रम के दौरान कई बार प्रो. राजकुमार का नाम लिया।

Loading...
loading...

Related Post

कारगिल दिवस स्पेशल : भारतीय सेना में भर्ती होकर शहीद पति के सपनों को साकार कर रही ये महिला

Posted by - July 26, 2019 0
लखनऊ डेस्क। 1999 में भारत की पाकिस्तान पर जीत के उपलक्ष्य में हर वर्ष 26 जुलाई को करगिल विजय दिवस…
शेयर बाजार

बैंकों के विलय के एलान से सेंसेक्स में भारी अंकों की गिरावट, जानें क्या रहा निफ्टी का हाल

Posted by - September 3, 2019 0
नई दिल्ली। बैंक विलय की घोषणा से मंगलवार यानी आज शेयर बाजार में जोरदार गिरावट दर्ज की गई। इसके अतिरिक्त…

देश को आजादी दिलाने में शामिल सरोजिनी का नाम, जानें उनसे जुडी कुछ खास बातें

Posted by - May 17, 2019 0
डेस्क। कवयित्री और कलाकार ना जाने कितनी पहचान लिए थी भारत की पहली महिला गवर्नर सरोजिनी नायडू। भारत को आजादी…