Kashi Hindu University

वाराणसी : 100 साल का हुआ जंतु विभाग, दो दिन तक चला कार्यक्रम

253 0

वाराणसी । जिले में काशी हिंदू विश्वविद्यालय  (kashi hindu university) के विज्ञान संस्थान स्थित जंतु विज्ञान विभाग में शताब्दी वर्ष पुरातन छात्र सम्मेलन का आयोजन किया गया। यह कार्यक्रम 2 दिनों तक चला। इसका समापन रविवार को हो गया।

UP : मिशन शक्ति की सवेरा योजना बनी महिलाओं का सहारा

जिले के काशी हिंदू विश्वविद्यालय (kashi hindu university) के विज्ञान संस्थान स्थित जंतु विज्ञान विभाग में शताब्दी वर्ष पुरातन छात्र सम्मेलन का आयोजन किया गया। यह कार्यक्रम 2 दिनों तक चला। इसका समापन रविवार को हो गया. 6 मार्च और 7 मार्च को यह कार्यक्रम हुआ। जंतु विज्ञान विभाग की स्थापना 1921 में हुई थी। विश्व पटल पर विज्ञान एवं अन्य प्रशासनिक क्षेत्रों में उत्कृष्ट योगदान के रूप में जाना जाता है।

इस विभाग से जुड़े हुए कई विभूतियों को पद्मश्री एसएस भटनागर पुरस्कार, जवाहरलाल नेहरू पुरस्कार, हरिओम ट्रस्ट पुरस्कार, विज्ञान रत्न प्रतिष्ठित राष्ट्रीय विज्ञान और चिकित्सा की फेलोशिप से सम्मानित भी किया जा चुका है।

उद्घाटन सत्र को नोबेल पुरस्कार विजेता ने किया संबोधित

कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में नोबेल पुरस्कार विजेता प्रोफेसर ब्रूस ए बटलर ने संबोधन दिया। उनका विषय ह्यूमन प्रतिरोधक क्षमता था जिसके लिए उन्हें नोबेल पुरस्कार मिला था। आज भी लोग इस पर कार्य कर रहे हैं। नोबेल पुरस्कार विजेता ने अपने शोध की बारीकियों से लेकर उसके विभिन्न चरणों पर विस्तार से चर्चा की और बताया कि कैसे उनका शोध अंजाम तक पहुंचा।

ऑनलाइन जुड़ें छात्र

काशी हिंदू विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर राकेश भटनागर ने प्रोफेसर बटलर का परिचय दिया। उन्होंने उनकी उपलब्धियों पर भी चर्चा की। वैज्ञानिक व नोबेल विजेता के व्याख्यान से निश्चित तौर पर संस्थान के छात्रों एवं शिक्षकों को नई ऊर्जा का प्रोत्साहन मिला। कार्यक्रम में जंतु विज्ञान विभाग के वरिष्ठ सहायक सदस्य, शिक्षक, छात्र व देश-विदेश से सैकड़ों छात्र ऑनलाइन माध्यम से जुड़े।

कोविड के नियमों का हुआ पालन

प्रोफेसर एस के त्रिगुन ने बताया कि यह शताब्दी वर्ष है. 1921 में इस डिपार्टमेंट की स्थापना हुई थी। शताब्दी वर्ष को लेकर हमारे मन में बहुत ही उत्साह रहा. दुर्भाग्य से इस कार्यक्रम को ऑनलाइन करना पड़ रहा है। विदेशों से ऑनलाइन माध्यम से कई छात्र जुड़े. यहां के छात्र कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए ऑफलाइन भी जुड़े रहे।

छात्रों में भरा उत्साह

प्रोफेसर त्रिगुन ने बताया कि नोबेल पुरस्कार विजेता प्रोफेसर ब्रूस का संबोधन 1 घंटे का था। पूरा हॉल उनको सुनने के लिए भरा हुआ था। बीएससी एमएससी के छात्रों को उनको सुनने का मौका मिला। बहुत कुछ सीखने का मौका मिला। उनका विषय इम्यूनिटी पर था। इसमें बताया गया कि हम अपनी इम्यूनिटी को कैसे बढ़ा सकते हैं। कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से कैसे लड़ सकते हैं। इसी विषय पर उनको नोबेल पुरस्कार भी मिला था।

Related Post

Winter Session

यूपी विधान सभा शीतकालीन सत्र: सदन में मुलायम सिंह को दी गयी श्रद्धांजलि

Posted by - December 5, 2022 0
लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधान सभा के शीतकालीन सत्र (Winter Session) के पहली दिन सदन की कार्यवाही शुरु होते ही मुख्यमंत्री…
Banaras

बनारस घराने के शास्त्रीय संगीत समूह को मजबूत करेगा ये प्रोजेक्ट

Posted by - July 16, 2022 0
वाराणसी: बनारस (Banaras) घराने के हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत समूह को मजबूत करने के लिए प्रोजेक्ट केयर के तहत सिडबी और…
mukhtar-ansari

मुख्तार अंसारी को यूपी भेजने के फैसले का अलका राय ने किया स्वागत, कहा- सुप्रीम कोर्ट का आभार

Posted by - March 27, 2021 0
गाजीपुर। उत्तर प्रदेश के मऊ सदर से विधायक मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari)  को पंजाब से यूपी की जेल में शिफ्ट…
रेलवे ट्रैक पर मिला महिला का शव

रेलवे ट्रैक पर मिला महिला का शव

Posted by - March 30, 2021 0
विभूतिखण्ड क्षेत्र में विराजखण्ड स्थित रेलवे ट्रैक के पास झाड़ियों में सोमवार सुबह तकरीबन 35 वर्षीय महिला का शव पड़ा मिला। शव की शिनाख्त नहीं हो सकी है। पुलिस शव के शिनाख्त के प्रयास कर रही है। स्थानीय लोगों ने हत्याकर शव फेंके जाने की आशंका जताई है। उत्तर प्रदेश की राजधानी में गांजा तस्कर हुए गिरफ्तार  जानकारी के मुताबिक सोमवार सुबह कुछ लोग रेलवे ट्रैक के पास से निकले। झाड़ियों के पास महिला का शव पड़ा देखा तो पुलिस को सूचना दी। शव मिलने से मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई। सूचना पर विभूतिखण्ड पुलिस पहुंची। आस पड़ोस के लोगों की मदद से महिला के शव की शिनाख्त का प्रयास किया पर सफलता नहीं मिली। शिनाख़्त न होने पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।इंस्पेक्टर चंद्र शेखर सिंह ने बताया कि महिला की शिनाख्त के प्रयास किए जा रहे हैं। महिला विक्षिप्त बताई जा रही है। इसकी उम्र करीब 35 वर्ष है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्यवाई की जाएगी। वहीं, प्रयत्क्षदर्शियों ने हत्या कर शव फेंके जाने की आशंका जताई है।इंस्पेक्टर ने बताया कि महिला की शिनाख्त के लिए उसकी फोटो शहरी और ग्रामीण इलाकों समेत आस पड़ोस के जनपदों के थानों में भेजी गई है। हाल में थाना क्षेत्रों से लापता हुई महिलाओं का ब्यौरा इकट्ठा किया जा रहा है। सड़क हादसों में आधा दर्जन की हुई मौत उनके परिवारीजनों को सूचना दी जा रही।इंस्पेक्टर ने बताया कि महिला की शिनाख्त के हर तरह से प्रयास किए जा रहे हैं,72 घण्टे तक शव को मच्युर्री में रखा जाएगा। शिनाख्त न होने पर 72 घण्टे बाद शव का पोस्टमार्टम कराकर पुलिस उनका अंतिम संस्कार कराएगी।…