AK Sharma

ऊर्जा मंत्री के प्रयासों से 63 एमवीए का वृहद परिवर्तक उत्तराखण्ड से बलिया साढ़े चार दिनों में पहुंचा

48 0

लखनऊ। प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री  एके शर्मा (AK Sharma) की सूझबूझ, लगन, परिश्रम, जिजीविषा और लोगों के प्रति स्नेह व उनकी समस्याओं को शीघ्र दूर करने की लालसा से 63 एमवीए के बृहद आकार के परिवर्तन को बहुत ही कम समय में पूर्ण सुरक्षित तरीके से  उत्तराखंड से लाकर बलिया पहुंचाया गया और शीघ्र ही स्थापित कर, विद्युत आपूर्ति को सुचारू रूप से बहाल कर दिया गया। इसके लिए ऊर्जा मंत्री (AK Sharma) ने विभागीय अधिकारियों के परिश्रम की तथा विपरीत परिस्थितियों में जनता के धैर्य की प्रशंसा की। उन्होंने बड़ी क्षमता वाले ट्रांसफार्रमर के क्षतिग्रस्त होने को गम्भीरता से लिया है और इस संबंध में जांच कर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। साथ ही एक बड़ी आबादी को बिजली के संकट का सामना न करना पड़े इसके लिए बड़ी क्षमता वाले ट्रांसफार्रमरों का पर्याप्त संख्या में स्टॉक बनाये रखने का भी निर्देश दिया है।

विगत 30 जुलाई, 2022 को जनपद बलिया के सिविल लाइन्स क्षेत्र में स्थित 2×63 एमवीए क्षमता के 132/33 केवी उपकेन्द्र बलिया पर 01 नग 63 एमवीए परिवर्तक क्षतिग्रस्त हो गया। इस उपकेन्द्र के माध्यम से नगरीय एवं कुछ ग्रामीण क्षेत्रों को सुचारू एवं सुदृढ़ विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही थी। अतः इस क्षतिग्रस्त परिवर्तक के स्थान पर अविलम्ब शीघ्रताशीघ्र स्वस्थ परिवर्तक स्थापित किया जाना आवश्यक हो गया था।

मूलभूत सुविधाओं के विकास में लाएं तेजी, समय सीमा के भीतर कार्य करें पूरा : एके शर्मा

इस तथ्य के दृष्टिगत 63 एमवीए का परिवर्तक एक अत्यन्त बृहद आकार का उपकरण होता है जिसका भार लगभग 80 एमटी होता है, इस प्रकार के उपकरणों (परिवर्तक) के परिवहन हेतु मार्ग की अनुकूलता, परिवहन हेतु आवश्यक वृहद वाहन की उपलब्धता इत्यादि का भी ध्यान रखा जाना अत्यन्त आवश्यक होता है, क्योंकि मार्ग के अनुकूल न होने पर परिवर्तक का परिवहन अत्यन्त दुष्कर हो जाता है एवं जिसमें अत्याधिक समय लगना सम्भावित होता है।

ऊर्जा मंत्री (AK Sharma) के संज्ञान में आया की एक 63 एमवीए का परिवर्तक जनपद कानपुर देहात में उपलब्ध है। परन्तु उक्त उपकेन्द्र की स्थलीय प्रवृत्ति एवं उपकेन्द्र से 132/33 केवी उपकेन्द्र बलिया तक का मार्ग परिवर्तक स्वरूप वृहद उपकरणों के परिवहन हेतु अनुकूल नहीं था एवं इस परिवहन में अत्यधिक समय लगता। किसी स्वस्थ परिवर्तक को न्यूनतम समय में 132/33 केवी उपकेन्द्र बलिया पर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से तत्काल यह निर्णय लिया गया कि जनपद शहीद उधम सिंह नगर, उत्तराखण्ड मे सितारगंज स्थित फर्म मै० टेक्निकल एसोसियट्स पर उप्रपाट्रांकालि द्वारा आदेशित व उपलब्ध परिवर्तक को 132/33 केवी उपकेन्द्र बलिया तक परिवहन सुनिश्चित किया जाये।

ऊर्जा मंत्री (AK Sharma) के निर्देश पर परिवर्तक फैक्ट्री से 132/33 केवी उपकेन्द्र बलिया के लिए  10 अगस्त, 2022 को रात्रि में डिस्पैच किया गया। इस परिवर्तक का सुचारू व बाधा रहित परिवहन सुनिश्चित करने हेतु 10 अगस्त की रात्रि को ही एक सहायक अभियन्ता स्तर के अधिकारी को सितारगंज पहुँचने हेतु निर्देशित किया गया। यह परिवर्तक शाहजहाँपुर, हरदोई के रास्ते कन्नौज में 12 अगस्त, 2022 को रात्रि 08 बजे पहुँचा था। कन्नौज के बाद आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के माध्यम से 13 अगस्त, 2022 को सांय 07 बजे लखनऊ पहुँचा, इसके पश्चात पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के माध्यम से गाजीपुर, चितबड़ागाँव के रास्ते चलकर दिनांक 15 अगस्त, 2022 को प्रातः 09 बजे 132/33केवी उपकेन्द्र बलिया पर पहुँच गया। सामान्यतः परिवर्तक प्रतिदिन लगभग 80 से 100 किमी की दूरी तय करते हैं परन्तु इस परिवर्तक के परिवहन को इस प्रकार प्रकार नियोजित किया गया कि सितारगंज से बलिया तक लगभग 900 किमी की दूरी 09 दिनों के स्थान पर साढ़े चार दिनों में तय की गयी।

Related Post

धर्मांतरण का खुलासा करने वाली पुलिस खुद भी बनी इसका शिकार, हेड कांस्टेबल ने भी किया धर्मपरिवर्तन

Posted by - June 25, 2021 0
धर्म परिवर्तन कराने वाले गिरोह का खुलासा करने वाली पुलिस खुद इसका शिकार बन चुकी है। गाजियाबाद में तैनात यूपी…