Akshaya Tritiya

Akshaya Tritiya पर विष्णु जी, पितरों का करें ध्यान, मिलेगा अनेक लाभ

181 0

लखनऊ: बैशाख शुक्लपक्ष (Baisakh Shukla Paksha) की तृतीया को अक्ति या आखा तीज मनाई जाती है और इसे अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) कहते हैं। मान्यता अनुसार इस दिन सोना (Gold), चांदी (Silver) या जो भी धातु खरीदी जाती है, वो कभी नष्ट नहीं होती। इसके अलावा जो दान पुण्य भी करते है, उसका भी कई गुना, अक्षय फल मिलता है। इस बार अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) मंगलवार 3 मई को मनाई जाएगी। इस दिन जल से भरे कलश पर फल रखकर दान करना बहुत ही शुभ माना जाता है। ज्योतिषियों की मानें तो इस दिन किया गया दान आपके अगले जन्म तक फल देता है। इस दिन मां लक्ष्मी को पाना है तो विष्णु जी की अराधना कर सकते हैं।

Akshaya Tritiya पर दो कलश का दान महत्वपूर्ण

इसके अलावा आज के दिन पितरों को याद करना भी बहुत महत्वपूर्ण है, इस दिन हो सके तो विष्णु भगवान और पितरों के नाम का कलश दान करना चाहिए। आखा तीज पर दो कलश का दान महत्वपूर्ण होता है। इसमें एक कलश पितरों का और दूसरा कलश भगवान विष्णु का माना गया है। पितरों वाले कलश को जल से भरकर काले तिल, चंदन और सफेद फूल डालें। वहीं भगवान विष्णु वाले कलश में जल भरकर सफेद जौ, पीला फूल, चंदन और पंचामृत डालकर उसपर फल रखना चाहिए। इससे पितृ और भगवान विष्णु की कृपा बनती है।

यह भी पढ़ें: इस दिन मनाई जाएगी Akshaya Tritiya, बन रहे 3 राजयोग, देखें शुभ मुहूर्त

शोभन नक्षत्र में मनाई जाएगी Akshaya Tritiya

अक्षय तृतीया इस बार मंगल रोहिणी नक्षत्र के शोभन नक्षत्र में मनाई जाएगी। शुभ योग में अक्षय तृतीया मनाने का यह संयोग 30 साल बाद बना है। इतना ही नहीं 50 साल के बाद ग्रहों की विशेष स्थिति बन रही है। अक्षय तृतीया पर चन्द्रमा अपनी उच्च राशि वृषभ और शुक्र अपनी उच्च राशि मीन में रहेंगे, वहीं शनि स्वराशि कुम्भ और बृहस्पति स्वराशि मीन में विराजमान रहेंगे। चार ग्रहों का अनुकूल स्थिति में होना अपने आप में बहुत खास है।

यह भी पढ़ें: 50 साल बाद अक्षय तृतीया पर बन रहा है अद्भुत संयोग, इस मुहूर्त में करें ये काम

Related Post

Shahi Snan

महाकुंभ के अंतिम शाही स्नान पर दिखा कोरोना का असर, बेहद कम संख्या में श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकी

Posted by - April 27, 2021 0
हरिद्वार।  कोरोना संकट के बीच आज हो रहे महाकुंभ ( Mahakumbh 2021) के अंतिम शाही स्नान पर महामारी का असर…
PM in Bangladesh

जेशोरेश्वरी काली मंदिर में पूजा के बाद बोले मोदी- कोरोना से उबरने को मां काली से प्रार्थना की

Posted by - March 27, 2021 0
ढाका । पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi) शुक्रवार को बांग्लादेश के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे। आज पीएम मोदी (PM…
Shri Krishna

कौन हैं श्रीकृष्ण ?

Posted by - August 29, 2021 0
रंजना मिश्रा हमारे ऋषि-मुनियों ने बताया है कि श्रीकृष्ण (Shri Krishna) स्वयं भगवान हैं, अर्थात वे किसी भगवान के अवतारी…