UP Police

धर्म-जाति नहीं, जुर्म की दुनिया के बेताज बादशाह यूपी पुलिस की रडार पर

77 0

लखनऊ। कानून-व्यवस्था को बनाये रखने के लिए प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) धर्म और जाति को लेकर कार्रवाई नहीं करती है। बल्कि निशाने पर वो लोग हैं, जो खुद को जुर्म की दुनिया का बेताज बदशाह समझता है। ऐसे अपराधी जिन्होंने पूर्व की सरकारों के संरक्षण में अपराध का पूरा नेटवर्क खड़ा कर लिया था। वसूली, हत्या, रेप, लूट और अवैध कब्जा जैसे जघन्य अपराध इनके लिए मामूली घटनाएं हुआ करती थीं। जिन्हें न पुलिस (Police) का डर था और न ही किसी एक्शन की परवाह। आज ऐसे सभी अपराधी प्रदेश सरकार की सख्त छवि और अपराधों के प्रति जीरो टॉलरेंस नीति से भयभीत हैं।

यूपी पुलिस (UP Police) के पास मोस्ट वांटेड की सूची मौजूद

अल्पसंख्यक हों या बहुसंख्यक, पिछड़ी जाति हो या अगड़ी, अपराधों के प्रति योगी सरकार (Yogi Government) सख्ती से निपट रही है। इसका सटीक उदाहरण यूपी पुलिस की मोस्ट वांटेड क्रिमिनल सूची है। जिसमें उन लोगों को शामिल किया गया है, जिन्होंने गंभीर अपराध किए हैं। यह सूची धर्म और जाति को आधार बनाकर तैयार नहीं की गई है।

उल्लेखनीय है कि अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की हत्या के बाद विपक्षी नेता योगी सरकार पर अल्पसंख्यक विरोधी होने का आरोप लगा रहे हैं। ऐसे नेताओं के लिए यूपी पुलिस की मोस्ट वांटेड की सूची सबसे बड़ा सबक है।

प्रदेश में सूचीबद्ध किए गए माफिया

मेरठ जोन: उधम सिंह, योगेश भदोड़ा, बदन सिंह उर्फ बद्दो, हाजी याकूब कुरैशी, शारिक, सुनील राठी, धर्मेंद्र, यशपाल तोमर, अमर पाल उर्फ कालू, अनुज बारखा, विक्रांत उर्फ विक्की, हाजी इकबाल उर्फ बाला, विनोद शर्मा, सुनील उर्फ मूंछ, संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा व विनय त्यागी उर्फ टिंकू, आगरा जोन के अनिल चौधरी व ऋषि कुमार शर्मा, बरेली जोन के एजाज, कानपुर जोन के अनुपम दुबे।

लखनऊ जोन: खान मुबारक, अजय प्रताप सिंह उर्फ अजय सिपाही, संजय सिंह सिंघाला, अतुल वर्मा, मु.सहीम उर्फ कासिम प्रयागराज जोन के डब्बू सिंह उर्फ प्रदीप सिंह, सुधाकर सिंह, गुड्डू सिंह, अनूप सिंह,

वाराणसी जोन: मुख्तार अंसारी, त्रिभुवन सिंह उर्फ पवन सिंह, विजय मिश्रा, ध्रुव सिंह उर्फ कुंटू सिंह, अखंड प्रताप सिंह, रमेश सिंह उर्फ काका।

गोरखपुर जोन: संजीव द्विवेदी उर्फ रामू द्विवेदी, राकेश यादव, सुधीर कुमार सिंह, विनोद कुमार उपाध्याय, राजन तिवारी, रिजवान जहीर, देवेन्द्र सिंह,

गौतमबुद्धनगर कमिनरेट: सुंदर भाटी, सिंहराज भाटी, अमित कसाना, अनिल भाटी, रणदीप भाटी, मनोज उर्फ आसे, अनिल दुजाना।

कानपुर कमिश्नरेट: सऊद अख्तर, कमिश्नरेट लखनऊ के लल्लू यादव, बच्चू यादव व जुगनू वालिया उर्फ हरिवंदर सिंह

प्रयागराज कमिश्नरेट: बच्चा पासी उर्फ निहाल पासी, दिलीप मिश्रा, जावेद उर्फ पप्पू, राजेश यादव, गणेश यादव, कमरुल हसन, जाविर हुसैन व मुजफ्फर

वाराणसी कमिश्नरेट : अभिषेक सिंह हनी उर्फ जहर, बृजेश कुमार सिंह व सुभाष सिंह ठाकुर

माफिया की गतिविधियों पर एसटीएफ की नजर

सूचीबद्ध माफिया की गतिविधियों पर एसटीएफ और जिला पुलिस कड़ी नजर रखती है। शासन स्तर से पहले अनुमोदित 25 सूचीबद्ध माफिया में माफिया मुख्तार अंसारी, बृजेश सिंह, त्रिभुवन सिंह उर्फ पवन सिंह, संजीव महेश्वरी उर्फ जीवा, ओमप्रकाश श्रीवास्तव उर्फ बबलू, सुशील उर्फ मूंछ, सीरियल किलर सलीम, रुस्तम व सोहराब समेत अन्य कुख्यातों के नाम शामिल थे।

मोस्ट वांटेड अपराधियों पर है इनाम

    नाम                     निवासी        इनाम

विवेक कुमार             बुलंदशहर     50,000

सलीम मुख्तार सेख    लखनऊ       50,000

संजीव नाला            मुज्जफरनगर   50,000

सुनील महकर सिंह   सहारनपुर        50,000

राम नरेश ठाकुर        आगरा           50,000

विश्वास नेपाली          वाराणसी        50,000

सुनील यादव            वाराणसी          50,000

अजीम अहमद          वाराणसी         50,000

मनीष सिंह              वाराणसी          50,000

शहाबुद्दीन                गाजीपुर         दो लाख

अताउर्रहमान बाबू उर्फ सिकंदर गाजीपुर दो लाख

बहर उर्फ बहारुद्दीन  कौशांबी              50,000

रुद्रेश उपाध्याय उर्फ पिंटू भदोही        50,000

आफताब आलम           प्रयागराज       50,000

शिवा बिंद उर्फ शिव शंकर बिंद गाजीपुर  50,000

हरीश                          मुजफ्फरनगर   दो लाख

सुमित                         मुरादाबाद          दो लाख

बदन सिंह बद्दो               मेरठ                ढाई लाख

मनीष सिंह सोनू             वाराणसी        दो लाख

राघवेंद्र यादव                 गोरखपुर        ढाई लाख

दीप्ति बहल                     गाजियाबाद      पांच लाख

भूदेव                            बुलंदशहर     पांच लाख

विजेंद्र सिंह हूड्डा             मेरठ          पांच लाख

राशिद नसीम                लखनऊ          पांच लाख

आदित्य राणा               बिजनौर           ढाई लाख

राम चरण उर्फ बौरा          बारांबकी         तीन लाख

दिनेश कुमार सिंह          रायबरेली           डेढ़ लाख

Related Post

Mahakumbh

अब खुद से है प्रतिस्पर्धा, महाकुंभ को भव्य-दिव्य बनाने में न हो कोई कसर: सीएम योगी

Posted by - November 24, 2022 0
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने कहा है कि प्रयागराज कुंभ 2019 के भव्य और दिव्य आयोजन ने उत्तर…