इस महिला के हौसले के आगे नही टिक पाई यह बीमारी

421 0

इंदौर। ये तो आप सभी जानते हैं कि जब हौसले के आगे किसी भी प्रकार की कठिनाई नही टिक पाती है। ऐसा ही कुछ दौर की रहने वाली जासमीन लूला के साथ हुआ है। जासमीन की इस सफलता के पीछे की कहानी भी बेहद दुखभरी है।जिसके बाद भी उन्होंने मुसीबतों से लड़कर अपना मुकाम पाया है। उन्होंने अपने हौंसले और लगन के चलते  मुकाम पा लिया हैं।

ये भी पढ़ें :-बर्थडे स्पेशल: इस एक्ट्रेस का ये बीमारी भी नहीं तोड़ पाई हौसला 

आपको बता दें छह साल पहले जासमीन ने दो लोगों के साथ केक बनानेकी फैक्टरी शुरू की थी। इसी दौरान उन्हें पता चला कि उन्हें ब्रेस्ट कैंसर है। यह सुनकर जासमीन को धक्का लगा। जासमीन ने सोचा कि अभी तो उन्होंने शुरुआत ही की है, उनके साथ कई परिवारों की रोजी-रोटी जुड़ी हुई है। अगर वो हार गईं, तो गलत होगा। लेकिन परिवार और दोस्तों ने जो हौसला दिया, उससे उन्हें लड़ने की शक्ति मिली। कैंसर का इलाज लेने के साथ-साथ उन्होंने फैक्टरी में काम करना भी जारी रखा।

ये भी पढ़ें :-1000 साल पहले मरी महिला का वैज्ञानिकों ने बनाया ‘असली चेहरा’ 

जानकारी के मुताबिक तीन साल के कठिन परिश्रम के चलते उनकी फैक्टरी ने कंपनी का रूप ले लिया। उनका केक अब ऑनलाइन बिकने लगा था और एक ब्रांड बन गया था। इसी बीच चिकित्सकों ने एक खुशखबरी दी कि वह कैंसर से बाहर आ चुकी है। उन्हें जब बीमारी का पता चला, तो वो टूट चुकी थीं, लेकिन फिर उन्होंने सोचा कि अगर वो टूट गईं, तो उनके बच्चों का परिवार का क्या होगा। उन्होंने अपनी बीमारी का पता बच्चों को नहीं चलने दिया।

Related Post

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ से हुआ 30.80 करोड़ का राजस्व

Posted by - July 20, 2021 0
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेडियो कार्यक्रम मन की बात ने 30.80 करोड़ रु का राजस्व अर्जित किया है, यह जानकारी…
सिमरन निशा

लखनऊ: महिला रंगकर्मी सिमरन निशा ने जानें कैसे तय किया थिएटर से स्क्रीन तक का सफर?

Posted by - December 1, 2019 0
लखनऊ। रंगमंच सिर्फ मनोरंजन नहीं, बल्कि प्रतिभा है। यह चेहरा नहीं किरदार देखता है। महिलाओं को इसे आत्मसात करके मंच…