Infosys

भारत की इस कंपनी ने रूस को दिया ऐसा झटका की बेरोजगार हुए लोग

54 0

बेंगलुरू: भारत की दूसरी सबसे बड़ी IT सेक्टर की दिग्गज कंपनी इंफोसिस (Infosys) ने रूस (Russia) में अपना कार्यालय बंद कर दिया है। सार्वजनिक सेवा प्रसारक ने शुक्रवार को इसकी सूचना दी। विकास यूके के चांसलर ऑफ द एक्सचेकर ऋषि सनक (Rishi Sunak) द्वारा निर्देशित आलोचना के बाद उनकी पत्नी अक्षता मूर्ति की बेंगलुरु (Bangalore) स्थित फर्म में उनके पिता एनआर नारायण मूर्ति द्वारा सह-स्थापना की गई थी।

विदेशी मीडिया ने बताया कि कंपनी मास्को में कार्यरत कर्मचारियों के लिए विदेश में प्रतिस्थापन भूमिकाएं खोजने की कोशिश कर रही थी।” ब्रिटिश मीडिया ने कंपनी के सह-संस्थापक एनआर नारायण मूर्ति के दामाद व ब्रिटेन के चांसलर ऋषि सनक पर व्लादिमीर पुतिन के शासन से मुनाफाखोरी का आरोप लगाया है। इंफोसिस अपने मास्को स्थित कर्मचारियों को दूसरे जगह काम तलाशने के लिए कहा है।

इसके साथ इंफोसिस रूस से बाहर निकलने वाली पहली भारतीय आईटी कंपनी बन जाएगी। इंफोसिस के प्रवक्ता ने इस मुद्दे पर कोई टिप्पणी नहीं की। सनक को पहली बार एक मीडिया साक्षात्कार में इंफोसिस के साथ अपने परिवार के संबंधों के बारे में चुनौती दी गई थी, जिसमें मूर्ति की 0.91% हिस्सेदारी है।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी से शेर बहादुर ने की मुलाकात, नेपाल में लॉन्च किया RuPay

इससे पहले इंफोसिस ने स्थानीय उद्यमों के साथ किसी भी सक्रिय व्यावसायिक संबंध होने से इनकार किया, और कहा कि कंपनी ने यूक्रेन में युद्ध के पीड़ितों के लिए राहत के लिए $ 1 मिलियन का वादा किया था।

यह भी पढ़ें: चैत्र नवरात्रि के पहले दिन पुष्कर सिंह धामी ने किए मां पूर्णागिरी के दर्शन

Related Post

पुलवामा पर पाकिस्तान का झूठ

पाकिस्तान ने फिर दिखायी बेशर्मी, भारत के सबूतों को ये कहते हुए कर दिया खारिज

Posted by - March 28, 2019 0
इस्लामाबाद। पुलवामा हमले को लेकर पाक ने एक बार फिर बेशर्मी की सारी हदें पार कर दी हैं। पाकिस्तान ने…
साध्वी प्रज्ञा ठाकुर

बीजेपी ने भीख मांगकर जीवन यापन करने वाले को बनाया लोकसभा प्रत्याशी

Posted by - April 24, 2019 0
नई दिल्ली। भोपाल लोकसभा सीट की चर्चित उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा स‍िंह ठाकुर, कांग्रेस के कद्दावर नेता द‍िग्विजय स‍िंह के मुकाबले…