holika dahan

होलिका दहन की पूजा न देखें ये लोग, जानें क्या है इसकी धार्मिक वजह

41 0

हिंदू धर्म में हर साल की तरह इस साल 2024 में भी फाल्गुन मास की पूर्णिमा पर होलिका की पूजा एवं दहन (Holika Dahan) किया जाएगा। पंचांग के अनुसार, इस साल होलिका दहन 24 मार्च दिन रविवार को किया जाएगा। हिंदू मान्यता के अनुसार जिस होलिका दहन (Holika Dahan) की पूजा, उसकी अग्नि और राख का संबंध तमाम तरह की मुसीबतों को दूर करने और सुख-सौभाग्य को पाने के लिए माध्यम माना गया है, उसी होलिका की पूजा और उसे देखने को लेकर भी कुछ खास बातें हैं। आइए जानते हैं कि होली से पहले की जाने वाली होलिका दहन की पूजा किन लोगों को भूलकर भी नहीं देखना चाहिए।

हिंदू मान्यता के अनुसार, जिन कन्याओं की नई शादी हुई हो, उनके लिए विवाह के बाद पहली होली पर होलिका दहन (Holika Dahan) की पूजा करना अशुभ माना जाता है। यहां तक कि होलिका को जलते हुए देखना भी अशुभ माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि होलिका दहन को देखने पर दोष लगता है और उसके सुख-सौभाग्य में कमी आने की आशंका बनी रहती है। किसी नवविवाहित महिलाओं के लिए होलिका दहन देखना अशुभ माना जाता है।

होलिका दहन पर भद्रा का साया, जानिए पूजा का मुहूर्त

इन बातों का रखें खास ध्यान

हिंदू धर्म में माना जाता है कि बहू को सास के साथ होलिका दहन (Holika Dahan) की पूजा नहीं करनी चाहिए। सास-बहू का एक साथ होलिका को देखना और एक साथ पूजा करने को बड़ा दोष माना गया है। इस नियम की अनदेखी करने वालों के यहां सास और बहू के रिश्ते में हमेशा झगड़ होते रहते हैं और उनका आपसी प्रेम कम हो जाता है।

महिलाएं ध्यान रखें ये बातें

सनातन परंपरा में गर्भवती महिलाओं के लिए पूजा-पाठ से जुड़े हुए कुछ खास नियम बताए गए हैं। जिनका पालन करने पर उसे स्वस्थ और सुंदर संतान की प्राप्ति होती है, जबकि उन नियमों की अनदेखी करने पर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। गर्भवती महिलाओं के लिए होलिका दहन (Holika Dahan) की पूजा करना या फिर उसे जलते हुए देखना अच्छा नहीं माना जाता है। इससे बच्चे पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है।

होलिका दहन (Holika Dahan) से नवजात बच्चे को रखें दूर

होली से पहले किए जाने वाले होलिका दहन (Holika Dahan) को देखना और पूजा करना भले शुभ माना जाता हो लेकिन नवजात शिशु के लिए यह बड़े दोष का कारण बनता है। मान्यता है कि जिस जगह पर होलिका दहन किया जाता है, वहां पर नकारात्मक शक्तियों का खतरा बना रहता है। ऐसे में नवजात शिशु को होलिका दहन (Holika Dahan) वाली जगह पर जाना वर्जित है। इससे लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

Related Post

pm modi

पीएम की वर्चुअल रैलियां : जीत का विश्वास या बीजेपी के कमजोर गढ़ों से बचाव

Posted by - April 23, 2021 0
कोलकाता । पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के बाकी बचे दो चरणों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महामारी के मद्देनजर…
most expensive films set in the world of Bollywood

बॉलीवुड की दुनिया में जानिए सबसे महंगी फिल्मों के सेट, जिसे बनाने में लगे करोड़ों रुपए

Posted by - August 18, 2020 0
बॉलीवुड की दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है, ये वो दुनिया है जहां हीरो और हीरोइन मिनटों में घर…
CM Yogi

पश्चिम बंगाल में योगी की हुंकार-दीदी, BJP का विरोध करते-करते भगवान राम का भी विरोध करने लगी हैं

Posted by - April 3, 2021 0
हावड़ा। पश्चिम बंगाल और असम में दो चरणों के मतदान के बाद अब अगले चरण के लिए चुनावी घमासान चरम…