दिल्ली में गिरफ्तार आतंकी अशरफ ने किए बड़े खुलासे, हाईकोर्ट ब्लास्ट के पहले की थी रेकी

98 0

नई दिल्ली। पाकिस्तान के आतंकी अशरफ ने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के सामने बड़े खुलासे किए है। सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस की स्पेशल द्वारा मंगलवार को गिरफ्तार किए गए पाकिस्तानी आतंकवादी मोहम्मद अशरफ ने दिल्ली में कई जगहों की रेकी की थी। आरोपी मोहम्मद अशरफ ने 2011 के दिल्ली हाई कोर्ट ब्लास्ट से पहले रेकी की थी। सूत्रों के मुताबिक पूछताछ के दौरान जब 2011 के दिल्ली उच्च न्यायालय विस्फोट में एक आरोपी की तस्वीर दिखाई गई तो उसने खुलासा किया कि उसने उच्च न्यायालय (दिल्ली हाईकोर्ट) की रेकी की थी। हालांकि, दिल्ली हाईकोर्ट विस्फोट में उसकी संलिप्तता स्पष्ट रूप से नहीं बताई जा सकती है। आगे की जांच के बाद इसको स्पष्ट किया जाएगा। अभी तक कोई सबूत नहीं हैं। अशरफ से एनआईए, रॉ और एमआई ने भी लंबी पूछताछ की।

इसके अलावा 2011 के आसपास अशरफ ने आईटीओ स्थित पुलिस हेडक्वाटर (पुराना पुलिस हेडक्वाटर) की भी रेकी की थी। आतंकी ने बताया कि कई बार रेकी की लेकिन ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई, क्योकि पुलिस हेडक्वाटर के बाहर लोगों को रुकने नहीं देते थे। इसी के साथ आईएसबीटी की रेकी करके भी अशरफ ने जानकारियां पाकिस्तान के हैंडलर्स को भेजी थी।

इंडिया गेट-लाल किले की भी रेकी की

मोहम्मद अशरफ ने पूछताछ में बताया कि उसने इंडिया गेट और लाल किले की भी रेकी की थी। पूछताछ में अशरफ ने करीब ऐसी 10 जगहों की रेकी करने की बात कबूल की है। पूछताछ में अशरफ ने ये भी बताया है कि वो नई दिल्ली के वीआईपी इलाके को टारगेट नहीं करना चाहता था। क्योंकि वहां कैसुअलटी कम होती। ये सभी रेकी कुछ साल पहले की गई थी। हालांकि, आतंकी अशरफ ने अभी तक उन जगहों का खुलासा नहीं किया है जहां वो आतंकी आपरेशन को अंजाम देना चाहता था।

दिल्‍ली के लक्ष्‍मीनगर से मंगलवार को गिरफ्तार पाक आतंकी देश की राजधानी समेत कश्‍मीर घाटी में भी कई बड़े आतंकी हमले करने की फिराक में था। लेकिन इससे पहले दिल्‍ली की स्‍पेशल सेल ने पाक खुफिया की साजिश को नाकाम कर दिया।

दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, आतंकी ने पूछताछ में खुलासा किया कि उसने पहले बांग्लादेश जाकर और फिर पश्चिम बंगाल में कोलकाता की यात्रा करके भारत में प्रवेश किया। उन्होंने अजमेर शरीफ का दौरा किया, जहां उन्होंने बिहार के लोगों से मुलाकात की, जिनके साथ वे उनके गांव गए और वहां शरण ली। सूत्रों ने कहा, बिहार में उसने एक सरपंच का विश्वास हासिल किया और उससे अपना पहचान आईडी प्राप्त की।  ये आतंकी पिछले 15 साल से दिल्ली में रह रहा था, और इसने हिंदुस्तानी लडक़ी से शादी भी कर ली थी।

‘लोन वुल्फ अटैक’ की साजिश रच रहा था आतंकी

आतंकी फिलहाल अपनी पत्नी से अलग रह रहा था। पुलिस के अनुसार आतंकी अशरफ दिल्ली के स्लीपर सेल का मुखिया था और हिंदुस्तान आने वाले आतंकियों को हथियार और लॉजिस्टिक प्रोवाइड करवाता था। पुलिस का कहना है कि, दिल्ली में इसके नेटवर्क में और भी लोग हैं। आतंकी ने हथियार कालिंदी कुंज के पास यमुना किनारे बालू के नीचे दबा कर रखे थे।

दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल के मुताबिक, आतंकी अशरफ देश की राजधानी में ‘लोन वुल्फ अटैक’ की साजिश रच रहा था। दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल का कहना है कि जल्द ही कई और गिरफ्तारियां हो सकती हैं।

Related Post

कश्मीर मंथन से क्या निकलेगा हल, मोदी की बड़ी बैठक से कश्मीरी नेताओं को क्या हैं उम्मीदें?

Posted by - June 24, 2021 0
जम्मू-कश्मीर के राजनीतिक दलों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सर्वदलीय बैठक में गुपकार गठबंधन के नेताओं की भूमिका काफी…
मुलायम सिंह यादव पीजीआई में भर्ती

लखनऊ: सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव पीजीआई के इमरजेंसी में भर्ती

Posted by - November 13, 2019 0
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के लखनऊ के संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट (एसजीपीजीआई) में भर्ती हो…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *