पश्चिमी यूपी में गन्ना घोल रहा किसानों के बीच मिठास

53 0

मेरठ/लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में गन्ना (sugarcane) किसानों के भुगतान को लेकर पिछली कई सरकारों से चली आ रही परिपाटी को बदल दिया है। पहले की अपेक्षा अब गन्ना किसानों को समय पर भुगतान हो रहा है। साथ ही साल दर साल चलने वाली पेंडेंसी पर भी विराम लगा है।

पश्चिमी यूपी में सपा सरकार से दुगुने से ज्यादा योगी सरकार ने गन्ना मूल्य का भुगतान किया है। पिछले पौने पांच साल में चीनी मिलें भी अपडेट हुईं हैं। अब वही गन्ना पश्चिमी यूपी में मिठास घोल रहा है।

देश में गन्ना और चीनी उत्पादन में प्रदेश न सिर्फ पहले पायदान पर है, बल्कि सीएम योगी ने गन्ना किसानों को पिछली सरकारों की तुलना में ज्यादा भुगतान भी किया है। अब तक सरकार की ओर से प्रदेश में गन्ना किसानों को करीब डेढ़ लाख करोड़ से ज्यादा का भुगतान किया है।

पश्चिमी यूपी के सहानपुर, मेरठ, मुरादाबाद और बरेली मंडल में पिछली सरकार ने वर्ष 2012-17 के बीच करीब 39,738 करोड़ रुपए का भुगतान किया था। जबकि योगी सरकार ने 2017 से 29 दिसंबर 2021 तक 95,650 करोड़ रुपए का भुगतान किया है। यानि योगी सरकार ने गन्ना किसानों को पिछली सरकार से करीब ढाई गुना भुगतान किया है। समय से किसानों को पेमेंट मिलने के कारण काफी हद तक किसानों की समस्याएं भी दूर हुई हैं।

फर्क साफ है: पश्चिमी यूपी में गन्ना भुगतान के आंकडे दे रहे गवाही

पश्चिमी यूपी में गन्ना भुगतान की तुलना पिछली सरकार से करने पर फर्क साफ हो जाता है कि योगी सरकार ने भुगतान में कोई कोताही नहीं बरती है। योगी सरकार ने पश्चिमी यूपी में 2017 से 2021 दिसंबर तक सबसे ज्यादा मुरादाबाद मंडल में 30,645.67 करोड़ रुपए का भुगतान किया है। जबकि सपा सरकार में 18,521.03 करोड़ का ही भुगतान हुआ था।

जेसीबी से दीवार तोड़कर नोटों की गड्डी निकालने पर सबसे ज्यादा बुरा सपा के बबुआ को लगा : योगी

इसी तरह सहारनपुर मंडल में 25,564.02 करोड़ रुपए का भुगतान किया है। जबकि सपा सरकार में 14,628.09 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया था। योगी सरकार ने तीसरे नंबर पर मेरठ मंडल में 22,455.73 करोड़ रुपए का भुगतान किया है। जबकि सपा सरकार ने 13,324.50 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया था।

गन्ना मूल्य भुगतान में प्रदेश में पिछले सारे रिकार्ड टूटे

योगी सरकार ने पूरे प्रदेश में पेराई सत्र 2021-22 में 4,907.98 करोड़, 2020-21 में 30,547.23 करोड़, पेराई सत्र 2019-20 में 35,898.85 करोड़, 2018-19 में 33,048.06 करोड़ और 2017-18 के 35,444.06 करोड़ रुपए का भुगतान किया है। साथ ही पिछले पेराई सत्रों का 10,661.38 करोड़ सहित अब तक कुल 1,50,508 करोड़ का गन्ना मूल्य भुगतान कराया है, जो वर्ष 2012 से 2017 के बीच गन्ना मूल्य भुगतान के मुकाबले 55,293 करोड़ और वर्ष 2007 से 2012 के बीच गन्ना मूल्य भुगतान के मुकाबले 98,377 करोड़ अधिक है।

 

पश्चिमी यूपी का मंडलवार भुगतान

मंडल        2012-17           2017 से 29 दिसंबर 2021 तक

सहारनपुर           14,628.09         25,564.02

मेरठ         13,324.50         22,455.73

मुरादाबाद           18,521.03          30,645.67

बरेली        9,934.80          16,985.24

कुल         39738.42          95650.66

(नोट- धनराशि करोड़ में है)

Related Post

Congress

प्रशासन का इस्तेमाल कर रहे हैं भाजपा सांसद, बहू झेल रही प्रताड़ना : कांग्रेस

Posted by - March 15, 2021 0
लखनऊ। लखनऊ के मोहनलालगंज से भारतीय जनता पार्टी के सांसद कौशल किशोर (MP Kaushal Kishore) की बहू अंकिता ने आत्महत्या…
Jagadguru Paramhansacharya

जगद्गुरु परमहंसाचार्य गिरफ्तार, पुलिस अज्ञात जगह पर लेकर गई

Posted by - May 3, 2022 0
ताजमहल में जलाभिषेक की जिद पर अड़े अयोध्या के छावनी तपस्वी अखाड़े के जगद्गुरु परमहंसाचार्य (Jagadguru Paramhansacharya)को पुलिस ने हिरासत…
Randeep Singh Surjewala

हर खाने पीने की चीज़ गरीब की थाली से दूर होती जा रही है : रणदीप सिंह सुरजेवाला

Posted by - January 31, 2022 0
लखनऊ। आमजन से जुड़े देशव्यापी महंगाई के मुद्दे पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के मीडिया एवं कम्युनिकेशन विभाग के चेयरमैन…
बीजेपी सांसद ने किया सरेंडर

गैर जमानती वारंट जारी होने के बाद बीजेपी सांसद का कोर्ट में सरेंडर

Posted by - November 13, 2019 0
नई दिल्ली। एससी आयोग के चेयरमैन व इटावा के बीजेपी सांसद रामशंकर कठेरिया के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए…