सूर्यग्रहण

सूर्य ग्रहण : आज रात 10 बजे बंद हो जाएंगे चारों धामों के कपाट, ग्रहण के बाद फिर खुलेंगे

204 0

नई दिल्ली। इस साल 21 जून को सूर्य ग्रहण लग रहा है। भारत में सूर्य ग्रहण का धार्मिक और ज्योतिष के नजरिये से बहुत महत्व है और इसको लेकर कई तरह की मान्यताएं हैं। सूर्य ग्रहण से करीब 12 घंटे पहले सूतक लगता है। मान्‍यताओं के अनुसार इस दौरान यानी सूतक लगते ही नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव बढ़ता है। ऐसे में इस दौरान धार्मिक कार्यों को वर्जित माना जाता है और सूतक की शुरुआत के साथ ही मंदिरों के कपाट भी बंद कर दिए जाते हैं।

उत्तराखंड के चारों धामों बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट आज रात सूतक काल की शुरुआत के साथ ही बंद कर दिए जाएंगे

न्‍यूज एजेंसी ‘एएनआई’ के हवाले से कहा गया है कि सूर्य ग्रहण की वजह से उत्तराखंड के चारों धामों बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट आज रात सूतक काल की शुरुआत के साथ ही बंद कर दिए जाएंगे। सूर्य ग्रहण के बाद मंदिर के परिसरों की साफ-सफाई के बाद इनके द्वार खोले कर पूजा-अर्चना की जा सकेगी।

बद्रीनाथ धाम के धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल ने बताया कि सूतक सूर्य ग्रहण के 12 घंटे पहले ही शुरू हो जाएगा

बद्रीनाथ धाम के धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल ने बताया कि सूतक सूर्य ग्रहण के 12 घंटे पहले ही शुरू हो जाएगा। इसलिए चारों धामों के कपाट आज रात 10 बजे से बंद कर दिए जाएंगे। इसके बाद रविवार दोपहर 2 बजे के बाद इनके परिसरों की साफ-सफाई के बाद ही पूजा होगी। इनके द्वार फिर से खोले जाएंगे। सूर्य ग्रहण के दौरान सूर्य चंद्रमा की छाया से पूरी तरह ढंक जाएगा और केवल बाहरी किनारे का गोलाकार भाग दिखाई देगा। इसलिए इस खगोलीय घटना को रिंग ऑफ फायर भी कहा जा रहा है।

Loading...
loading...

Related Post

एनडीएफबी

एनडीएफबी के तीनों गुटों ने मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के हाथों में सौंपे हथियार

Posted by - January 30, 2020 0
गुवाहाटी। बीते 27 जनवरी को तृतीय बोडोलैंड शांति समझौता पर हस्ताक्षर हुआ था। इसके बाद गुरुवार को बोडोलैंड के कुख्यात…