सरकार बहुत मीठी है, लेकिन चाल जरूर चलेगी- केंद्र सरकार पर टिकैत का तंज

73 0

बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने समाचार चैनल आज तक से बात करते हुए सरकार पर हमला बोलते हुए केंद्र सरकार की तुलना शेर से की।इंटरव्यू में टिकैत से सवाल किया गया कि पहले आप लोगों को बवाली कहा जाता था कि आप लोग बवाल करते हैं अब मवाली कहा जा रहा है। इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा- ये दिल्ली के लोग हैं, चमचमाती कोठियों में रहने वाले लोग हैं। ये जमीन पर नहीं रहते तो उन्हें तो ऐसे ही दिखते हैं।

जब राकेश टिकैत से सवाल किया गया कि क्या सरकार थोड़ी नर्म पड़ रही है, क्योंकि सुबह बयान आया और शाम तक माफी मांग ली गई? इसके जवाब में किसान नेता ने कहा- अगर शेर बैठ गया है तो हिरण को यह नहीं सोचना चाहिए कि वह डर गया। वह दांव जरूर मारेगा। सरकार की चाशनी बहुत मीठी है, लेकिन कोई न कोई चाल जरूर चलेगी।

इंटरव्यू में राकेश टिकैत से सवाल किया गया कि पहले आप लोगों को बवाली कहा जाता था कि आप लोग बवाल करते हैं। अब आपको मवाली कहा जा रहा है। इसका जवाब देते हुए राकेश टिकैत ने कहा, “ये दिल्ली के लोग हैं, चमचमाती कोठियों में रहने वाले लोग हैं। ये जमीन पर नहीं रहते तो उन्हें तो ऐसे ही दिखते हैं।”

राकेश टिकैत ने मीनाक्षी लेखी द्वारा ‘मवाली’ कहे जाने पर रिएक्शन देते हुए आगे कहा, “हमारे घर तो बांस के बने हुए हैं, तो उनके लिए तो हम मवाली ही होंगे। हमने यह पहले ही कहा था कि इन्होंने किसी के कहने से बयान दिया है। ये अपने दिमाग से काम नहीं करते, इनका दिमाग है’क किया हुआ है।”वहीं जब राकेश टिकैत से सवाल किया गया कि क्या सरकार थोड़ी नर्म पड़ रही है, क्योंकि सुबह बयान आया और शाम तक माफी मांग ली गई? इसके जवाब में किसान नेता ने कहा, “सरकार की चाशनी बहुत मीठी है, लेकिन कोई न कोई चाल जरूर चलेगी।”

BJP सांसद और पूर्व PM ने इकॉनमी को लेकर जताई चिंता, कहा- 5 ट्रिलियन इकॉनमी असंभव

राकेश टिकैत ने बयान में केंद्र सरकार की तुलना शेर से की और कहा, “अगर शेर बैठ गया है तो हिरण को यह नहीं सोचना चाहिए कि वह डर गया। बल्कि वह दांव लगा रहा है, क्योंकि अगर बैठ गया तो बच के रहना वह दांव जरूर मारेगा। दिल्ली का शेर अभी चुप है, कोई न कोई हरकत जरूर करेगा।”

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार को फटकारा, कहा- आजादी के इतने वर्ष बाद भी राजद्रोह कानून क्यों?

Posted by - July 15, 2021 0
देशद्रोह विरोधी कानून की संवैधानिक वैधता को लेकर गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई जहां जजों ने केंद्र सरकार…

BJP को सत्ता से बेदखल करना लक्ष्य,चंद्रशेखर आजाद बोले- सपा और बसपा दोनों से चल रही गठबंधन की बात

Posted by - June 22, 2021 0
उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष विधानसभा चुनाव होने हैं जिसकी तैयारी के लिए सभी राजनीतिक दलों ने अपनी कमर कस…

‘केस वापस ले लो वरना शहर में पैर नहीं रखने देंगे’- आंदोलनकारी किसानों पर FIR पर केंद्रीय मंत्री को टिकैत की चेतावनी

Posted by - August 18, 2021 0
उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में भारतीय किसान यूनियन के नेताओं पर दर्ज मुकदमे पर बवाल शुरू हो गया है। किसान यूनियन…