Release of two volumes of CM Yogi's speech collection

सीएम योगी के हर चिंतन में झलकता है गहन अध्ययन व डिवाइन कनेक्ट

110 0

गोरखपुर। मुख्यमंत्री एवं गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) के भाषणों पर दो खंडों में संग्रहित ग्रंथ ‘लोक आराधना की अभिव्यक्ति’ का विमोचन बुधवार को गोरखपुर में किया गया। दिग्विजयनाथ पीजी कॉलेज के गुरु गोरखनाथ साहित्यिक केंद्र में आयोजित समारोह में भाषण संग्रह का विमोचन विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के पूर्व चेयरमैन प्रो. डीपी सिंह व भारत सरकार के पूर्व औषधि महानियंत्रक डॉ. जीएन सिंह ने दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. राजेश सिंह की विशिष्ट उपस्थिति में किया।

इस अवसर पर यूजीसी के पूर्व चेयरमैन प्रो. डीपी सिंह ने कहा कि हम सभी अपने आराध्य की आराधना करते हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) लोक अर्थात जनता की आराधना भी जनार्दन यानी परमात्मा की भांति करते हैं। लोक की यह आराधना उनके क्षण-प्रतिक्षण के चिंतन, कार्यशैली और हर अभिव्यक्ति में झलकती है। उनके लोक आराधना का ही प्रतिफल है कि आज उत्तर प्रदेश लोक कल्याण और विकास के मार्ग पर तेजी से आगे बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है। प्रो. सिंह ने कहा कि सीएम योगी की हर विषय में स्पष्ट सोच है। उनके चिंतन में गुरुदेव ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ जी महाराज की प्रेरणा से गहन अध्ययन का पुट और जनहित के लिए डिवाइन कनेक्ट (अलौकिक जुड़ाव) परिलक्षित होता है। वह हर व्यक्ति के लौकिक-पारलौकिक परमार्थ की चिंता और तदनुरूप कार्य करते हैं।

CM Yogi

प्रो. सिंह ने ‘लोक आराधना की अभिव्यक्ति’ ग्रंथ को सभी के लिए प्रेरणादायी बताते हुए कहा कि हर व्यक्ति को इसका अध्ययन अवश्य करना चाहिए। इससे शीर्ष पद पर बैठे व्यक्ति की सफलता के पीछे उसके संघर्ष, परिश्रम और साधना का भी भान होगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की हर अभिव्यक्ति में गरीब, शोषित, वंचित, किसान, मजदूर समेत समाज के प्रत्येक वर्ग की चिंता समाहित रहती है। श्रमिकों के पाल्यों व कोरोना से निराश्रित हुए बच्चों की शिक्षा के लिए अटल आवासीय विद्यालय का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसी अद्भुत परिकल्पना कोई दिव्य पुरुष ही कर सकता है। इस विद्यालय के लिए हर व्यवस्था का निर्धारण सीएम योगी ने स्वयं किया है। उनका स्पष्ट मानना है कि नींव मजबूत होनी चाहिए। इसलिए वह बच्चों की सर्वाधिक चिंता करते हैं। कानून व्यवस्था की सुदृढ़ता हो, प्रदेश को वन ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनाने की बात हो या फिर लाखों करोड़ रुपये का निवेश लाने का सफल प्रयास, मुख्यमंत्री का हर कदम लोक कल्याण का ही माध्यम होता है। उन्होंने कहा कि लोक आराधना को ही समर्पित होने से नए भारत, विकसित भारत के निर्माण में सीएम योगी का महत्वपूर्ण योगदान होगा।

लोक का मंगल ही सीएम योगी (CM Yogi) के जीवन का ध्येय : डॉ. जीएन सिंह

विमोचन समारोह में भारत सरकार के पूर्व औषधि महानियंत्रक डॉ. जीएन सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की हर अभिव्यक्ति इस बात को प्रमाणित करती है कि लोक का मंगल ही उनके जीवन का ध्येय है। उनके चिंतन में दिव्यता है, लोक कल्याण की समग्रता व परिपूर्णता है। सीएम योगी की अभिव्यक्तियां समूचे समाज के लिए प्रेरक व मार्गदर्शक हैं। उनके लिए नर भी नारायण जितना महत्वपूर्ण है इसलिए मनसा, वाचा, कर्मणा उनकी हर अभिव्यक्ति जनता पर केंद्रित और समर्पित है। कैसे हर वंचित को अधिकार व जन कल्याणकारी योजनाओं का मिले, कैसे हर बच्चे को उत्कृष्ट शिक्षा मिले, कैसे हर व्यक्ति सुरक्षित रहे, कैसे हर व्यक्ति आत्मनिर्भर बने, कैसे विकास के हर क्षेत्र में उत्तर प्रदेश देश-दुनिया का सिरमौर बने, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हर चिंतन इन्हीं बिंदुओं पर केंद्रित रहता है।

शहरी उपभोक्ताओं को 24 घंटे विद्युत आपूर्ति की जाए: एके शर्मा

प्रो जीएन सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) का नेतृत्व मिलना उत्तर प्रदेश की जनता का सौभाग्य है। हम सबको भी उनकी अभिव्यक्तियों में निहित मूलमंत्र पर चलने का प्रयास करना चाहिए। यदि सभी लोग मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विचारों का अनुसरण करने के स्व दायित्व से जुड़ जाएं तो उत्तर प्रदेश को सर्वोत्कृष्ट प्रदेश बनने में देर नहीं लगेगी। उन्होंने सीएम योगी द्वारा समय-समय पर दिए गए उद्बोधनों को संग्रहित कर दो खंडों में ‘लोक आराधना की अभिव्यक्ति’ ग्रंथ का रूप देने के लिए सूचना एवं जनसंपर्क विभाग को साधुवाद दिया।

मुख्यमंत्री (CM Yogi) की हर अभिव्यक्ति ऊर्जादायी : प्रो. राजेश सिंह

विमोचन समारोह में विशेष रूप से उपस्थित दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. राजेश सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की हर अभिव्यक्ति कुछ नया करने की ऊर्जा प्रदान करती है। खास तौर पर नेतृत्व के किसी भी स्तर पर बैठे लोगों के लिए तो यह मार्गदर्शक की भांति है। अपने-अपने कार्यक्षेत्र में हम कैसे एक-एक व्यक्ति के कल्याण हेतु कार्य कर सकते हैं, इसका सारगर्भित मंतव्य सीएम के विजन में मिलता है। उन्होंने कहा कि नेतृत्व उससे जुड़े लोक के लिए होता है। सीएम योगी प्रदेश के 25 करोड़ जनता का नेतृत्व कर रहे हैं और उनका हर कदम इसी जनता की भलाई के लिए उठता है। कुलपति प्रो. सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री जनता की सेवा ईश्वरीय आराधना मानकर ही कर रहे हैं।

इस अवसर पर महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. प्रदीप कुमार राव, महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के प्रमथ नाथ मिश्र, डॉ. शैलेंद्र प्रताप सिंह, राम जन्म सिंह, प्रो. राजेंद्र भारती, दिग्विजयनाथ पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ. ओपी सिंह, महाराणा प्रताप पीजी कॉलेज जंगल धूसढ़ की शिप्रा सिंह, गुरु गोरखनाथ संस्कृत विद्यापीठस्नातकोत्तर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ अरविंद चतुर्वेदी, दिग्विजयनाथ एलटी प्रशिक्षण महाविद्यालय के डॉ. अजय कुमार पांडेय, एमपी महिला पीजी कॉलेज रमदत्तपुर की प्राचार्या डॉ सीमा श्रीवास्तव, गोरक्षपीठाधीश्वर महंत अवेद्यनाथ महाविद्यालय चौक बाजार के प्राचार्य बसंत नारायण सिंह, महाराणा प्रताप पॉलिटेक्निक के प्रधानाचार्य पाटेश्वरी सिंह, महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ अरुण कुमार सिंह, महाराणा प्रताप बालिका इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य कृष्णा चटर्जी, महाराणा प्रताप सीनियर सेकेंडरी स्कूल के प्रधानाचार्य पंकज कुमार, गुरु गोरक्षनाथ विद्यापीठ भरोहिया के प्रधानाचार्य मनीष दूबे, दिग्विजयनाथ इंटर कॉलेज चौक माफी के प्रधानाचार्य केशव त्रिपाठी, दिग्विजयनाथ इंटर कॉलेज चौक बाजार के प्रधानाचार्य डॉ हरेंद्र यादव, दिग्विजयनाथ बालिका इंटर कॉलेज चौक बाजार की प्रधानाचार्या सपना सिंह, आदिशक्ति मां पाटेश्वरी पब्लिक स्कूल तुलसीपुर के प्रधानाचार्य डॉ डीपी सिंह, महाराणा प्रताप कृषक इंटर कॉलेज जंगल धूसढ़ के प्रधानाचार्य संदीप कुमार, महाराणा प्रताप कन्या इंटर कॉलेज रमदत्तपुर की प्रधानाचार्या हर्षिता सिंह,दुलहिन जगन्नाथ कुंवरि इंटर कॉलेज ठेकुआटार के प्रधानाचार्य मनीष पांडेय, महाराणा प्रताप मीराबाई महिला छात्रावास की अधीक्षिका शीलम वाजपेयी, दिग्विजयनाथ महिला छात्रावास की अधीक्षिका डॉ सुनीता श्रीवास्तव, योगिराज बाबा गंभीरनाथ सेवाश्रम के प्रमुख विनय कुमार सिंह, डॉ विवेक कुमार शाही, अभिषेक वर्मा, डॉ प्रांगेश कुमार मिश्र, डॉ अभिलाषा सिंह, डॉ राजकुमार, डॉ मनीषा त्रिपाठी, बैजनाथ वर्मा, डॉ संजय सिंह, सुमित गुप्ता, सूर्यमनी, सुधीर कुमार सिंह, रश्मि, संगीता रामबचन कोरी, अश्वनी कुमार मिश्र, राकेश कुमार तिवारी, सरिता मिश्रा, सुजीत कुमार शुक्ला, विनय शुक्ला आदि मौजूद रहे।

Related Post

केजरीवाल का नामांकन

केजरीवाल को नामांकन लिए करना पड़ा छह घंटे इंतजार, आप ने बताया बीजेपी की साजिश

Posted by - January 21, 2020 0
नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में छह घंटे के लंबे इंतजार के बाद आखिरकार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने…

यूपी चुनाव : राजभर का भाजपा से किनारा, कहा- सपा-बसपा-कांग्रेस गठबंधन की पहली पसंद

Posted by - August 7, 2021 0
यूपी में विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी गर्मी बढ़ी हुई है, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रमुख ओमप्रकाश राजभर अपने…