कौन बनेगा करोड़पति की प्रतिभागी राकेश शर्मा

कौन बनेगा करोड़पति की प्रतिभागी राकेश शर्मा रूढ़िवादिता को तोड़ बनी मिशाल, जीते 25 लाख

411 0

 

नई दिल्ली। ‘कौन बनेगा करोड़पति सीजन 11’ में कई प्रतिभागी के सपनों को हकीकत में बदल रहा है। गुरुवार को टेलीकास्ट एपिसोड में राकेश शर्मा नाम की प्रतिभागी 25 लाख रुपये जीतकर चर्चा में आई हैं ।

राकेश शर्मा ने महिला समाज की रूढ़िवादिता को तोड़ते हुए एक नया मापदंड स्थापित करने का काम किया

राकेश शर्मा ने न केवल शो में बेहतरीन तरीके से खेला है । बल्कि सवाल-जवाब के सिलसिले के बीच शो के होस्ट अमिताभ बच्चन ने राकेश शर्मा से उनकी जिंदगी के बारे में जानना चाहा। तो उन्होंने अपनी जिन्दगी के बारे में कई खुलासे कर महिला समाज की रूढ़िवादिता को तोड़ते हुए एक नया मापदंड स्थापित करने का काम किया है।

स्किन शाइनी बनाने में टमाटर बेहद फायदेमंद, जानें इस्तेमाल करने का तरीका

इस वजह से लिया शादी ना करने का किया फैसला

इस दौरान राकेश शर्मा ने बताया कि वह पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के साथ काम कर चुकीं हैं । राकेश ने बताया कि उनकी पढ़ाई दिल्ली विश्वविद्यालय में हुई है। इसके साथ ही वह अपने समय में राज्य स्तर की हॉकी खिलाड़ी रह चुकी हैं। उन्होंने बताया कि उस समय खेल में करियर की संभावना कम होती थी । 1976 में पिता के देहांत के बाद उन्होंने नौकरी शुरू की। राकेश शर्मा ने शादी नहीं की ।

पिता की मौत के बाद महज छह वर्षों के भीतर आठ करीबी रिश्तेदार की मौत हुई

इस बारे में बताते हुए राकेश ने कहा कि पिता की मौत के बाद हादसों का एक सिलसिला शुरू हो गया । महज छह वर्षों के भीतर आठ करीबी रिश्तेदार की मौत हुई । एक के बाद एक मौत की घटनाओं ने उन्हें अंदर से झकझोर दिया। इसी दौरान राकेश शर्मा की एक सहेली की शादी हुई, लेकिन यह शादी बहुत सफल नहीं रही। इन तमाम बातों ने उन्हें शादी से दूर रहने को बाध्य कर दिया।

पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की किताब ट्री आफ लाइफ का कर चुकी हैं अनुवाद

अमिताभ बच्चन को बताया कि वे राष्ट्रपति कार्यालय में अक्सर दो बजे रात तक कार्य करती थीं। कई बार रात साढ़े दस बजे घर आने के बाद भी उन्हें बुला लिया जाता था । इन पांच वर्षों के दौरान उन्होंने एक भी छुट्टी नहीं ली। बता दें कि पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम ने उन्हें अपनी किताब ट्री आफ लाइफ का अनुवाद करने को कहा था। इस किताब में 49 कविताएं थीं। इन कविताओं का अनुवाद करने में राकेश को एक साल लगे । राकेश शर्मा को केबीसी की सबसे पढ़ी-लिखी कंटेस्टेंट माना जा रहा है।

Loading...
loading...

Related Post

कोनेरू हम्पी

कोनेरू हम्पी ने दुनिया की नंबर 1 होउ यिफान को हराया, महिला स्पीड शतरंज के फाइनल में पहुंची

Posted by - July 18, 2020 0
नई दिल्ली। भारत की शीर्ष खिलाड़ी कोनेरू हम्पी ने दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी चीन की होउ यिफान को 6.5…