Ram Navami

Ram Navami 2024 : सरयू नदी में सुरक्षा के लिए किए जाएंगे पुख्ता बंदोबस्त

28 0

अयोध्या। श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद उनके जन्मभूमि मंदिर में अब राम नवमी (Ram Navami) को लेकर तैयारियां तेज हो गई हैं। जमीन से लेकर नभ और जल में भी सुरक्षा और सुविधाओं का विशेष ख्याल रखा जा रहा है। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) के निर्देश पर खुद मुख्य सचिव और डीजीपी अयोध्या में आगामी 17 अप्रैल को होने वाले आयोजन की तैयारियों की मॉनीटरिंग कर रहे हैं। वहीं बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के अयोध्या आने और पवित्र सरयू नदी में स्नान किये जाने को ध्यान में रखते हुए सरकार तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटी हुई है। स्नान के दौरान सरयू नदी मे डूबने विभिन्न घटनाओं को देखते हुए प्रशासन ने राम नवमी के मौके पर व्यापक प्रबन्ध किए हैं। इसके लिए सरयू नदी में अब और छह फाइबर मोटर बोट्स चलाने का निर्णय लिया गया है।

प्राण प्रतिष्ठा होने के बाद यह पहली राम नवमी (Ram Navami) है

चैत्र शुक्ल नवमी (Ram Navami) पर मोक्ष की कामना को लेकर अयोध्या में दर्शन पूजन व सरयू स्नान के लिए देश के कोने कोने से लाखों श्रद्धालु आने वाले हैं। इस बार श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा होने के बाद यह पहली राम नवमी है। ऐसे मे अयोध्या मे अपार भीड़ जुटने की संभावना है। साथ ही सरयू में भी बड़ी संख्या में लोग स्नान करके पुण्य के भागीदार बनेंगे।

पूरे देश में गूंज रही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यों की गारंटी : सीएम योगी

वहीं इस दौरान होने वाली किसी भी अप्रिय घटना को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा के मुकम्मल बंदोबस्त किये गये हैं। इसके लिए नदी में फाइबर मोटर बोट्स की संख्या बढ़ाई गई है। पहले 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा के दौरान नदी में चार मोटर बोट को तैनात किया गया था, इनकी संख्या में वृद्धि करते हुए अब छह नई फाइबर मोटर बोट को मंगा लिया गया है। जल पुलिस प्रभारी रूबे प्रताप मौर्या ने बताया कि भीड़ जैसे-जैसे बढ़ेगी वैसे वैसे बोट्स की संख्या भी बढ़ाई जाएगी।

नदी मे सुरक्षा के किए जा रहे व्यापक इंतजाम

जल पुलिस प्रभारी ने बताया कि फाइबर की बोट मे 40 हॉर्स पावर का मोटर लगाया गया है। इसे स्टीयरिंग के सहारे घुमाया जा सकता है। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। लोगों को यह सुझाव भी दिया जाता है कि नदी मे स्नान के दौरान सतर्क रहें, साथ ही हिदायतों का पालन करें।

प्रशासन ने नदी में बैरिकेडिंग भी करवाई है, जिसे कोई भी पार नहीं कर सकेगा। मोटर बोट चलाने वाले कांस्टेबल नित्यानंद ने भी बताया कि इसकी स्पीड काफी अच्छी है, जिससे हमें किसी भी अप्रिय घटना के घटित होने पर तत्काल रिस्पॉन्स देने में मदद मिलती है। यह बोट 6 सीटर है।

Related Post