PM Modi

पीएम मोदी ने आज की मन की बात, आपातकाल को किया याद

72 0

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi) आज रविवार को अपने मन की बात (Mann Ki Baat) कार्यक्रम की 90वीं कड़ी में देश की जनता के साथ जुड़कर रेडियो पर लोगों को संबोधित किया। इस कड़ी का भी ऑल इंडिया रेडियो और दूरदर्शन के सभी केंद्रों से सीधा प्रसारण किया गया। पीएम मोदी इस वक्त जर्मनी में मौजूद हैं, उन्होंने आज मन की बात कार्यक्रम में आपातकाल को याद किया। मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी (PM Modi) ने बताया कि 1975 में लगाए गए आपातकाल के दौरान भारत में “लोकतंत्र को कुचलने” का प्रयास किया गया था, दुनिया में एक और ऐसा उदाहरण खोजना मुश्किल है जहां लोगों ने लोकतांत्रिक तरीकों से “तानाशाही मानसिकता” को हराया।

पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए कहा, “मेरे प्यारे देशवासियों, नमस्कार ‘मन की बात’ के लिए मुझे आप सभी के बहुत सारे पत्र मिले हैं, सोशल मीडिया और NaMo App पर भी बहुत से संदेश मिले हैं, मैं इसके लिए आपका बहुत आभारी हूं। आज की पीढ़ी के नौजवानों से, 24-25 साल के युवाओं से, एक सवाल पूछना चाहता हूं और ये सवाल बहुत गंभीर है। हमारे देश में एक बार ऐसा हुआ था, ये बरसों पहले 1975 की बात है। जून का वही समय था जब ‘आपातकाल’ लागू किया गया था।

पीएम मोदी ने तत्कालीन इंदिरा गांधी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा लगाए गए आपातकाल को याद करते हुए कहा कि उस दौरान सभी अधिकार “छीन” गए थे। 25 जून, 1975 को देश में आपातकाल की घोषणा की गई थी, जब इंदिरा गांधी प्रधान मंत्री थीं, और 21 मार्च, 1977 को इसे हटा लिया गया था।आपातकाल के दौरान, सभी अधिकार छीन लिए गए थे। इन अधिकारों में संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत गारंटीकृत जीवन और व्यक्तिगत स्वतंत्रता का अधिकार था। उस समय, भारत में लोकतंत्र, देश की अदालतों, हर संवैधानिक संस्था को कुचलने का प्रयास किया गया था।

पाकिस्तानी युवक से महिला टीचर को हुआ प्यार, बॉर्डर पहुंचने से पहले उतरा बुखार

उन्होंने जोर देकर कहा कि कई प्रयासों, हजारों गिरफ्तारियों और लाखों लोगों पर अत्याचार के बावजूद, लोकतंत्र में भारतीयों का विश्वास नहीं डगमगाया।सदियों से हमारे भीतर बसे लोकतांत्रिक मूल्य, हमारी रगों में बहने वाले लोकतंत्र की भावना की आखिरकार जीत हुई। लोकतांत्रिक तरीकों से भारत के लोगों ने आपातकाल से छुटकारा पाया और लोकतंत्र को बहाल किया। पीएम मोदी ने कहा, “लोकतांत्रिक तरीकों से तानाशाही मानसिकता को हराने के लिए दुनिया में ऐसा उदाहरण मिलना मुश्किल है।

PGI में भर्ती नंदी ने पत्नी के साथ तस्वीर शेयर कर लिखा भावुक पोस्ट

 

Related Post

बीजेपी में फूट

अजित पवार के साथ सरकार बनने पर बीजेपी में फूट, एकनाथ बोले- समर्थन लेना थी भूल

Posted by - November 27, 2019 0
मुंबई। महाराष्ट्र में एनसीपी नेता अजित पवार के साथ सरकार गठन को लेकर बीजेपी में विरोध के स्वर सुनाई दे…
प्रज्ञा ठाकुर

शहीद हेमंत करकरे पर साध्वी प्रज्ञा का विवादित बयान, बोली-उनके कर्मों की सजा मिली

Posted by - April 19, 2019 0
नई दिल्ली। भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने मुंबई हमले में शहीद हुए हेमंत करकरे को लेकर विवादित…

राकेश टिकैत का बड़ा एलान, अब दिल्ली में संसद पर जाकर देंगे धरना

Posted by - October 21, 2021 0
नई दिल्ली। किसान प्रदर्शनकारियों द्वारा रास्ता रोके जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में बृहस्पतिवार को हुई सुनवाई के कुछ देर बाद ही…