अयोध्या में दो अप्रैल तक नो एंट्री

अयोध्या में बाहरियों की दो अप्रैल तक नो एंट्री, रामनवमी मेले से पहले एडवाइजरी जारी

152 0

लखनऊ। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए उन सभी जगहों पर पाबंदी लगाई जा रही है। जहां भीड़ जुटने की संभावना है। इसी कड़ी में यूपी के अयोध्या में दो अप्रैल तक बाहरी लोगों की नो एंट्री कर दी गई है।

सरयू नदी में सामूहिक स्नान पर भी प्रतिबंध रहेगा

रामनवमी मेले से पहले अयोध्या जिला प्रशासन ने शनिवार को एडवाइजरी जारी की है। जिसके अनुसार बाहर से आ रहे श्रद्धालु और दर्शनार्थियों को अयोध्या के बॉर्डर पर ही रोक दिया जाएगा। इसके अलावा इस अवधि में सरयू नदी में सामूहिक स्नान पर भी प्रतिबंध रहेगा।

अयोध्या के सभी होटलों, धर्मशालाओं और लॉज में 2 अप्रैल तक कोई भी बुकिंग की अनुमति नहीं

इसके साथ ही अयोध्या के सभी होटलों, धर्मशालाओं और लॉज में 2 अप्रैल तक कोई भी बुकिंग की अनुमति नहीं है। बता दें कि 25 मार्च से अयोध्या में रामनवमी मेला शुरू होने जा रहे है, जिसमें दूर दराज से भारी संख्या में लोग शामिल होते हैं, एहतियातन रोक लगा दी गई है।

देश में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है, केंद्र और राज्य सरकारें लगातार इसको रोकने का प्रयास कर रही है। उन सभी जगहों पर पाबंदी लगा दी है जहां भीड़-भाड़ होने की संभावना होती है। इनमें रेलवे स्टेशन से लेकर तमाम दफ्तर शामिल हैं।वहीं दूसरी तरफ भारत में अब कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 271 पहुंच गई है। शनिवार यानी की आज अब तक 35 मामले सामने आ चुके हैं।

ट्रेनों में बढ़ा कोरोना संक्रमण, रेलवे ने लोगों से यात्रा स्थगित करने की अपील

अयोध्या से पहले वाराणसी के मंदिरों में भी कुछ इसी तरह की पाबंदी लगा दी गई है। वाराणसी में कोरोना के खौफ के चलते काशी विश्वनाथ मंदिर को 24 मार्च तक के लिए आम लोगों के लिए बन्द कर दिया गया है। वहीं संकट मोचन मंदिर को भी 25 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है।

Loading...
loading...

Related Post

शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद

Ayodhya Verdict: कल्बे जवाद बोले-विनम्रतापूर्वक करते हैं स्वीकार SC का फैसला

Posted by - November 9, 2019 0
लखनऊ। अयोध्या विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने पूरे देश को प्रभावित किया है। इसी बीच शिया धर्मगुरु…