युवा तेजी से हो रहे नोमोफोबिया के शिकार, जानें इसे रोकने के उपाय

343 0

लखनऊ डेस्क।  युवा नोमोफोबिया का शिकार तेजी से हो रहे हैं। मोबाइल फोन का लंबे समय तक उपयोग गर्दन में दर्द, आंखों में सूखेपन, कंप्यूटर विजन सिंड्रोम और अनिद्रा का कारण बन सकता है। 20 से 30 वर्ष की आयु के लगभग 60 प्रतिशत युवाओं को अपना मोबाइल फोन खोने की आशंका रहती है

ये भी पढ़ें :-कच्चे केले के आटे में है वजन घटाने का गुण, जानिए कैसे 

आपको बता दें लगभग तीन वयस्क उपभोक्ता लगातार एक साथ एक से अधिक उपकरणों का उपयोग करते हैं और अपने 90 प्रतिशत कार्यदिवस उपकरणों के साथ बिताते हैं। यह बात एडोब के एक अध्ययन में सामने आई है।

स्मार्टफोन की लत को रोकने के उपाय –

1-सोशल मीडिया फास्ट : सप्ताह में एक बार एक पूरे दिन सोशल मीडिया से बचें।

2-अपने मोबाइल फोन का उपयोग केवल तब करें जब घर से बाहर हों।

3-एक दिन में तीन घंटे से अधिक कंप्यूटर का उपयोग न करें।

4-अपने मोबाइल टॉक टाइम को एक दिन में दो घंटे से अधिक तक सीमित रखें।

5-अपने मोबाइल की बैटरी को एक दिन में एक से अधिक बार चार्ज न करें।

Related Post

निर्भया केस

Nirbhaya Case: तीसरी बार डेथ वारंट जारी, 3 मार्च सुबह 6 बजे दोषियों को होगी फांसी

Posted by - February 17, 2020 0
नई दिल्ली। निर्भया गैंगरेप हत्याकांड मामले में आज तीसरी बार दोषियों की फांसी को लेकर पटियाला हाउस कोर्ट ने नया…
राहुल करेंगे यूपी में तीन रैलियां

आठ को राहुल करेंगे यूपी में तीन रैलियां, साथ मौजूद रहेंगे ये दिग्गज

Posted by - April 3, 2019 0
लखनऊ। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया 8 अप्रैल को यूपी से चुनावी प्रचार अभियान की…