नक्सली हमला

दंतेवाड़ा : बीजेपी विधायक के काफिले पर नक्सली हमला, विधायक समेत पांच की मौत

426 0

दंतेवाड़ा । लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरण के मतदान से ठीक दो दिन पहले छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सली हमला हुआ है। इस हमले में बीजेपी विधायक भीमा मंडावी समेत पांच पुलिसकर्मियों की मौके पर ही मौत हो गई है। खबरों के मुताबिक नक्सलियों ने इस धमाके के लिए नक्सलियों ने  आईडी विस्फोट किया है। हमले में कई अन्य लोगों के गंभीर रूप से घायल होने की सूचना है।

छत्तीसगढ़ में 11 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के लिए मतदान होना है, नक्सलियों ने चुनाव बहिष्कार का जारी कर रखा है फरमान

बता दें कि छत्तीसगढ़ में 11 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के लिए मतदान होना है। नक्सलियों ने चुनाव बहिष्कार का फरमान जारी कर रखा है। मिली जानकारी के अनुसार भीमा मंडावी एक चुनावी जनसभा को संबोधित कर लौट रहे थे। नक्सलियों ने इस हमले को दंतेवाड़ा के कुआकोण्डा थाना क्षेत्र के श्यामगिरी के पास आईईडी ब्लास्ट कर अंजाम दिया। इस विस्फोट में सुरक्षा बल के जवानों को बड़ा नुकसान होने की सूचना है। इस हमले में मंडावी और उनके पीएसओ समेत चार अन्य जवानों के मौक पर ही मारे जाने की पु​ष्टि हुई है।

ये भी पढ़ें :-पूर्व सीएम बोले- लालकृष्ण आडवाणी की आंखों में आंसू देख कर बहुत हुई पीड़ा 

छत्तीसगढ़ पुलिस के डीआईजी (नक्सलरोधी) ने बीजेपी विधायक की मौत की पु​ष्टि 

छत्तीसगढ़ पुलिस के डीआईजी (नक्सलरोधी) ने बीजेपी विधायक की मौत की पु​ष्टि की है। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने हमले की पु​ष्टि करते हुए बताया है कि घटनास्थल के लिए सुरक्षा बल के अतिरिक्त जवानों को रवाना कर दिया गया है और विस्तृत जानकारी का इंतजार किया जा रहा है।

Loading...
loading...

Related Post

Mohammad Arif khan

भेड़-बकरियों की तरह ट्रीट होने को तैयार नहीं मुस्लिम महिलाएंः आरिफ मोहम्मद खान

Posted by - March 6, 2021 0
लखनऊ। राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान  (Arif mohammad khan) ने मुस्लिम महिलाओं के साथ बढ़ रही घटनाओं को लेकर बड़ा बयान…
नेट बैंकिंग के जरिये विदेश में धन ट्रांसफर करता था सलीम

नेट बैंकिंग के जरिये विदेश में धन ट्रांसफर करता था सलीम

Posted by - March 2, 2021 0
यूपी एसटीएफ द्वारा अयोध्या से गिरफ्तार किये गये नेपाली नागरिक सलीम ने खुलासा किया है कि उसके साथ के कई अन्य नेपालियों ने फर्जी दस्तावेजों के जरिये बैंक खाता खोलवाकर रुपये लेन-देन कर रहे हैं। ऐसे लोगों ने यूपी के विभिन्न शहरों में यहां की आईडी तक बनवा रखी है। सलीम से पूछताछ के बाद एसटीएफ उसके ऐसे कई नेपाली नागरिकों की तलाश कर रही है। सलीम को सोमवार को गिरफ्तार किया गया था। वह वाट्सएप कॉल के जरिए पाकिस्तान, सऊदी अरब और सूडान के नागरिकों से भी बात भी करता था। उसके पास से फर्जी आधार कार्ड और नेपाली दस्तावेज बरामद हुए थे। शाहजहांपुर में 3 स्कूली छात्राएं लापता यूपी एसटीएफ के एक अधिकारी ने बताया कि सलीम की गिरफ्तारी के बाद उसके गहन पूछताछ की गयी। पूछताछ में बताया कि उसके साथ नेपाल से आये कई और साथियों ने यूपी के विभिन्न जिलों में फर्जी दस्तावेज तैयार कर विभिन्न बैंकों में खाते खुलवा रखे हैं जिनके जरिये वे लोग रुपये का ट्रांजेक्शन करते हैं। वे लोग नेट बैंकिग के जरिये विदेशों में धन ट्रांसफर कर रहे हैं। सलीम ने ऐसे अपने कई साथियों के नाम पते भी बताए हैं। सलीम से पूछताछ के बाद एसटीएफ ऐसे लोगों के बारे में पता लगाने में जुटी है। नेपाल के बांके जिले के लक्षनपुर, नेपालगंज का रहने वाले मो. सलीम खान को यूपी एसटीएफ ने कल गिरफ्तार किया था। दरअसल, एसटीएफ को काफी समय से सूचना मिल  रही थी कि एक संदिग्ध व्यक्ति अयोध्या व उसके आस पास के जिलों में अलग-अलग स्थान पर फर्जी दस्तावेजों के आधार पर अपनी पहचान को छिपाकर रह रहा है। इस सूचना पर एसटीएफ की एक टीम छानबीन में लगायी गयी थी। जांच में पता चला कि ये व्यक्ति नेपाली नागरिक सलीम खान है। उसने अपनी जन्म तिथि व अन्य पहचान छिपाकर फर्जी दस्तावेज से अपना आधार बनवाया है जिसका नम्बर 381360937629 है। उसी आधार पर उसने भारतीय मोबाइल सिम कार्ड लिया है और वर्ष-2016 में श्रावस्ती में इलाहाबाद व इण्डियन बैंक की हेमपुर ब्रांच में खाता संख्या खुलवाया है। यूपी पंचायत चुनाव में इस बार उम्मीदवारों को मिलेंगे ये चिन्ह…