मुख्तार के गुर्गे ने बैंक के 107 करोड़ रुपये हड़पे, बैंक अफसरो को धमकाया

63 0

बाहुबली विधायक व बांदा जेल में बंद मुख्तार अंसारी के करीबी शकील हैदर का नया मामला सामने आया है। उसने कुछ साल पहले यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया से दो कंपनियों के नाम से 107 करोड़ रुपये का लोन कराया था। यह रकम खाते में आने के बाद खर्च कर दी और लोन की किस्त भी नहीं दी।

बैंक के अधिकारियों ने रिकवरी के लिए दौड़ लगाई तो शकील धमकाने लगा। बैंक ने मामले की जांच कराई तो कई खुलासे हुए। इसके बाद मामले की जांच सुरक्षा एजेंसियों को दे दी गई। वहीं, शकील के खिलाफ चार दिन में करोड़ों रुपये की जमीनों का फर्जीवाड़ा करने का मुकदमा भी वजीरगंज थाने में दर्ज हुआ है। आरोपी की तलाश में पुलिस कई जगह दबिश दे रही है।

पुराने लखनऊ के शीशमहल में रहने वाला शकील हैदर लखनऊ में मुख्तार अंसारी का सबसे करीबी गुर्गा है। उसने अमीनाबाद के यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया की शाखा से लोन कराया। यह लोन हिंद कंस्ट्रक्शन प्रोडक्ट प्रा. लि. और हिंद बिल्डटेक कंपनी के नाम कराया गया।

भाजपा ने सुप्रीम कोर्ट को धोखा देकर राम मंदिर पर फैसला करवाया था – असदुद्दीन ओवैसी

बैंक के अधिकारी के मुताबिक, हिंद कंस्ट्रक्शन प्रोडक्ट प्रा. लि. के नाम से 65 करोड़ का लोन कराया गया। यह लोन हासिल करने में शकील हैदर के अलावा हनी अब्बास, वारिस हसन और तनवीर अहमद शामिल थे। वहीं, दूसरी कंपनी हिंद बिल्डटेक के नाम से 42 करोड़ का लोन शकील हैदर ने कराया था। इन दोनों कंपनियों के खाते में लोन की रकम पहुंचने के बाद शकील ने उसे खर्च कर दिया। लेकिन किस्त की रकम देने में आनाकानी करने लगा।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

पुलिस थानों में मानवाधिकारों को बड़ा खतरा, विशेषाधिकार प्राप्त लोगों को भी दिया जाता है थर्ड डिग्री: CJI

Posted by - August 9, 2021 0
मुख्य न्यायाधीश एन.वी. रमन्ना ने रविवार को कहा कि पुलिस थानों में मानवाधिकारों को सबसे ज्यादा खतरा है। दरअसल एनएएलएसए के…

असम: हिंदू-सिख-जैन बहुल इलाकों और धार्मिक स्थलों के पांच किमी के दायरे में गोमांस बेचने पर प्रतिबंध

Posted by - July 13, 2021 0
असम सरकार ने मवेशियों के वध, उपभोग और परिवहन को विनियमित करने के लिए असम मवेशी संरक्षण बिल-2021 विधानसभा में…