मिसाल: जमशेदजी टाटा 100 साल में दुनिया के सबसे बड़े दानवीर

224 0

वारन बफे, जोफ बेजोस या बिल गेट्स बेशक दुनिया के सबसे अमीर लोगों में शुमार हैं, लेकिन ये लोग भारतीय उद्योग जगत के पितामह और टाटा समूह के संस्थापक जमशेदजी टाटा से बड़े दानवीर नहीं हैं।

हुरुन रिपोर्ट और एडेलगिव फाउंडेशन द्वारा तैयार विश्व के 50 दानवीरों की सूची में जमशेदजी को पिछले 100 सालों में दुनिया का सबसे बड़ा दानवीर चुना गया है। उनके द्वारा स्थापित टाटा समूह ने सबसे ज्यादा 102 अरब डॉलर (करीब 75 खरब 70 अरब 53 करोड़ 18 लाख रुपये) का दान दिया है।

दुनिया के सौ सालों के सबसे उदार दानवीरों की सूची बुधवार को जारी की गई। इसमें नमक से लेकर सॉफ्टवेयर तक बनाने वाले टाटा समूह के जमशेदजी दान देने में दुनिया के अन्य उद्योगपतियों से काफी आगे हैं। सूची में दूसरे नंबर पर बिल गेट्स और उनकी तलाकशुदा पत्नी मिलिंडा गेट्स हैं, जिन्होंने 74.6 अरब डॉलर का दान दिया है। वहीं वारेन बफे 37.4 अरब डॉलर के साथ तीसरे, जॉर्ज सॉरस 34.6 अरब डॉलर के साथ चौथे और जॉन डी रॉकफेलर 26.8 अरब डॉलर के साथ सूची में पांचवें नंबर पर हैं।

जमशेदजी ने अपनी दो तिहाई संपत्ति ट्रस्ट को दे दी थी, जो शिक्षा, स्वास्थ्य सहित अन्य क्षेत्रों में आज भी काम कर रहा है। उन्होंने 1892 से ही दान देना शुरू कर दिया था। इस सूची में एकमात्र दूसरे भारतीय उद्योगपति अजीम प्रेमजी हैं, जिन्होंने करीब 22 अरब डॉलर की अपनी पूरी संपत्ति दान कर दी है।फाउंडेशन की ओर से कहा गया है कि 50 लोगों की सूची में अल्फ्रेड नोबेल का नाम नहीं है। हालांकि कुछ ऐसे लोगों के नाम हैं, जो आश्चर्यजनक नहीं हैं।

अमेरिकी और यूरोपीय दानदाता पिछली शताब्दी में बेशक परोपकार की सोच में आगे रहे हों, लेकिन टाटा समूह के संस्थापक जमशेदजी दुनिया के सबसे बड़े दानवीर हैं। आज के अरबपति जिस हिसाब से कमाई करते हैं, उस हिसाब से दान नहीं देते। दानवीरों की सूची में सबसे ज्यादा 39 लोग अमेरिका के हैं। दूसरे नंबर पर ब्रिटेन है, जिसके 5 लोगों को इस सूची में स्थान दिया गया है। वहीं, इसमें चीन के तीन लोग शामिल हैं। सूची में शामिल सबसे बड़े दानवीरों में शुमार 37 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि केवल 13 लोग जीवित हैं।

पिछले 100 सालों में इन 50 लोगों ने कुल 832 अरब डॉलर का दान दिया। इसमें 503 अरब डॉलर संस्थागत दान और 329 अरब डॉलर निजी चंदे व्यक्तिगत दान से आया है।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

truck in lockdown

कोविड19 में प्रतिबंधों के कारण ट्रांसपोर्टरों को हर दिन 1,000 करोड़ रुपये का नुकसान

Posted by - April 22, 2021 0
मुंबई । ट्रक चालकों के निकाय एआईएमटीसी ने बुधवार को कहा कि ताजा प्रतिबंधों और कुछ राज्यों में साप्ताहिक लॉकडाऊन…
कोरोनावायरस से जूझ रहा अमेरिका

US: कल होगा राष्ट्रपति पद के लिए मतदान, जानें इससे जुड़ीं जरूरी बातें

Posted by - November 2, 2020 0
अंतर्राष्ट्रीय डेस्क.   कल 3 नवम्बर को अमेरिका में 45वें राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव लड़ा जाएगा जिसपर दुनिया भर की निगाहें…