महिलाओं की लाइव नीलामी दिखाने वाले यूट्यूब चैनल के खिलाफ शिवसेना सासंद प्रियंका चतुर्वेदी ने की कार्रवाई की मांग

392 0

शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव को एक पत्र लिखा है।पत्र में उन्होंने महिलाओं के उत्पीड़न के मुद्दे को उठाते हुए एक यूट्यूब चैनल और एक एप के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। शिवसेना सासंद ने कहा-‘लिबरल डॉज’ नामक यूट्यूब चैनल ने विशेष समुदाय की एक महिला की लाइव नीलामी का प्रसारण किया।

लोग महिला को देखकर बोली लगा रहे थे और भद्दी टिप्पणियां कर रहे थे, ‘सुल्ली डील्स’ एप पर कई पेशेवर महिलाओं की तस्वीरें पोस्ट हुई हैं।उन्होंने कहा कि एप पर जिन महिलाओं की तस्वीर पोस्ट की गई हैं वो उनके सोशल मीडिया हैंडल से उठाई गई हैं। यू ट्यूब पर महिलाओं की लाइव नीलामी दिखाने वाली इन घटनाओं पर ध्यान दिलाने के लिए शिवसेना सांसद ने सूचना एवं तकनीकी (IT) मंत्री अश्विनी वैष्णव (Ashwini Vaishnaw) को पत्र लिखा है।

असम की सलाह- मिजोरम यात्रा न करें, रवीश का तंज- सरमा से मंजूरी लेकर वहां जाएंगे मोदी-शाह

इस पत्र में उन्होंने संबंधित यू ट्यूब चैनल और ऐप के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने पत्र में लिखा है कि कुछ महीने पहले ‘लिबरल डॉज’ (Liberal Doge) नाम के एक यूट्यूब चैनल में एक विशेष समुदाय की महिला की लाइव नीलामी को दिखाया गया है। लोग महिला को देखकर बोली लगा रहे थे, भद्दी-भद्दी टिप्पणियां कर रहे थे। ‘सुल्ली डील्स’ (Sulli Deals) नाम के ऐप पर ऐसी कई महिलाओं की तस्वीरें पोस्ट हुई हैं।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

देश की स्वास्थ्य व्यवस्था पर CJI ने जताई चिंता, कहा- मेडिकल सेक्टर पर नहीं सरकार का ध्यान

Posted by - July 2, 2021 0
कोरोना संकट के बीच सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एनवी रमण ने मोदी सरकार को लेकर तल्ख टिप्पणी की है,…

गुजरात के हीरा कारोबारी पर आयकर विभाग का छापा, 500 करोड़ की हेरा-फेरी का हुआ खुलासा

Posted by - September 25, 2021 0
नई दिल्ली। गुजरात के एक हीरा कारोबारी के यहां आयकर विभाग ने छापा मारा है। व्यापारी के 23 ठिकानों पर…

चैंपियन बनने की इस महिला की राह नहीं रही आसान, अपने हौसले के दम पर पूरा किया सपना

Posted by - October 22, 2019 0
लखनऊ डेस्क। पारिवारिक आर्थिक पृष्ठभूमि भी काफी कमजोर, लेकिन हौसले की कोई कमी नहीं  थी पटियाला के छोटे से गांव…