Lucknow metro

लखनऊः सिग्नल फेल होने से थमे लखनऊ मेट्रो के पहिए

86 0
लखनऊ।  यूपी के लखनऊ में शुक्रवार को सिग्नल फेल होने के चलते लखनऊ मेट्रो (Lucknow Metro) के पहिए एक बार फिर थम गए। इस दौरान लगभग 10 मिनट तक मेट्रो खड़ी रही। वहीं मेट्रो रुकने से यात्रियों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

एक माह से कुछ ही ज्यादा समय बीता है कि लखनऊ मेट्रो (Lucknow Metro) रेल कॉरपोरेशन के पहिए एक बार फिर थम गए। इस बार मेट्रो के पहिए थमने की वजह मौसम खराब होने के चलते सिग्नल फेल होना बताया जा रहा है। तकरीबन दस मिनट से ज्यादा समय तक मेट्रो के रुकने से यात्रियों की सांसें थमी रहीं। मेट्रो के अधिकारी बताते हैं कि अचानक शुक्रवार दोपहर बाद मौसम खराब हो गया, जिसके चलते इस तरह की समस्या हुई। हालांकि जल्द ही सिग्नल दुरुस्त कर मेट्रो सेवा बहाल की गई।

हनुमान सेतु के पास थमी मेट्रो (Lucknow Metro) की रफ्तार

तकनीकी खराबी के चलते कुछ माह पहले मेट्रो (Lucknow Metro) एक घंटे से ज्यादा समय के लिए खड़ी हो गई थी। इससे मेट्रो की तकनीकी विंग पर सवाल खड़े हुए थे। यात्रियों के बीच मेट्रो में यात्रा करने को लेकर संशय पैदा होने लगा। अभी यात्रियों के जेहन से मेट्रो के रुकने की याद धूमिल भी नहीं पड़ी थी कि शुक्रवार को एक बार फिर लखनऊ विश्वविद्यालय स्टेशन से हजरतगंज स्टेशन की तरफ आ रही मेट्रो के अचानक रुक जाने से फिर वही याद तरोताजा हो गईं। करीब 10 मिनट से ज्यादा वक्त तक मेट्रो खड़े रहने से सफर कर रहे यात्रियों में खलबली मच गई।

हनुमान सेतु के पास मेट्रो 10 मिनट के बाद एक बार फिर आगे बढ़ी लेकिन फिर कुछ देर के लिए खड़ी हो गई। इस बारे में मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के जिम्मेदारों से उनका पक्ष लिया तो पहले मेट्रो (Lucknow Metro) न खड़े होने की बात कहते रहे, लेकिन बाद में कहा कि तेज हवा के चलते सिग्नल फेल होने के कारण कुछ देर के लिए मेट्रो जरूर रुकी थी।

तीन साल में अब तक 510 बार खड़ी हुई मेट्रो

बता दें कि मेट्रो (Lucknow Metro) के संचालन से लेकर अब तक तीन साल में 510 बार विभिन्न तकनीकी कारणों के कारण मेट्रो के पहिए थक चुके हैं। इससे यात्रियों को दिक्कतों का सामना भी करना पड़ चुका है। इससे कहीं न कहीं मेट्रो (Lucknow Metro) की टेक्निकल टीम पर सवालिया निशान भी लग रहे हैं।

प्लेटफॉर्म पर बेहोश होकर गिरा यात्री

आलमबाग स्थित सिंगारनगर मेट्रो स्टेशन पर शुक्रवार को एक बड़ा हादसा होते बच गया। यहां स्टेशन पर मौजूद एक यात्री अचानक ही बेहोश होकर गिर पड़ा। आनन-फानन में मौजूद कर्मचारियों और सुरक्षा गार्डों ने यात्रियों को प्लेटफॉर्म से किनारे हटाया।

Loading...
loading...

Related Post

Abdulla Azam Khan

आजम खान के बेटे अब्दुल्ला की बढ़ी मुश्किलें, गलत जन्‍मतिथि देने के आरोप में FIR

Posted by - March 5, 2021 0
रामपुर।  सपा के कद्दावर नेता और सांसद आजम खान के बेटे अब्दुल्ला खान (Abdullah Khan) के खिलाफ रामपुर में एफआईआर…

…तो प्रियंका गांधी यमुना में भी लगाएंगी डुबकी, संतों से लेंगी आशीर्वाद

Posted by - February 19, 2021 0
मथुरा।  प्रयागराज की तर्ज पर श्रीकृष्ण की नगरी में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा यमुना में डुबकी लगाएंगी।…
STF

यूपी एसटीएफ ने की गिरफ्तारी

Posted by - March 2, 2021 0
यूपी एसटीएफ ने बुलंदशहर जिले के नरोरा इलाके से दो साल से फरार चल रहे 50 हजार रुपये के वांछित हत्यारोपी को उसके साथी के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि बताया कि एसटीएफ की टीम ने सूचना मिलने पर लूट की घटना में वांछित 50 हजार रुपये के इनामी वेद प्रकाश उर्फ टीटू को उसके साथी अशोक उर्फ बंटी को आज उस समय गिरफ्तार कर लिए जब वह बदायूं कचहरी में जाने की फिराक में था। वेद प्रकाश ग्राम जाटनी थाना रामघाट जिला बुलंदशहर और अशोक उर्फ बंटी औरंगाबाद इलाके के खनोता गांव का रहने वाला है। एयरपोर्ट पर लगातार दूसरे दिन लाखों रुपये का सोना बरामद  प्रवक्ता ने बताया कि 19 सितंबर 2019 को नरोरा क्षेत्र में वेद प्रकाश ने अपने दो साथियों उमेश और मोहन के साथ एक व्यक्ति की हत्या कर उससे 23000 रुपये लूट लिए थे। इस मामले में पुलिस ने उमेश और मोहन को गिरफ्तार कर जेल •ोज दिया था लेकिन वेद प्रकाश तभी से फरार चल रहा था। इसकी गिरफ्तारी पर मेरठ के पुलिस महानिरीक्षक ने 50000 का इनाम घोषित किया था। वेद प्रकाश उर्फ टीटू और अशोक उर्फ बंटी के विरुद्ध दिल्ली, अलीगढ़, संभल, मुरादाबाद बुलंदशहर और बदायूं में कई मुकदमे दर्ज हैं।  गिरफ्तार आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने रामघाट मार्ग पर छुपा कर रखी गई दो मोटरसाइकिल बरामद की है जिन पर फर्जी नम्बर प्लेट लगी थी। वेद प्रकाश ने चार जनवरी को नरोरा कस्बे में एक दुकान में नकाब लगाकर चोरी भी की थी। बरामद 5000 की नकदी उसी दुकान से चोरी की गई थी। Loading... loading...
kashi vishwanath

विश्वनाथ मंदिर का पुरातात्विक सर्वेक्षण होगा, फास्ट ट्रैक कोर्ट का फैसला

Posted by - April 8, 2021 0
वाराणसी। काशी विश्वनाथ मंदिर (Vishwanath Temple) और उसी परिक्षेत्र में स्थित ज्ञानवापी मस्जिद मामले में सिविल जज सीनियर डिविजन फास्ट…