JP NADDA

असम : नड्डा बोले- यह चुनाव असम की संस्कृति की रक्षा, सुरक्षा और समृद्धि का चुनाव

488 0
डिब्रूगढ़। असम विधानसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी आक्रामक मूड में है। सत्ता पर काबिज होने के लिए बीजेपी लगातार रैलियां कर रही है। इसी सिलसिले में आज बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) डिब्रूगढ़ में एक रैली को संबोधित कर रहे हैं।
डिब्रूगढ़ चुनावी रैली में जेपी नड्डा

डिब्रूगढ़ चुनावी रैली में जेपी नड्डा (JP Nadda) ने कहा कि कांग्रेस के नेता जब-जब यहां आए तो चाय के बगान के साथ अपनी तस्वीर दिखाने की कोशिश की, लेकिन वो चाय का बगान यहां का नहीं था, ताइवान का था और श्रीलंका का था जिन लोगों की सोच में भारत की मिट्टी नहीं है, वो क्या विकास करेंगे?

नड्डा  (JP Nadda) ने कहा कि यह चुनाव असम की संस्कृति की रक्षा, सुरक्षा और समृद्धि का चुनाव है। कांग्रेस को वोट देने का मतलब है अवसरवादी राजनीति को बढ़ावा देना, विकास को धता बताना और असम को अंधकार में धकेल देना।

महाराष्ट्र मामले पर हंगामे के बाद राज्यसभा स्थगित, जावड़ेकर बोले- गृह मंंत्री कर रहे वसूली, पूरे देश ने देखा

डिब्रूगढ़ में बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि इस वर्ष बजट में 53,000 करोड़ रुपये असम को दिए गए हैं। 35,000 करोड़ रुपये नेशनल हाइवे के लिए दिए गए हैं और 1,000 करोड़ रुपये सिर्फ चाय बागानों और वहां रहने वालों के विकास के लिए दिए गए हैं।

नड्डा  (JP Nadda) ने कहा कि मनमोहन सिंह देश के प्रधानमंत्री थे और यहां से सांसद रहे, लेकिन गैस पर रोयल्टी नहीं दे सके। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने गैस पर रोयल्टी दी और 8,000 करोड़ रुपये आप तक पहुंचाने का काम किया।

जेपी नड्डा (JP Nadda)  ने कहा कि कांग्रेस की सरकार में बोडो आंदोलन के दौरान करीब 2,155 लोग मारे गए थे, 2084 सुरक्षा कर्मी मारे गए थे, 1300 लोगों का अपहरण हुआ था। भाजपा सरकार के आने के बाद बोडो आंदोलन, समझौते में परिवर्तित हुआ है, उनके विकास के लिए 1,500 करोड़ रुपये भी दिए गए हैं।

रैली को संबोधित करते हुए नड्डा (JP Nadda)  ने कहा कि असम में भाजपा सरकार के आने का बाद नामघरों को सुरक्षित करने का काम हुआ है। भाजपा की सरकार ने 2.5 लाख रुपये हर नामघर के लिए दिए हैं। असम दर्शन के तरह करीब 9,000 नामघरों का काम चल रहा है। ये संस्कृति के संरक्षण की दृष्टि से हो रहा है।

डिब्रूगढ़ में नड्डा  (JP Nadda) ने कहा कि जहां तक कांग्रेस का सवाल है अवसरवाद और स्वार्थ की राजनीति ही इनका लक्ष्य रहा है। केरल में ये CPM के विरुद्ध मुस्लिम लीग के साथ मिलकर लड़ रही है, बंगाल में CPM के साथ लड़ रही है और असम में अजमल के साथ मिलकर लड़ रही है। ये अवसरवादिता नहीं है, तो और क्या है?

नड्डा (JP Nadda)  ने कहा कि लंबे समय तक पूर्वोत्तर क्षेत्र की कांग्रेस ने उपेक्षा की है, यहां विकास के पहिये को रोका है। विकास को यहां कांग्रेस ने गहरी चोट पहुंचाई थी जब हमारी सरकार आई तो हमने असम की संस्कृति, भाषा की रक्षा की। यहां समृद्धि लाने का और सुरक्षा देने का प्रयास किया है।

डिब्रूगढ़ में जेपी नड्डा (JP Nadda)  ने कहा कि असम में आज की जनसभा का ये माहौल हर्षोल्लास का है, जीत का आशीर्वाद देने का है। आपका उत्साह बताता है कि आपने भाजपा को जिताना तय कर लिया है। जनता की सेवा करना, असम की चिंता करना, असम को आगे बढ़ने में योगदान देने में भाजपा सबसे आगे रही है।

Related Post