जयराम रमेश

दिल्ली चुनाव पर बोले जयराम रमेश- कांग्रेस को अब अपना घमंड छोड़ना पड़ेगा

149 0

कोच्ची। दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी के लचर प्रदर्शन को लेकर पार्टी में जारी बयानबाजी का दौर चरम पर है। एक दिन पहले जहां दिल्ली के प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ने पार्टी के खराब प्रदर्शन को लेकर बयान दिया था। वहीं, गुरुवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश ने दिल्ली चुनाव परिणाम को पार्टी के लिए खतरा करार दिया है।

जयराम रमेश ने साथ ही यह भी कहा है कि अगर समय रहते पार्टी सचेत न हुई, तो यह अप्रासंगिक हो जाएगी

जयराम रमेश ने कांग्रेस संगठन में आमूलचूल बदलाव की सलाह दी है। जयराम रमेश ने साफ़ कहा कि अब कांग्रेस को अपने घमंड से बाहर आना होगा। हमें सत्ता से बाहर बैठे हुए छह साल हो गए हैं और हम से कुछ लोग अब भी ऐसा व्यवहार करते हैं जैसे वो अभी भी केंद्रीय मंत्री हैं। जयराम रमेश ने साथ ही यह भी कहा है कि अगर समय रहते पार्टी सचेत न हुई, तो यह अप्रासंगिक हो जाएगी। जयराम रमेश के अलावा दक्षिण भारत के एक अन्य वरिष्ठ कांग्रेसी वीरप्पा मोइली ने भी चुनाव परिणामों को लेकर ऐसा ही अंदेशा जताया है।

अमित शाह बोले- नफरत भरी बयानबाजी से दिल्ली विधानसभा चुनाव हारी बीजेपी

कांग्रेस पार्टी के पहचान पर भी संकट

दिल्ली के चुनाव में कांग्रेस पार्टी के प्रदर्शन से आहत पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश ने पार्टी संगठन को मजबूत करने के लिए कई सलाह दिए हैं। इसके साथ ही उन्होंने पार्टी नेताओं के बीच आपसी विवाद, अहंकार आदि को लेकर भी टिप्पणी की है। जयराम रमेश ने कहा कि आज की तारीख में कांग्रेस के नेता अप्रासंगिक होते जा रहे हैं। अगर ऐसा ही रहा तो आने वाले दिनों में पार्टी की पहचान खत्म हो जाएगी और यह लोगों के बीच अप्रासंगिक हो जाएगी।

दिल्ली की जनता ने अमित शाह को खारिज कर दिया

दिल्ली के चुनाव परिणाम पर रमेश ने कहा कि नतीजों से साबित हो गया है कि दिल्ली की जनता ने अमित शाह को खारिज कर दिया। चुनाव प्रचार के दौरान अमित शाह ने जिस भाषा का इस्तेमाल किया, उसको देखते हुए जनता ने उन्हें करारा जवाब दिया है।

जब तक हम स्थानीय स्तर के नेताओं को बढ़ावा नहीं देंगे, पार्टी संगठन को मजबूत करना नामुमकिन

जयराम रमेश ने कांग्रेस पार्टी में स्थानीय स्तर पर नेतृत्व को बढ़ावा देने की भी पैरवी की है। उन्होंने कहा कि पार्टी में निचले स्तर के नेताओं और कार्यकर्ताओं को बढ़ावा देना होगा। उन्हें फैसले लेने की स्वतंत्रता देनी होगी। जब तक हम स्थानीय स्तर के नेताओं को बढ़ावा नहीं देंगे, पार्टी संगठन को मजबूत करना नामुमकिन है। रमेश ने देश के विभिन्न राज्यों में पार्टी की मौजूदा स्थिति पर कहा कि बिहार में कांग्रेस लगभग अप्रासंगिक हो चुकी है। यूपी में भी हम सिमटते जा रहे हैं, लेकिन राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ में हमारी स्थिति मजबूत है। हरियाणा में हमने फिर वापसी की है। जब तक हम नेतृत्व में बदलाव नहीं करेंगे, स्थिति ठीक नहीं होगी। इसके लिए जरूरी है कि पार्टी में आमूलचूल बदलाव हो।

वीरप्पा मोइली बोले- अहंकारी हो गए नेता

जयराम रमेश की तरह ही कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता वीरप्पा मोइली ने भी दिल्ली चुनाव के नतीजों को लेकर बयान दिया है। मोइली ने पार्टी की स्थिति को देखते हुए तुरंत एक्शन लेने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेताओं को आत्ममंथन करना होगा। उन्हें पार्टी की ऐसी स्थिति पर विचार करना होगा, वरना आने वाले दिनों में जनता हमें नकार देगी। पार्टी नेताओं के अहंकार पर वीरप्पा मोइली ने कहा कि हमारे नेताओं में अहंकार आ गया है। 6 साल तक सत्ता से बाहर रहने के बाद भी वे खुद को मंत्री समझते हैं।

Loading...
loading...

Related Post

सोनम कपूर

रूढ़िवादियों का वोट न करें, वे दुनिया की तबाही के लिए होंगे जिम्मेदार: सोनम कपूर

Posted by - January 4, 2020 0
मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनम कपूर यूं तो समसामयिक मुद्दों पर बहुत कम ही ट्वीट करती है, लेकिन उनक हालिया ट्वीट…
कोरोनावायरस

कोरोनावायरस: अयोध्या में सरयू आरती और जनसभा नहीं करेंगे उद्धव ठाकरे

Posted by - March 6, 2020 0
अयोध्या। कोरोना वायरस की वजह से महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे सरयू आरती नहीं करेंगे। सात मार्च को उद्धव ठाकरे…
अमित शाह

सीएए किसी की नागरिकता छीनने का नहीं, बल्कि नागरिकता देने का प्रावधान: अमित शाह

Posted by - January 12, 2020 0
जबलपुर। केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के समर्थन…