Bangalore Police

लाउडस्पीकर की तेज आवाज पर HC नाराज, 125 मस्जिद सहित 301 को नोटिस

45 0

बेंगलुरु: बेंगलुरु पुलिस (Bangalore Police) ने गुरुवार को 301 मस्जिदों, मंदिरों, चर्चों और अन्य प्रतिष्ठानों को अपने लाउडस्पीकर (Loudspeaker) का उपयोग अनुमेय डेसिबल स्तर के भीतर करने के लिए नोटिस जारी किया। बेंगलुरु की पुलिस आयुक्त कमल पंत ने गुरुवार को बताया कि 301 नोटिसों में से 59 पब, बार और रेस्तरां को, 12 उद्योगों को, 83 मंदिरों को, 22 चर्चों को और 125 शहर भर की मस्जिदों (Mosques) को दिए गए हैं। यह कदम कुछ दक्षिणपंथी कार्यकर्ताओं द्वारा ध्वनि प्रदूषण नियमों का उल्लंघन करने वाले लाउडस्पीकरों को बंद करने की मांग के बाद उठाया गया है। इस संबंध में उन्होंने राज्य भर के आयुक्तों और अन्य पुलिस अधिकारियों से भी मुलाकात की।

मौलाना मकसूद इमरान रशीदी (इमाम जामिया मस्जिद सिटी मार्केट) ने मीडिया को बताया कि उन्हें पुलिस विभाग से नोटिस मिला है और वे उस आदेश का पालन करेंगे जो लाउडस्पीकर के डेसिबल से संबंधित सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुसार दिया गया है। “कई मस्जिदों को नोटिस मिला है। हमें ध्वनि स्तर बनाए रखने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा जारी निर्देशों का पालन किया जाना चाहिए और अगर आदेशों का पालन नहीं किया जाता है तो कार्रवाई शुरू की जाएगी।”

यह भी पढ़ें: चैत्र नवरात्रि का सातवां दिन, करें मां कालरात्रि की पूजा

उन्होंने आगे कहा कि उन्होंने डिवाइस को फिट करना शुरू कर दिया है जो यह सुनिश्चित करता है कि ध्वनि अनुमेय स्तर को पार न करे और कोई भी परेशान न हो। लाउडस्पीकर से। मंदिरों को भी इस संबंध में नोटिस मिला है। अगर हम सभी नियमों का पालन करते हैं तो कोई समस्या नहीं होगी।

यह भी पढ़ें: श्री केदारनाथ धाम में चल रहे निर्माण कार्यों का मुख्य सचिव ने लिया जायजा

Related Post

covid-19

COVID-19 : पिछले 24 घंटे में आए रिकॉर्ड करीब 47 हजार नए केस, मौतों की संख्या ने भी बढ़ाई चिंता

Posted by - March 22, 2021 0
नई दिल्ली । देश में एक साल पहले वैश्विक महामारी ने दस्तक दी थी। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने…

चंद्रशेखर के बुजुर्गों की ना के बाद ही ‘हमवार’ हुआ पुष्कर के तख्त तक पहुंचने का रास्ता

Posted by - July 4, 2021 0
.. तो क्या चंद्रशेखर पं.भुवनेश्वर दयाल उपाध्याय (Chandrashekhar Upaghyay) के 11वें मुख्यमंत्री बनने जा रहे थे। ..तो क्या भारतीय जनसंघ…