गाजियाबादः समीर हत्याकांड में पूर्व बसपा विधायक वहाब चौधरी समेत 3 गिरफ्तार

33 0

एसपी ग्रामीण ने बताया कि पूर्व विधायक वहाब चौधरी के भाई आस मोहम्मद ने मई 2020 में अपनी पत्नी सहाना की हत्या कर दी थी। पुलिस ने इस मामले में आस मोहम्मद, उसके बेटे अहद, अहद के दोस्त समीर, शाहरुख व आस मोहम्मद की दूसरी पत्नी तबस्सुम उर्फ भूरी को जेल भेजा था।

गाजियाबाद के मुरादनगर के युवक समीर की हत्या बसपा के पूर्व विधायक वहाब चौधरी ने कराई थी। घटना का खुलासा करते हुए पुलिस ने पूर्व विधायक व उसके दो भतीजों अहद और आफताब को गिरफ्तार किया है। समीर 10 जुलाई की शाम को गायब हुआ था, उसका शव 11 जुलाई की सुबह सात बजे कब्रिस्तान के पास मिला था।

एसपी ग्रामीण डॉ. ईरज राजा ने बताया कि राजनैतिक लाभ लेने के लिए वहाब चौधरी ने ही हत्याकांड की साजिश रची। हत्या के बाद बिरादरी में वर्चस्व कायम करना भी उसका मकसद था। एसपी ग्रामीण ने बताया कि पूर्व विधायक के बेटे आदिल ने हत्यारोपी अहद को पिस्टल मुहैया कराई थी। आदिल समेत चार आरोपी अभी फरार हैं, जिनकी तलाश में दबिश दी जा रही है।

एसपी ग्रामीण ने बताया कि पूर्व विधायक वहाब चौधरी के भाई आस मोहम्मद ने मई 2020 में अपनी पत्नी सहाना की हत्या कर दी थी। पुलिस ने इस मामले में आस मोहम्मद, उसके बेटे अहद, अहद के दोस्त समीर, शाहरुख व आस मोहम्मद की दूसरी पत्नी तबस्सुम उर्फ भूरी को जेल भेजा था।

घटना के दौरान नाबालिग होने के कारण अहद और समीर बाल सुधार गृह से जल्दी छूट गए। लेकिन पुलिस ने समीर को गैंगस्टर में फिर से जेल भेज दिया। वह करीब डेढ़ माह पहले ही जेल से छूटकर आया है। आस मोहम्मद अभी भी पत्नी की हत्या के मामले में जेल में बंद है।

संसद अहंकारी और अड़ियल हो तो देश में जनक्रांति निश्चित है- टिकैत ने मोदी सरकार पर बोला हमला

एसपी ग्रामीण के मुताबिक अहद और समीर अच्छे दोस्त थे। पूछताछ में अहद ने बताया कि दोस्त समीर की हत्या के लिए उसके ताऊ व पूर्व विधायक वहाब चौधरी ने ही उसे उकसाया था। वहाब ने कहा था कि उसकी मां सहाना की हत्या समीर ने की थी, लेकिन आरोप उसके व उसके पिता आस मोहम्मद पर लगा। जिसके चलते बिरादरी में खानदान की बदनामी हो रही है। मां की हत्या का कलंक मिटाने के लिए ही वहाब ने भतीजे अहद को समीर की हत्या करने के लिए उकसाया। शनिवार शाम करीब 6 बजे अहद व अनस समीर को घर से बुलाकर ले गए और कब्रिस्तान के पास गोली मारकर उसकी हत्या कर दी।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

cm yogi in assam

कांग्रेस नेतृत्व कभी सुधरने वाला नहीं है, उसे छोड़ दें अपने हाल पर : योगी आदित्यनाथ

Posted by - March 23, 2021 0
असम।  पांचों राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखें जैसे-जैसे नजदीक आ रही हैं, वैसे-वैसे पार्टियों के बीच चुनावी…
आजसू की सातवीं सूची जारी

आजसू की तीसरी सूची में अकील अख्तर पाकुड़ व शालिनी गुप्ता कोडरमा से प्रत्याशी

Posted by - November 17, 2019 0
रांची। ऑल झारखंड स्टूडेंटस यूनियन (आजसू) ने रविवार को झारखंड विधानसभा चुनाव को लेकर अपनी तीसरी सूची जारी कर दी…