UPSC Mains

प्रयागराज : BEO भर्ती परीक्षा 2019 का टॉपर निकला जालसाज

305 0

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा 30 जनवरी को घोषित किए गए खंड शिक्षाधिकारी परीक्षा (बीईओ) 2019  (BEO Recruitment Exam 2019) के रिजल्ट में टॉपर ही जालसाज निकला। खंड शिक्षाधिकारी परीक्षा में बिंदकी फतेहपुर का प्रणव पहले स्थान पर चुना गया था। उसके खिलाफ एक मार्च को एफआईआर दर्ज कराई गई थी। आयोग के सचिव जगदीश ने स्वीकार किया है कि बीईओ परीक्षा के टॉपर प्रणव ने फर्जीवाड़ा किया है।

TET और DLD पर शासन नहीं ले सका निर्णय, लंबित है दोनों परीक्षा कराने का प्रस्ताव

आयोग द्वारा प्रमाण पत्रों और मूल अभिलेखों के आठ, नौ एवं 10 फरवरी को कराए गए सत्यापन में पता चला कि प्रणव ने डीएलएड परीक्षा पास की थी, जबकि बीईओ परीक्षा में वह बीएड का फर्जी प्रमाण पत्र लगाकर शामिल हुआ था। आयोग की ओर से प्रमाण पत्रों की जांच में बीएड का प्रमाण पत्र कूटरचित लगने पर उसकी जांच कराई गई। पता चला कि प्रणव को बीएड का प्रमाण पत्र सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने जारी किया है, जबकि परीक्षा नियामक प्राधिकारी बीएड प्रमाण पत्र जारी ही नहीं करता। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की सक्रियता से जल्द ही जालसाज को पकड़ लिया गया। प्रमाण पत्रों की जांच में फर्जीवाड़ा सामने आने के बाद प्रणव का चयन निरस्त होना तय हो गया है।

सत्यापन में मामला संदिग्ध लगने पर हुई प्रमाण पत्रों की जांच

प्रमाण पत्रों के सत्यापन के दौरान प्रणव के प्रमाण पत्र संदिग्ध लगने के बाद आयोग ने सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय से प्रमाण पत्रों का सत्यापन करवाया। फर्जीवाड़ा का मामला सामने आने पर एक मार्च को उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के अनुभाग अधिकारी पवन कुमार ने सिविल लाइंस थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। आयोग के मुताबिक प्रणव ने डीएलएड के प्रमाण पत्र को बीएड में बदलकर परीक्षा पास कर ली।

दिसंबर 2019 में जारी हुआ था बीईओ (BEO Recruitment Exam 2019) के पदों के लिए विज्ञापन

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की ओर से 13 दिसंबर 2019 को खंड शिक्षा अधिकारी (BEO Recruitment Exam 2019) के 309 पदों के चयन के लिए विज्ञापन जारी किया गया था। अभ्यर्थियों से 13 जनवरी 2020 तक ऑनलाइन आवेदन मांगे गए थे। पांच लाख 28 हजार 314 आवेदन प्राप्त हुए थे। खंड शिक्षा अधिकारी के चयन हेतु 16 अगस्त 2020 को परीक्षा का आयोजन किया गया। लिखित परीक्षा का परिणाम एक अक्तूबर को जारी हुआ। 309 पदों के लिए 4591 अभ्यर्थी परीक्षा में सफल हुए। 30 जनवरी को अंतिम परिणाम जारी किया गया। सभी से आवेदन पत्र व अभिलेख प्रमाण पत्र जमा करने के लिए 28 अक्तूबर से 23 नवंबर 2020 तक का समय दिया गया। फतेहपुर के अभ्यर्थी प्रणव ने भी आवेदन पत्र के साथ बीएड प्रमाण पत्र की प्रतिलिपि संलग्न की थी।

Related Post

UP Assembly

ऐतिहासिक फैसला: देश में पहली बार उप्र विधानसभा का एक दिन होगा महिला सदस्यों के नाम

Posted by - September 18, 2022 0
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने सोमवार से शुरू हो रहे विधानसभा (UP Assembly) के मानसून सत्र (Moonsoon Session)…
cm- yogi

वाराणसी पहुंचे CM योगी, विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान का किया शुभारंभ

Posted by - February 28, 2021 0
वाराणसी। सीएम योगी (CM Yogi) दो दिवसीय दौरे वाराणसी पहुंच गए हैं। सीएम योगी(CM Yogi) यहां विभिन्न कार्यक्रमों में शिरकत…

इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल होंगे ईडी के अधिकारी राजेश्वर सिंह! विपक्षी नेताओं की जांच में रहे थे आगे

Posted by - August 21, 2021 0
यूपी में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी बढ़ी हुई है, इसी बीच प्रवर्तन निदेशालय के वरिष्ठ अधिकारी राजेश्वर सिंह भाजपा…