फारूक अब्दुल्ला ने सवाल किया,”जब भगवान राम सब जगह हैं तो मंदिर अयोध्या में ही क्यों बने?”

565 0

नई दिल्ली। एक तरफ जहाँ रामजन्म भूमि का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में है वही जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने कहा ये सवाल किया कि जब भगवान राम सर्वव्यापी हैं और पूरी दुनिया के हैं तो उनका मंदिर अयोध्या में ही क्यों बनना चाहिए? न राम को वोटों की जरूरत हैं और न ही खुदा को। चुनाव विकास के मुद्दे पर लड़ा जाना चाहिए। फारूक ने यह बात सोमवार को कांग्रेस नेता मनीष तिवारी की किताब ‘फेबल्स ऑफ फ्रैक्चर्ड टाइम्स’ के विमोचन के दौरान कही।

साथ ही फारूक के बयान पर तुरंत जदयू नेता पवन वर्मा ने कहा, “राम मंदिर अयोध्या में क्यों नहीं बन सकता? हिंदू राम मंदिर अयोध्या में इसलिए बनाना चाहते हैं क्योंकि वहां राम का जन्म हुआ था। सवाल यह है कि मंदिर कैसे बनेगा- ताकत के इस्तेमाल या हिंसा या आपसी सहमति या फिर अदालती आदेश से।” हालांकि अब्दुल्ला ने यह भी कहा कि उन्हें मंदिर निर्माण पर कोई आपत्ति नहीं है। लेकिन इसमें सुप्रीम कोर्ट का फैसला भी मायने रखेगा। सुप्रीम कोर्ट ने पिछले महीने कहा था कि जनवरी के पहले हफ्ते में उपयुक्त बेंच राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मसले की सुनवाई का शेड्यूल तय करेगी।

इसके अलावा फारूक ने आगे ये सवाल भी किया कि बिहार के सीतामढ़ी में सीता का मंदिर क्यों नहीं बनाया जा रहा? क्या आप लोग सुप्रीम कोर्ट को भी ठंडे पानी में रखना चाहते हैं? क्या देश में सही मायने में लोकतंत्र है? सभी मुस्लिम कह चुके हैं कि वे सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करेंगे। फारूक के मुताबिक- “ये किस तरह की बातें की जा रही हैं, मेरी मां को गाली दी, मेरे बाप को गाली दी। क्या ये प्रधानमंत्री के स्तर की बातें हैं? मैंने कभी भी अपनी मां और पिता को भाषणों में शामिल नहीं किया। देश के प्रधानमंत्री को बड़े स्तर पर सोचना चाहिए।”

साथ ही फारूक ने कहा कि राज्यपाल एक संवैधानिक पद है, लिहाजा उन्हें केंद्र के हाथ की कठपुतली नहीं होना चाहिए। अगर राज्यपाल यह कहते हैं कि उनके पास फैक्स मशीन नहीं है तो वे कम्युनिकेशन कैसे करते हैं? क्या हमें आसमान से भगवान आकर बताएंगे। हाल ही में जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने विधानसभा भंग कर दी थी। महबूबा मुफ्ती ने दावा किया था कि पीडीपी ने कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस की मदद से सरकार बनाने का पत्र राज्यपाल को भेजा था।

कश्मीर मुद्दे पर बोलते हुए फारूक अब्दुल्ला कहा कि,” कश्मीर के लोगों के कारण ही आतंकी मारे जा रहे हैं। कश्मीर को भारत से अलग करने में पाकिस्तान को कभी कामयाबी नहीं मिलेगी। हमें इंटेलिजेंस एजेंसियों के चलते आतंकियों को मारने में कामयाबी नहीं मिल रही बल्कि कश्मीर का आम आदमी आतंकियों से आजिज आ चुका है। लोग ही पुलिस को सूचनाएं दे रहे हैं। “

Related Post

अमित शाह

महाराष्ट्र: अनुच्छेद 370 हटाने पर पूरा देश खुश, विधानसभा चुनाव में एनडीए सरकार बनना तय– शाह

Posted by - September 22, 2019 0
महाराष्ट्र। रविवार यानी आज महाराष्ट्र में चुनावी बिगुल फूंकते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि जम्मू कश्मीर से…

आपराधिक मानहानि मामले में अपना बयान दर्ज कराने गुजरात पहुंचे राहुल गांधी

Posted by - June 24, 2021 0
अवमानना मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज गुजरात में मजिस्ट्रेट की अदालत के समक्ष पेश होने के लिए सूरत…
पीएम मोदी

सपा-बसपा मेरी जाति को लेकर बांट रहे हैं प्रमाण पत्र : पीएम मोदी

Posted by - April 27, 2019 0
कन्नौज। पीएम नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के कन्नौज में शनिवार को रैली को संबोधित करते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती…

बोले राजभर, यूपी में हमारी सरकार बनी तो 5 साल में बनाएंगे 5 सीएम, हर साल 4 नए डिप्टी सीएम

Posted by - June 25, 2021 0
यूपी में विधानसभा चुनाव का शंखनाद हो चुका है, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रमुख ओम प्रकाश राजभर ने 5…