200 करोड़ की वसूली केस में नोरा फतेही को ईडी का समन, पूछताछ के लिए पहुंची एक्ट्रेस

76 0

नई दिल्ली। दिल्ली की तिहाड़ जेल के अंदर से ही 200 करोड़ रुपये की वसूली का रैकेट चलाने के मामले में प्रवर्तन निदेशालय की जांच का दायरा बढ़ता ही जा रहा है। अब बॉलीवुड अभिनेत्री नोरा फतेही को ईडी ने समन जारी किया है। जानकारी के मुताबिक, ईडी ने नोरा फतेही को आज पूछताछ के लिए बुलाया है। प्रवर्तन निदेशालय इस मामले में नोरा फतेही का बयान दर्ज करना चाहता है। जानकारी के मुताबिक, नोरा फतेही दिल्ली के ईडी दफ्तर पहुंच गई हैं।

तिहाड़ जेल में बंद सुकेश चंद्र शेखर द्वारा 200 करोड़ रुपये की ठगी मामले में केवल नोरा फतेही ही नहीं बल्कि अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडिस से ठगी का भी आरोप है। नोरा फतेही के साथ-साथ ईडी ने अभिनेत्री जैकलीन फर्नांजिस को फिर से समन भेजा है। ईडी ने शुक्रवार को पूछताछ में शामिल होने के लिए जैकलीन को एमटीएनएल स्थित ईडी दफ्तर बुलाया है। सुकेश ने जैकलीन को भी अपने जाल में फंसाने की कोशिश की थी।

बता दें कि इस मामले में ईडी ने जैकलीन से पहले भी पूछताछ की थी। पहले ईडी को लग रहा था कि जैकलीन इस मामले में शामिल हैं, लेकिन बाद में पता चला कि वह इस मामले की विक्टिम हैं। सुकेश ने लीना पॉल के जरिए जैकलीन को ठगा था। जैकलीन ने ईडी को दिए अपने पहले बयान में सुकेश से जुड़ी कई अहम जानकारियां साझा की थीं।

बॉलीवुड की कई हस्तियों को बनाया निशाना

आपको बता दें की तिहाड़ जेल के अंदर से 200 करोड़ की रंगदारी वसूलने के मामले में सुकेश चंद्र शेखर और उसकी कथित पत्नी एक्ट्रेस लीना पॉल जेल में बन्द हैं। बताया जा रहा है कि सुकेश ने अन्य लोगों की तरह नोरा फतेही को भी अपने जाल में फंसाने की साजिश रची थी। नोरा और जैकलीन के अलावा सुकेश के निशाने पर कई बॉलीवुड कलाकार और फिल्मकार थे।

पत्नी की मदद से जेल में बैठकर करता था ठगी

ठगी के मामले में सुकेश की कथित पत्नी लीना पॉल भी पुलिस की गिरफ्त में हैं। लीना ठगी के मामले में पूरी तरह से सुकेश का साथ देती थी। जेल से ही सुकेश लीना के जरिए अपने ठगी के नेटवर्क को चला रहा था। गिरफ्तार होने के बाद लीना ने पूछताछ में बताया था कि वो सुधीर और जोएल नाम के दो शख्स के साथ मिलकर ठगी के पैसों को ठिकाने लगाती थी।

जेल के अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्रवाई

जेल के अंदर से अपने ठगी के मामलों को अंजाम देने वाले सुकेश से जुड़े दिल्ली पुलिस के 9 अधिकारियों और कर्मचारियों पर विभागीय कार्रवाई के आदेश दिए गए। इस मामले में छह अधिकारियों और कर्मचारियों को पहले ही सस्पेंड कर दिया गया था। रंगदारी के मामले में ये सभी जांच के बाद दोषी पाए गए थे।

 

Related Post

भाजपा वाले पिछड़ों और हिंदू-मुसलमान को आपस में लड़ाकर दंगा कराते हैं- ओम प्रकाश राजभर

Posted by - July 6, 2021 0
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत द्वारा ‘भारतीयों का डीएनए एक है’ कहे जाने के बाद राजनीतिक बयानबाजी का…

पत्रकारों की याचिका पर 5 अगस्त को पेगासस जासूसी कांड की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, घुसपैठ का दावा

Posted by - August 3, 2021 0
पेगासस जासूसी मामले में पांच पत्रकारों (परंजॉय गुहा ठाकुरता, एस. एन. एम. आब्दी, प्रेम शंकर झा, रूपेश कुमार सिंह और…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *