पहले यूपी में राह नहीं बल्कि राहजनी होती थी : मोदी

37 0

पूर्वी उत्तर प्रदेश के विकास की उपेक्षा के लिये राज्य की पिछली सरकाराें को जिम्मेदार ठहराते हुये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Modi) ने मंगलवार को कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे उत्तर प्रदेश में आधुनिक होती सुविधाओं और उम्मीदों का प्रतिबिंब है।

करीब 22 हजार करोड़ की लागत से तैयार 341 किमी लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का उदघाटन करने के बाद एक जनसभा को संबोधित करते हुये मोदी ने कहा कि तीन साल पहले जहां केवल जमीन थी, वहां आज इतना आधुनिक एक्सप्रेस वे गुजर रहा है। यह यूपी के विकास का एक्सप्रेस वे है। नये यूपी के निर्माण का एक्सप्रेस वे है। यूपी की मजबूत होती अर्थव्यवस्था का एक्सप्रेस वे है। उन्होंने इसे उत्तर प्रदेश की तरक्की का प्रमाण बताते हुये कहा कि वह विमान से इस राजमार्ग पर उतर कर खुद को धन्य महसूस कर रहे हैं।

उन्होने कहा कि देश के संपूर्ण विकास के लिये क्षेत्रों का संतुलित विकास भी बहुत जरूरी है। कुछ क्षेत्र आगे चले जाये और कुछ दशकों तक पीछे चले जाये। यह असमानता ठीक नहीं है। विकास की संभावना होने के बावजूद पूर्वोत्तर क्षेत्र को उतना लाभ नहीं मिला।

प्रधानमंत्री ने किसी राजनीतिक दल या नेता का नाम लिये बिना सपा बसपा की पूर्ववर्ती सरकारों पर तंज कसते हुये कहा कि राज्य के सर्वांगीण विकास पर पिछली सरकारों ने ध्यान ही नहीं दिया। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों ने प्रदेश को माफियावाद और गरीबी के हवाले कर दिया गया था। मोदी ने कहा कि आज यही क्षेत्र विकास का नया अध्याय लिख रहा है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों के लिये विकास वहीं तक सीमित था जहां तक उनका परिवार सीमित था।

उन्होंने इस श्रेय राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को देते हुये योगी को ऊर्जावान और कर्मयोगी बताया। मोदी ने कहा, “जिन किसान भाई बहनो की भूमि इसमें लगी है, जिन श्रमिकों का पसीना इसमें लगा है, जिन इंजीनियरों का कौशल लगा है, वे सभी अभिनंदन के अधिकारी हैं।

इस अवसर पर योगी के अलावा उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, सांसद मेनका गांधी एवं राज्य सरकार के तमाम मंत्री और अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

प्रधानमंत्री ने एक्सप्रेस वे के सैन्य महत्व का जिक्र करते हुये कहा कि जितनी जरूरी देश की समृद्धि है, उतनी ही जरूरी देश की सुरक्षा भी है। इस लिहाज से एक्सप्रेस वे, आपात स्थित में वायुसेना की ताकत बन गये हैं। मोदी ने कहा, “यहां उतरने वाले हमारे लड़ाकू विमान की गर्जना उन लोगों के लिये एक जवाब होंगे जिन्होने डिफेंस इंफ्रास्ट्रक्चर को नजरअंदाज किया।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश की उपजाऊ भूमि और यहां के लोगों का परिश्रम एवं कौशल अभूतपूर्व है। वह ऐसा किताबी ज्ञान के नाते नहीं कह रहे है बल्कि यहां का सांसद के नाते जो रिश्ता नाता बना है उस पर बोल रहे हैं। इतने बडे क्षेत्र को गंगा और अन्य नदियों का आशीर्वाद मिला है। सात आठ साल पहले यहां के जो हालात थे, उनको देखकर हैरानी होती थी। महसूस होता था कि यूपी को कुछ लोग इस क्षेत्र को किस बात की सजा दे रहे हैं। 2014 में हालांकि यहां के लोगों ने देश की सेवा का अवसर दिया जिसके बाद यूपी के विकास को लेकर प्रधान सेवक के नाते बारीकियों में जाना शुरू किया। गरीबों को पक्के घर मिले। शौचालय मिले ताकि घर की महिलाओं को बाहर न जाना पडे। ऐसे कितने ही काम यहां किये जाने जरूरी थे ।

उन्होने कहा कि बहुत पीड़ा थी कि तब जो सरकार थी। उसने मेरा साथ नहीं दिया बल्कि उन्हे सार्वजनिक रूप से खडे होने में डर लगता था। मै एमपी के रूप में आता था तो स्वागत करने में भी उन्हे शर्म आती थी क्योंकि काम का हिसाब देने के लिये कुछ था ही नही। योगी से पहले सरकारों ने यूपी के साथ नाइंसाफी की। अपने परिवार का ही हित साधा। ऐसा करने वालों को यूपी के लोग हमेशा हमेशा के लिये विकास के रास्ते से हटा देंगे और 2017 में आपने तो यह करके दिखाया है। प्रचंड बहुमत देकर सेवा का मौका दिया। आज यूपी में हो रहे विकास कार्यो को देखकर कह सकते है कि यूपी में तेज गति से बदलाव हो रहा है।

वायु सेना के हैरतअंगेज पराक्रम का गवाह बना पूर्वांचल एक्सप्रेस वे

मोदी ने कहा “ कौन भूल सकता है कि पहले यूपी में कितनी बिजली कटौती होती थी। यूपी में कानून व्यवस्था की क्या हालत थी। मेडिकल सुविधाओं की क्या स्थिति थी। यूपी में हालात ऐसे बना दिये गये थे। यूपी में राह नहीं बल्कि राहजनी होती थी। अब राहजनी करने वाले जेल में है। गांव गांव नयी राह बन रही है। नयी सडके बन रही है। बीते साढे चार वर्षो में यूपी पूरब हो या पश्चिम ,नयी सडकों से जोडा गया है हजारों कितनी नयी सडके बनायी गयी है। यूपी के लोग और राज्य सरकार सक्रिय भागीदारी से यूपी के विकास का सपना साकार होता दिख रहा है। नये मेडिकल कालेज बन रहे है एक्सप्रेस वे बन रहे है। आधुनिक शिक्षा संस्थान बन रहे है।”

उन्होने कहा “ कुशीनगर में हाल ही में हवाई अड्डा का लोकार्पण किया। आज पूर्वांचल एक्सप्रेस वे सौपने का सौभाग्य मिला है जिसका लाभ गरीब और मध्यम वर्ग को होगा। किसान को मदद होगी व्यापारी के लिये भी सुविधा होगी । श्रमिक और उद्यमी को भी होगा। दलित,वंचित पिछडे, मध्यम वर्ग को फायदा होगा। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे ने निर्माण के दौरान भी हजारों को रोजगार दिया और आगे भी लाखों नये रोजगार का माध्यम बनेगा।

इससे पहले योगी ने जनसभा को संबोधित करते हुये कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे सिर्फ आवागमन का माध्यम ही नहीं बल्कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिये जीवन रेखा बनेगा। उन्होंने कहा कि यह राजपथ आने वाले समय में विकास की एक नई जीवन रेखा के रूप में स्थापित होने वाला होगा।

मुख्यमंत्री योगी ने अपने संक्षिप्त संबोधन में कहा, “एक तरफ आज पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का उद्घाटन हो रहा है, वहीं दूसरी ओर बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का कार्य में भी तेजी चल रहा है। इसके साथ ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश को पूर्वी उत्तर प्रदेश से जोड़ने के लिए गंगा एक्सप्रेस वे का काम भी तेजी से चल रहा है।” उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मानकों वाले ये सभी एक्सप्रेस वे बनाने का मकसद समूचे उत्तर प्रदेश को देश के सभी अहम इलाकों से जोड़कर राज्य में विकास के प्रवाह को तेज करना है।

उन्होंने प्रदेश के सर्वांगीण विकास का दावा करते हुये कहा कि चार साल पहले तक महज चार हवाईअड्डों वाले उत्तर प्रदेश में अब नौ हवाईअड्डे कार्यरत हैं। जबकि 11 एयरपोर्ट का निर्माणकार्य चल रहा है। योगी ने कहा कि यह नए भारत के नए उत्तर प्रदेश की तस्वीर है।

कार्यक्रम के अंतिम दौर में एक्सप्रेस वे ऐतिहासिक एयर शो आयोजित किया गया। नवनिर्मित पूर्वांचल एक्सप्रेस वे मंगलवार काे उस समय ऐतिहासिक पलों का गवाह बना जब प्रधानमंत्री मोदी की मौजूदगी में वायु सेना के जांबाज लड़ाकू विमानों ने एयर शो में आपात लैंडिंग का हैरतअंगेज प्रदर्शन किया। इस दौरान वायु सेना के अत्धुनिक लड़ाकू विमानों ने एक्सप्रेस वे पर बनी हवाई पट्टी को आपात लैंडिंग के इस्तेमाल किये जाने का प्रदर्शन किया। वायु सेना के जंगी बेड़े में शामिल लड़ाकू विमानों जगुआर, सुखोई और मिराज ने एक्सप्रेस वे पर जब बारी बारी से लैंडिंग की तो पूरा माहौल वायु सेना के शौर्य और पराक्रम के अभूतपूर्व प्रदर्शन से सराबोर हो गया।

उल्लेखनीय है कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर सुल्तानपुर में स्थित लगभग तीन किमी के हिस्से को वायु सेना के विमानों की आपात लैंडिंग के लिये हवाई पट्टी के रूप बनाया गया है। लगभग 45 मिनट तक चले एयर शो के दौरान इन लड़ाकू विमानों ने न सिर्फ लैंडिंग की बल्कि विमान में ईंधन भरने और तकनीकी परीक्षण भी करने का सफल प्रयोग किया।

हालांकि एयर शो की औपचारिक शुरुआत तो मोदी ने विश्व के अत्याधुनिक मालवाहक जंबो जेट ‘सी 130 जे हरक्यूलिस ग्लोबमास्टर’ विमान से एक्सप्रेस वे पर पहुंच कर ही कर दी थी। दोपहर लगभग दो बजे ग्लोबमास्टर ने भारी गड़गड़ाहट के साथ ज्यों ही एक्सप्रेस वे पर लेंडिंग की, समूचा राजमार्ग, सड़क के दोनों ओर एकत्र हजारों लोगों की तालियों से गूंज उठा।

कार्यक्रम के समापन पर प्रधानमंत्री मोदी ने युद्धकाल में सैनिकों की आवाजाही के लिये इस्तेमाल होने वाले उसी हरक्यूलिस ग्लोबमास्टर से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के लिये वापसी की, जिससे चंद घंटे पहले उन्होंने एक्सप्रेस वे पर पहुंच कर सभी को चौंकाया था।

Related Post

शिवपाल सिंह यादव

शिवपाल सिंह यादव ने सादगी से जन्मदिन मनाया और चरखा चलाया

Posted by - January 30, 2020 0
लखनऊ। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने देश के मौजूदा हालात और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी…
'इनटू द वाइल्ड विद बीयर ग्रिल्स' शो

रजनीकांत संग शूट बीयर ग्रिल्स शो का प्रोमो लॉन्च, इस दिन होगा टेलीकास्ट

Posted by - February 27, 2020 0
नई दिल्ली। डिस्कवरी चैनल के पॉपुलर शो ‘इनटू द वाइल्ड विद बीयर ग्रिल्स’ में सुपरस्टार रजनीकांत का फर्स्ट लुक बीते…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *