हाई बीपी

क्या लहसुन खाने से बढ़ता है ब्लड प्रेशर, जानें कैसे कंट्रोल होगा हाई बीपी?

135 0

नई दिल्ली। हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए आजकल लोग कई उपाय करते हैं, लेकिन क्या सभी उपाय आपके लिए फायदेमंद होते हैं? ब्लड प्रेशर को लेकर लोगों के मन में कई धारणाएं होती हैं जैसे कि लहसुन खाने से ब्लड प्रेशर बढ़ता है।

हाई ब्लड प्रेशर मौजूदा वक्त की बड़ी समस्याओं में से एक हैं और कई गंभीर बीमारियों का कारण

हाई ब्लड प्रेशर मौजूदा वक्त की बड़ी समस्याओं में से एक हैं और कई गंभीर बीमारियों का कारण भी बनता जा रहा है। कई शोधों में यह भी सामने आ चुका है कि अब युवा भी हाइपरटेंशन का शिकार हो रहे हैं। ऐसे में हाई बीपी को कंट्रोल करने के लिए इलाज क्या हो सकता है? यह सवालिया निशान है! कोई लो ब्लड प्रेशर की समस्या से परेशान होता है तो कई लोग हाई ब्लड प्रेशर का शिकार होते हैं।

WHO बोला- कोरोना वायरस दुनिया के लिए आतंकवाद से ज्यादा खतरनाक 

यही कारण है कि अब लोगों को कम उम्र ही हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा रहता है। हाई ब्लड प्रेशर में क्या खाना चाहिए इसको लेकर भी लोग सवाल करते रहते हैं, लेकिन क्या वाकई लहसुन का सेवन करने से ब्लड प्रेशर बढता है? यहां हम आपको बता रहे हैं ऐसे ही कुछ सवालों के बारे में…

कई बीमारियों का कारण है हाई बीपी

ब्लड प्रेशर शरीर में कई तरह की खतरनाक समस्याएं पैदा कर सकता है। हाई ब्लड प्रेशर हार्ट रोगों, डायबिटीज, ब्रेन हैमरेज जैसी कई खतरनाक बीमारियों का कारण बन सकता है। ये सब हमारे खानपान और जीवनशैली पर भी निर्भर करता है। खानपान और जीवनशैली में कुछ बदलाव कर ब्लड प्रेशर को कंट्रोल किया जा सकता है, लेकिन एक सवाल जिसका जवाब कई लोग जानना चाहते हैं कि ब्लड प्रेशर में क्या खाएं और क्या नहीं? क्या लहसुन ब्लड प्रेशर को बढ़ा सकता है?

क्या लहसुन बढ़ाती ब्लड प्रेशर?

बता दें कि लहसुन ब्लड प्रेशर नहीं बढ़ाती है, नियमित रूप से लहसुन का सेवन करने से कई स्वास्थ्य समस्याओं को दूर किया जा सकता है। कई अध्ययन बताते हैं कि लहसुन में प्राकृतिक रोगाणुरोधी और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण से भरपूर होती है। लहसुन में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो इम्यूनिटी बढ़ाने में फायदेमंद हो सकती है। कई अध्ययनों में सामने आया है कि लहसुन कैंसर और हार्ट रोगों दोनों से राहत दिलाने में फायदेमंद हो सकती है।

कैसे काम करता है लहसुन?

लहसुन को गुणों का भंडार माना जाता है, क्योंकि लहसुन में एलिसिन, डायलील डाइसल्फ़ाइड, डायलील ट्राइसल्फ़ाइड के साथ कई और सल्फर युक्त यौगिकों पाए जाते हैं, जिसमें लहसुन की तीखी गंध के लिए एलिसिन मुख्य रूप से जिम्मेदार हो सकता है। लहसुन में मौजूद एंजाइम एलिनेज ऑक्सीजन भी स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। लहसुन का तेल, कच्चे लहसुन की तुलना में न तो उतनी गंध देता है और न ही उसमें इतने शक्तिशाली औषधीय प्रभाव होते हैं। इसलिए हमेशा कच्चा लहसुन स्वास्थ्य के लिए लाभदायक हो सकता है।

Loading...
loading...

Related Post

सेना ने पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम की घुसपैठ की कोशिश को किया नाकाम

Posted by - December 31, 2018 0
नई दिल्ली। नियंत्रण रेखा के पास भारतीय सेना ने नौगाम सेक्टर में पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम की घुसपैठ की…