Bengluru night curfew

 कर्नाटक के 7 जिलों में लगाया गया कोरोना कर्फ्यू

333 0

बेंगलुरु । कर्नाटक राज्य में कोरोना कर्फ्यू के अंदर बेंगलुरु, मैसूरु, मंगलुरु, कालाबुरागी, बीदर, तुमकुरु, उडुपी-मणिपाल शहर को शामिल किया गया है।

कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए बेंगलुरु सहित कर्नाटक के सात जिले में 20 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। ये कर्फ्यू 10 बजे से 5 बजे के बीच रखा जाएगा इस बीच लोगों की आवाजाही पर रोक लगाई जाएगी।

वहीं कर्नाटक ने पीएम मोदी की शब्दों को ध्यान में रखते हुए इस नाइट कर्फ्यू को कोरोना कर्फ्यू ( corona curfew) का नाम दिया है। दरअसल हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने कहा था, “जहां कहीं भी रात का कर्फ्यू (Night Curfew in Karnataka) लगाया जाता है। वहां ‘कोरोना कर्फ्यू’ वाक्यांश का इस्तेमाल किया जाना चाहिए ताकि कोरोनावायरस के बारे में जागरूकता बनी रहे।”

इन जिलों में लगा है कोरोना कर्फ्यू

कर्नाटक राज्य में कोरोना कर्फ्यू के तहत बेंगलुरु, मैसूरु, मंगलुरु, कालाबुरागी, बीदर, तुमकुरु, उडुपी-मणिपाल शहर को शामिल किया गया है। वहीं ये भी स्पष्ट कर दिया गया है कि कर्फ्यू केवल इन जिला केंद्रों तक सीमित रहेगा और कोई भी ग्रामीण क्षेत्र इन जिलों के अंतर्गत नहीं आता है।

कर्फ्यू में कौन सी सेवाएं बंद रहेगी?

राज्य सरकार के निर्देश के अनुसार कर्फ्यू के दौरान नाइट शिफ्ट वाली सभी फैक्ट्रियां, कंपनियां और संगठन चालू रह सकते हैं लेकिन कंपनी में काम कर रहे कर्मचारियों को रात 10 बजे से पहले वर्कप्लेस पर रिपोर्ट करना होगा। वहीं स्वास्थ्य और इमरजेंसी सेवाओं को भी छूट दी गई है। आवश्यक सेवाएं प्रदान करने वाले वाहन भी प्रतिबंध के बिना आगे बढ़ सकते हैं। वहीं स्वास्थ्य के मुद्दों से पीड़ित लोग और उसके साथ मौजूद उनके परिवार के लोगों को भी कर्फ्यू के समय आने जाने की छूट दी गई है।

इसके अलावा आवश्यक सेवा वाहन या माल ढुलाई करने वाले वाहन, होम डिलीवरी, ई-कॉमर्स को कर्फ्यू के दौरान आने जाने की अनुमति दी गई है। यात्रा करने वाले यात्रियों को टिकट और यात्रा करने की वजह बताकर यात्रा करने की अनुमति है। वहीं राज्य सरकार ने कहा कि नाइट कर्फ्यू नियम का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005, आईपीसी के तहत कार्रवाई की जाएगी।

कर्फ्यू लॉकडाउन में बदल सकता है?

कोरोना कर्फ्यू शुरू होने के एक दिन पहले, राज्य में 7,955 नए कोविड -19 मामले दर्ज किए गए, जो 2021 का उच्चतम एक दिन का स्पाइक है। हालांकि, मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि हम इस ढांचे के भीतर प्रधान मंत्री द्वारा दिए गए सुझावों को लागू करने का प्रयास कर रहे है। यही वजह है कि हमने राज्य में नाइट कर्फ्यू लगाए बिना जिला को चुना है जहां कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। हम देखना चाहते हैं कि यह कितना प्रभावी होगा, अगर चीजें नियंत्रण में नहीं आते, हमें इसे पूरे राज्य में विस्तारित करना पड़ सकता है।

Related Post

रजत ग्रुप ऑफ कालेजेज

गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उन्नत और विकसित समाज का अनिवार्य अंग : डॉ. सुरेशचन्द्र शुक्ल

Posted by - February 15, 2020 0
लखनऊ। फैजाबाद रोड चिनहट,मटियारी स्थित रजत ग्रुप ऑफ कालेजेज में ‘भारतीय परिप्रेक्ष्य में शैक्षिक नीतियां, प्रशासन, अनुसंधान एवं वैश्वीकरण’ विषय…
SHISHIR ADHIKARI

सुवेंदु अधिकारी के पिता भी भाजपा में शामिल, गृह मंत्री बोले- 2 मई के बाद TMC के गुंडे नहीं बचेंगे

Posted by - March 21, 2021 0
कोलकाता । पश्चिम बंगाल चुनाव से पहले ममता बनर्जी को एक और बड़ा झटका लगा है। सुवेंदु अधिकारी के पिता…