CM योगी ने कानपुर में की जीका वायरस की समीक्षा

35 0

मेट्रो ट्रायल रन का शुभारंभ करने आये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर में बढ़ रहे जीका वायरस के संक्रमण को लेकर भी गंभीर दिखे। इसी के चलते उन्होंने अधिकारियों संग समीक्षा बैठक की और जीका वायरस के संक्रमण को लेकर जो अब तक प्रयास किये गये उनकी जानकारियां ली।

मीडिया से मुखातिब होते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जीका वायरस को लेकर बराबर स्थानीय स्तर से लेकर शासन स्तर तक प्रयास किये जा रहे हैं, उम्मीद है कि जल्द ही कानपुर जीका वायरस के संक्रमण से मुक्त होगा।

स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद कानपुर में जीका वायरस ट्रेस नहीं हो रहा है। जीका वायरस की समीक्षा के लिए कानपुर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दावा किया कि अब स्थिति काफी नियंत्रण में है। कानपुर में पिछले एक महीने में अब तक 105 केस पाए गए हैं जिनमें से 17 लोग सही हो चुके हैं। जबकि शेष 88 मरीजों का उपचार जारी है।

अधिकारियों ने मुख्यमंत्री से बताया कि पांच वार्ड इससे विशेष प्रभावित थे, जिसमें नगर निगम, जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने संयुक्त रूप से अभियान चलाया। मुख्यमंत्री ने बताया कि शासन स्तर पर भी विशेषज्ञों की टीम भेजी गई थी, साथ ही साथ निगरानी समिति ने घर-घर जाकर कार्य सफाई अभियान चलाया। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह, वित्त मंत्री सुरेश खन्ना, औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना, मंडलायुक्त डा. राजशेखर, जीएसवीएम मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा. संजय काला, उप प्राचार्य डा. रिचा गिरि, अपर निदेशक चिकित्सा डा. जीके मिश्रा, सीएमओ डा. नैपाल सिंह उपस्थित रहे।

पैनिक होने की है जरुरत

मुख्यमंत्री ने कहा कि जीका वायरस के बढ़ते संक्रमण के मामलों को लेकर पैनिक होने की जरूरत नहीं है। लोगों को जागरूक करें और पूरी शिद्दत से फागिंग, नमूनों की जांच का कार्य कराएं। जो भी संक्रमित मिले हैं या जिनमें लक्षण मिल रहे हैं उन्हें आइसोलेट किया जाए। फागिंग पर विशेष जोर देने की जरूरत है। मच्छरों के साथ ही लार्वा को भी नष्ट करना है। इसके लिए जो भी जरूरी उपाय हों उन्हें अपनाएं।

CM योगी ने कानपुर मेट्रो ट्रायल रन का किया शुभारंभ

शहर में एक डेडीकेटेड हास्पिटल बनाएं ताकि जीका संक्रमितों का वहां उपचार हो सके। जो 10 वार्ड हैं वहां प्रत्येक वार्ड के लिए एक- एक नोडल अफसर तैनात करें। विधायक अभिजीत सिंह सांगा ने कहा कि नगर निगम की तरह ही ग्रामीण और नगर पालिका व नगर पंचायत क्षेत्र में भी फागिंग की व्यवस्था की जाए। विधायक उपेंद्र पासवान ने घाटमपुर में फागिंग का कार्य न होने की शिकायत की।

मुख्यमंत्री ने प्रभावित क्षेत्र का किया दौरा

कानपुर विकास प्राधिकरण (केडीए) में अधिकारियों संग बैठक के दौरान कानपुर में जीका वायरस संक्रमण की जानकारी मुख्यमंत्री ने ली, लेकिन वह अधिकारियों के जवाब से संतुष्ट नही हुए। इसी के चलते उन्होंने जीका वायरस प्रभावित क्षेत्र चकेरी का भी दौरा किया और पीड़ित परिजनों से बातचीत करके अधिकारियों का फीडबैक लिये। इसके बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने कहा कि कानपुर जीका वायरस के संक्रमण से पूरी तरह से जल्द मुक्त होगा।

Related Post

teacher recruitment

UP: एडेड जूनियर हाईस्कूल में प्रिंसिपल व शिक्षकों की भर्ती ,तीन मार्च से करें ऑनलाइन अप्लाई

Posted by - March 2, 2021 0
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के अशासकीय सहायता प्राप्त जूनियर हाईस्कूलों में प्रधानाध्यापक के 390 और सहायक अध्यापक के 1,504 पदों के…

ब्लॉक प्रमुख चुनावों के नामांकन के दौरान कई जिलों में बीजेपी-सपा समर्थकों में भिड़ंत

Posted by - July 8, 2021 0
उत्तर प्रदेश ब्लॉक प्रमुख के चुनावों को लेकर हलचल जारी है, गुरुवार को 825 क्षेत्र पंचायतों में अध्यक्ष पद के…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *