mulayam singh

मुलायम सिंह के निधन से समाजवाद के प्रमुख स्तंभ एवं संघर्षशील युग का अंत: सीएम योगी

84 0

इटावा/लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) के निधन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने गहरा दु:ख प्रकट किया है। सुबह निधन की सूचना मिलने पर उन्होंने फोन पर अखिलेश यादव से बात करके प्रदेश सरकार की ओर से अपनी शोक संवेदनाएं व्यक्त की। देर शाम मुख्यमंत्री सैफई पहुंचे और मुलायम सिंह यादव के पार्थिव शरीर के समक्ष प्रधानमंत्री और प्रदेश सरकार की ओर से पुष्प चक्र अर्पित किये। यहां उन्होंने शोक संतप्त परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए मंगलवार को होने वाले अंतिम संस्कार के लिए अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिये।

पीएम और राज्यपाल की तरफ से भी पुष्प गुच्छ रखकर श्रद्धांजलि दी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi)  ने सैफई  पहुंचकर दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) को भावभीनी श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से स्व. श्री मुलायम सिंह यादव के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। इसके अलावा उन्होंने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की ओर से भी पुष्प चक्र अर्पित करने के पश्चात स्वयं भी पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने पार्टी की ओर से पुष्प चक्र अर्पित कर मुलायम सिंह यादव को श्रद्धांजलि दी। जल शक्ति मंत्री श्री स्वतंत्र देव सिंह ने भी इस अवसर पर मौजूद थे।

समाजवाद के प्रमुख स्तंभ एवं संघर्षशील युग का अंत

लंबे अर्से से बीमार चल रहे 81 वर्षीय मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) का इलाज गुरुग्राम के मेदान्ता अस्पताल में चल रहा था। बीते 1 अक्टूबर की रात को उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया। हालत में सुधार न होने के चलते उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। सोमवार सुबह उनके निधन के बाद मुख्यमंत्री (CM Yogi) ने अपनी शोक संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि मुलायम सिंह यादव के निधन से समाजवाद के प्रमुख स्तंभ एवं संघर्षशील युग का अंत हो गया है। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोकाकुल परिजनों एवं समर्थकों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट की।

mulayam singh

संघर्षों में तपे-बढ़े, पांच दशक तक प्रदेश की राजनीति के केंद्र बिंदु रहे

मुख्यमंत्री (CM Yogi)  ने कहा कि सपा नेता के निधन पर पूरा प्रदेश शोकाकुल है। मुलायम सिंह यादव जुझारू और संघर्षशील नेता थे। समाजवादी विचारधारा से जुड़े एक महत्वपूर्ण स्तंभ थे। वे संघर्षों में तपे-बढ़े और पांच दशक तक प्रदेश की राजनीति के केंद्र बिंदु थे। देश और प्रदेश की राजनीति में एक महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन उन्होंने लंबे समय तक किया। यूपी विधानसभा और विधानपरिषद में लंबे समय तक नेतृत्व करने के साथ ही तीन बार प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में यूपी जैसे राज्य को नेतृत्व प्रदान किया। देश की संसद में सात बार प्रतिनिधित्व किया और भारत के रक्षामंत्री के रूप मे देश की सेवा की है।

राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार के निर्देश

मुख्यमंत्री (CM Yogi) ने कहा कि राज्य शासन ने मुलायम सिंह यादव के दु:खद निधन पर तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है। उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से राजकीय सम्मान के साथ उनके अंतिम संस्कार की कार्रवाई के लिए निर्देशित किया गया है।

mulayam singh

कैबिनेट बैठक के सभी प्रस्ताव स्थगित किए गए

इससे पहले प्रदेश सरकार की कैबिनेट बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) के निधन पर शोक व्यक्त किया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में कैबिनेट मंत्रियों ने दिवंगत मुलायम सिंह यादव को श्रद्धांजलि अर्पित कर शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की है। सरकार की ओर से कैबिनेट के सभी प्रस्ताव को फिलहाल के लिए स्थगित कर दिया है।

Related Post

Jitendra Singh

केंद्रीय मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह कोरोना पॉजिटिव, संपर्क में आए लोगों से की टेस्ट की अपील

Posted by - April 20, 2021 0
नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) तेजी से फैल रहा है। न सिर्फ आम जनता बल्कि नेता भी बड़ी…
महाराष्ट्र सरकार का शपथ ग्रहण एक दिसंबर को

महाराष्ट्र: कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना की सरकार का शपथ ग्रहण एक दिसंबर को

Posted by - November 26, 2019 0
मुंबई। महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन वाली सरकार का शपथ ग्रहण आगामी दिसंबर को होगा। हालांकि शपथ ग्रहण…
विद्यालयों में दो शिक्षकों की जांच के बाद दो फर्जी शिक्षक बर्खास्त

बाइक चोरी कर भाग रहे आरोपित को लोगों ने दबोचा

Posted by - March 6, 2021 0
 विभूतिखंड के डॉ राम मनोहर लोहिया परिसर में सफाई कर्मी की बाइक चोरी करना शातिरों के लिए भारी पड़ गया। पीड़ित ने अपने दोस्तों की मदद से आरोपियों को धर दबोचा। इसके बाद पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त उपकरण बरामद किए हैं। साथ ही पूछताछ के बाद आरोपियों को जेल भेज दिया है। शातिर जालसाजों ने 96 हजार रुपए ऐंठे प्रभारी निरीक्षक चंद्रशेखर सिंह ने बताया कि पीड़ित अनवर हुसैन मानसनगर इंदिरा नगर इलाके में परिवार के साथ रहता है। साथ ही डॉ राम मनोहर लोहिया अस्पताल में बतौर सफाई कर्मचारी कार्यरत है। गुरुवार को पीड़ित ने पुलिस को बताया कि डॉ राम मनोहर लोहिया अस्पताल परिसर के गेट नंबर तीन के पास बाइक खड़ी कर अंदर गया था। करीब आधे घंटे बाद वापस आया तो बाइक गायब थी। आनन-फानन में पुलिस को घटना की जानकारी दी। साथ ही दोस्तों के संग तलाश शुरू की। इसके बाद चिनहट के निजामपुर मल्हौर इलाके में रहने वाले भानु पांडे और अवधेश पांडे को पकड़ लिया। हालांकि इस दौरान आरोपी भागने की कोशिश करने लगे तो शोर शराबा सुनकर आसपास के लोग इकट्ठा हो गए। आक्रोशित भीड़ ने आरोपियों से हाथापाई की। इसके बाद पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस का दावा है कि आरोपियों के कब्जे से चोरी की बाइक और लॉकर तोड़ने के उपकरण बरामद किए गए हैं। आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। इसके बाद पुलिस ने जेल भेज दिया गया है।