CM Vishnudev Sai

माता कौशल्या की धरती में शिव पुराण कथा का आयोजन होना छत्तीसगढ़ का सौभाग्य : विष्णुदेव साय

17 0

धमतरी। कुरूद में आयोजित गौरीशंकर शिव महापुराण कथा श्रपवण करने 21 मई को मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय (CM Vishnudev Sai) व उनकी पत्नी कौशल्या देवी साय भी पहुंचे। दोनों ने बैठकर कथा सुनी।

मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय (CM Vishnudev Sai) व्यासपीठ पर बैठे पंडित प्रदीप मिश्रा से आशीर्वाद लेने के बाद मुख्यमंत्री श्री साय ने श्रद्धालुओं को मतांतरण रोकने के लिए अपील की।

पंडित प्रदीप मिश्रा को प्रणाम करते हुए कहा कि यह छत्तीसगढ़ का सौभाग्य है कि माता कौशल्या की धरती में इतना बड़ा शिव पुराण कथा का आयोजन हो रहा है और यहां कथा सुनाने पंडित प्रदीप मिश्रा पहुंचे हैं। वैसे तो छत्तीसगढ़ माता कौशिल्या की धरती है और ऋषि मुनियों का धाम है। भगवान राम अपने 14 साल के वनवास काल का अधिकांश समय हमारे छत्तीसगढ़ के दंडकारण्य क्षेत्र में बिताए। यही छत्तीसगढ़ है, जहां पर शिवरीनारायण है, जहां पर सबरी माता का धाम है, जहां पर भगवान झूठे बेर खाए थे।

छत्तीसगढ़ में भोले बाबा अलग-अलग जगह में अलग-अलग नाम से विराजित है। राजिम में कुलेश्वर महादेव है। वनवास काल में भगवान राम और माता सीता महानदी और पैरी नदी का जो संगम है, वहां पर महादेव की स्थापना करके भगवान शिव की पूजा करके दंडकारण्य में प्रवेश किए थे। कहीं पर भोरमदेव, कहीं पर रूद्रेश्वर तो कहीें पर पातालेश्वर के नाम से भगवान शिव छत्तीसगढ़ में विराजे हैं। छत्तीसगढ़ के अंदर में अध्यात्म का विकास हो रहा है। लोगों में धर्म और प्रगाढ़ हो रहा है।

नन्हीं बच्ची इनाया के साथ आत्मीय पल को मुख्यमंत्री साय ने किया साझा

मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय (CM Vishnudev Sai) ने श्रद्धालुओं से अपील करते हुए कहा कि प्रदेश में मतांतरण का काम चल रहा है। यहां से कथा सुनकर उर्जा लेकर जाएं और अपने-अपने क्षेत्रों में मतांतरण को रोक पाए।गौ हत्या को रोकें। इस तरह से कथा सुनने का सार्थकता और बढ़ जाएगी। असामाजिक तत्वों के लोग हमारे सनातन को कमजोर करने के लिए जुटे हुए है। जहां पर थोड़ी अज्ञानता है, अशिक्षा है, थोड़ी गरीबी है, ऐसे जगहों को देखकर वहां मतांतरण का काम करते हैं।

उन्हें अफसोस होता है कि पहले ट्राइबल के लोग उनके पास भूखमरी होती थी थी। पेट के कारण मतांतरण करते थे, लेकिन आज शिक्षित है। संपन्न है, ऐसे समझ में भी मतांतरण का काम जोरों पर चल रहा है। देश के अंदर मतांतरण रोकने हम सब हिंदू भाई-बहनों का दायित्व है इसलिए सभी प्रयास करें कि अपने आसपास में मतांतरण न हो। हिंदू भाईयों से लगातार संपर्क करें, तो मतांतरण रूकेगा। इस दौरान उनके साथ कुरूद विधायक अजय चंद्राकर समेत अन्य लोग उपस्थित थे।

Related Post

अमित शाह

आईपीसी और सीआरपीसी में बदलाव के लिए हमारी सरकार कटिबद्ध: अमित शाह

Posted by - November 29, 2019 0
लखनऊ। 47वीं अखिल भारतीय पुलिस साइंस कांग्रेस-2019 का समापन अवसर पर शुक्रवार को राजधानी लखनऊ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह…
आशुतोष टंडन

जन विश्वास जीतते हुये सीवर नेटवर्क संबंधी शिकायतों जल्द हो निस्तारण: आशुतोष टंडन

Posted by - January 30, 2020 0
लखनऊ। यूपी के नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने गुरुवार को सीवेज ट्रीटमेंट प्रणाली, संबंधित इन्फ्रास्टेक्चर व सीवर नेटवर्क का…