CM Bhajanlal Sharma

राजस्थान में हीट वेव प्रबंधन की सीएम भजनलाल ने संभाली कमान

10 0

जयपुर। राजस्थान इन दिनों भीषण गर्मी की चपेट में है। मरूस्थलीय जिलों के अलावा कई संभागीय मुख्यालयों पर पारा 50 डिग्री सेल्सियस केआसपास चल रहा है। रात और दिन के तापमान में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। राज्य के मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा (CM Bhajan Lal Sharma) ने चुनावी व्यस्तताओं के बावजूद अपनी दूरदर्शिता की बदौलत शासन-प्रशासन को चुस्त-दुरूस्त कर स्पष्ट निर्देश दिए कि हीट-वेव प्रबंधन उनकी प्राथमिकता में सबसे ऊपर है।

मुख्यमंत्री (CM Bhajan Lal Sharma) ने पूर्व में ही संभागीय आयुक्त और जिला कलक्टर से लेकर एसडीएम तकऔर चिकित्सा, पेयजल सहित विभिन्न महत्वपूर्ण विभागों के अधिकारियों के अवकाश पर रोक लगाते हुए उन्हें लगातार फील्ड में रहने के निर्देश दिए गए। जिलों के सभी अस्पतालों और डिसपेंसरियों में हीट वेव से संबंधित दवाइयों की आपूर्ति सुनिश्चित करने के साथ इलाज के पुख्ता प्रबंध किए गए। अस्पतालों में लू-तापघात से ग्रसित मरीजों के लिए डेडिकेटेड वार्ड स्थापित किए गए।

मरूस्थलीय क्षेत्र की नहरों और जलभंडारण स्त्रोतों में जलापूर्ति निर्बाध रूप से जारी है, जिससे राज्य में पेयजल और पशुचारे की आपूर्ति सुचारू बनी हुई है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रदेशभर में पशु-पक्षी संरक्षण अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत सभी सरकारी कार्यालयों में पक्षियों के लिए दाने-पानी की व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री का यह आह्वान जनआंदोलन बन चुका है और अनेक स्वयंसेवी संस्थाएं और आमजन इसके लिए आगे आ गए हैं।

मुख्यमंत्री (CM Bhajan Lal Sharma)  के निर्देश के पश्चात् मनरेगा श्रमिकों के कार्य समय को परिवर्तित किया गया है। इससे लाखों श्रमिक परिवारों को राहत मिली है। औद्योगिक स्थलों, धार्मिक एवं पर्यटन केन्द्रों, भीड़भाड़ वाले स्थानों जैसे बस स्टेंड, रेलवे स्टेशन, रेलवे फाटक के आसपास छाया-पानी की व्यवस्था की गई है।

प्रदेश में इन सभी व्यवस्थाओं की पड़ताल करने और इन्हें और अधिक मुस्तैद करने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री (CM Bhajan Lal Sharma) के निर्देशों की पालना में सभी जिलों के प्रभारी सचिव दो दिनों से अपने प्रभार वाले जिलों में हैं। ये हीट वेव प्रबंधन की बारीकी से माॅनिटरिंग कर रहे हैं। अधिकारियों की सक्रियता के आकलन के साथ अस्पतालों, गोशालाओं आदि का निरीक्षण कर रहे हैं। सभी जिलों के दौरों की रिपोर्ट का 31 मई को खुद मुख्यमंत्री आकलन करेंगे।

पहली बार मुख्यमंत्री (CM Bhajan Lal Sharma) ने जलदाय और विद्युत विभाग के राज्य स्तर से लेकर उपखण्ड स्तर तक नियंत्रण कक्षों को मुस्तैद रखने की माॅनिटरिंग की है। आमजन को लू और तापघात से बचाव के प्रति जागरुक करने साथ ‘डू और डोंट्स’ के प्रति आमजन को जागरुक किया जा रहा है। कुल मिलाकर प्रत्येक स्तर पर मुख्यमंत्री की माॅनिटरिंग और समय पूर्व प्रबंधों की बदौलत गर्मी के इस चुनौतीपूर्ण दौर में आमजन को राहत मिली है।

Related Post

Ganga Aarti

गंगा आरती की नई व्यवस्था

Posted by - February 19, 2021 0
सियाराम पांडेय ‘शांत’ गंगा के निर्मलीकरण को लेकर जहां उत्तर प्रदेश की योगी सरकार निरंतर प्रयास कर रही है। प्रदेश…
PM MODI

असम की पहचान का अपमान करने वाले लोग, यहां की जनता को बर्दाश्त नहीं : PM मोदी

Posted by - April 3, 2021 0
गुवाहाटी। असम में छह अप्रैल को तीसरे चरण का मतदान है। इससे पहले शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तालुमपुर (PM…