मुख्यमंत्री ने दी 130 करोड़ की सौगात

मुख्यमंत्री ने दी 130 करोड़ की सौगात

435 0

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि विकास के लिए सुरक्षा अनिवार्य शर्त है। इसी को ध्यान में रखकर प्रदेश सरकार ने संगठित अपराध को पूरी तरह समाप्त कर दिया है। कहीं भी कोई अपराधी समाज के सुरक्षित माहौल में बाधा डालता है तो उसको कुचलने के लिए प्रशासन को खुली छूट दी गई है। विकास के संकल्प पर निरंतर आगे बढ़ते रहने के लिए हमारा प्रयास है कि इसमें किसी भी प्रकार की बाधा नहीं आनी चाहिए।

सीएम योगी शुक्रवार को रामगढ़ ताल समीप स्थित महंत दिग्विजयनाथ पार्क में 76.39 करोड़ रुपये की 9 विकास परियोजनाओं के लोकार्पण व 54.20 करोड़ की 16 परियोजनाओं के शिलान्यास के बाद उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे।  उन्होंने कहा कि विकास की परियोजनाओं से न केवल बुनियादी सुविधाओं को नई ऊंचाइयां मिलेंगी बल्कि प्रदेश आर्थिक समृद्धि को भी प्राप्त करेगा। सीएम योगी ने जोर देकर कहा कि विकास का कोई  विकल्प नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि पिछले माह केंद्र सरकार और फिर 22 फरवरी को राज्य सरकार ने बजट पेश किया। दोनों सरकारों का बजट विकास और रोजगार पर केंद्रित है। पीएम नरेंद्र मोदी की समग्र विकास की परिकल्पना को मूर्त रूप देने का कार्य 2017 में उत्तर प्रदेश में आई भाजपा सरकार ने किया है। आज प्रदेश में ऐसा कोई जनपद, लोकसभा, विधानसभा, विकास खण्ड या गांव नहीं है जहां विकास की बड़ी परियोजनाओं का लाभ न मिला हो।  गोरखपुर तो इसका जीता जागता उदाहरण है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 1990 में बंद गोरखपुर का खाद कारखाना उस साल जुलाई तक पूर्ण हो जाएगा। इससे किसानों को सही,सस्ती व गुणवत्तापूर्ण खाद मिलेगी तो नौजवानों को बड़ी संख्या में रोजगार व नौकरी। खाद कारखाने से जब धुंआ उठेगा तो नए भारत की तस्वीर में अपना गोरखपुर चमकता हुआ दिखाई देगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि खाद कारखाने में युवाओ को कौशल विकास का प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार उन्मुख बनाया जाएगा। सीएम योगी ने कहा कि औद्योगीकरण और रोजगार सृजन सरकार की प्राथमिकता में है।

प्रदेश में हमने चार लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दी। तेजी से हुए निवेश के चलते 35 लाख युवाओं को निजी क्षेत्र में नौकरी मिली। एमएसएमई सेक्टर में लाखों को रोजगार मिला। पिपराइच में लगी 50 हजार कुंतल गन्ना प्रतिदिन पेराई की क्षमता वाली चीनी मिल भी रोजगार और किसानों की आय दोगुना करने की लेकर एक नए भविष्य का इशारा कर रही है।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में जल्द ही प्लास्टिक पार्क स्थापित किए जाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इस पार्क में 100 से अधिक प्लास्टिक यूनिटस लगेंगी। इसमे 25000 से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि अभी हाल में ही पीएम मोदी ने टॉय फेस्टिवल का शुभारंभ किया था, प्लास्टिक पार्क खिलौना उद्योग के क्षेत्र में क्रांति ला सकता है।

गोरखपुर के एनेक्सी भवन में अभ्युदय कोचिंग के छात्रों से मुखातिब हुए सीएम

अपने संबोधन में सीएम योगी ने गोरखपुर समेत पूरे प्रदेश में शानदार हुई एयर और रोड कनेक्टिविटी का विस्तार से उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि पहले गोरखपुर से एक भी हवाई सेवा नहीं थी, आज मुंबई, दिल्ली समेत आठ प्रमुख शहरों के लिए यहां से फ्लाइट है। कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय विमान सेवा शुरू होने जा रही है। कुशीनगर में जापान, सिंगापुर, श्रीलंका के विमान आने की कल्पना भी किसी ने नहीं की थी। भगवान राम ही पुष्पक विमान से आए थे, अब हर नागरिक आ-जा सकता है।
सीएम योगी ने सड़कों के विस्तारीकरण और चौड़ीकरण का जिक्र करते हुए कहा कि पहले गोरखपुर से लखनऊ जाने का एक ही मार्ग था, अब लिंक एक्सप्रेस वे के जरिए एक और विकल्प मिल रहा है। उतनी ही दूरी को महज 3 घण्टे में पूरा किया जा सकता है। फोरलेन सड़कों के होने से आज गोरखपुर से नेपाल की यात्रा महज डेढ़ घण्टे में पूरी हो जाती है। पहले डेढ़ घण्टे गोरखपुर शहर में ही लग जाता था।  आज गांव-गांव सड़क, बिजली और जलनिकासी की व्यवस्था है।

अब किसी मंत्री व विधायक के घर तक ही सड़क नहीं बन रही बल्कि हर व्यक्ति को इसका लाभ मिल रहा है। उन्होंने कहा कि विकास से ही क्षेत्र की पहचान बनती है और हमारा यह दायित्व होना चाहिए कि हम विकास कार्यों में किसी प्रकार की बाधा न आने दें। उन्होंने जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों से कहा कि वे विकास कार्यों की नियमित समीक्षा व भौतिक सत्यापन करते रहें। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व की सरकारों में गांव, गरीब व इलाज एजेंडे में नहीं था। लोगों को तीन घण्टे भी बिजली नहीं मिल पाती थी, मोबाइल की बैटरी तक चार्ज नहीं होती थी। आज गांव गांव बिजली की कमी नहीं है। 1977 से 2017 तक गोरखपुर बस्ती मंडल में हर साल इंसेफेलाइटिस से 1200 से 1500 बच्चों की असमय मौत हो जाती थी। मरने वाले 90 प्रतिशत बच्चे अल्पसंख्यक व दलित होते थे लेकिन इन्हें अपना वोट बैंक बनाने वाले मौन रहते थे। 2017 के बाद इंसेफेलाइटिस पर नकेल कस दिया गया है। पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए हमने पीएम मोदी से 2014 में एम्स मांगा था। 2016 में पीएम मोदी ने इसका शिलान्यास किया और उस वर्ष के अंत मे विश्व स्तरीय सुविधाओं वाले एम्स का लोकार्पण हो जाएगा। सीएम ने कहा कि एम्स बनने तक इलाज की बेहतरीन सुविधा के लिए प्रधानमंत्री ने मेडिकल कॉलेज में सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक की सौगात दी जहां कोरोना काल में कोविड रोगियों की शानदार चिकित्सा सुविधा मिली। यहां हर बेड के साथ वेंटिलेटर है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही गोरखपुर में आयुष विश्विद्यालय की स्थापना भी होने जा रही है।

मुख्यमंत्री ने पूर्वी उत्तर प्रदेश में पर्यटन के क्षेत्र में असीम संभावनाओं के दृष्टिगत बताया कि इसी माह गोरखपुर के चिड़ियाघर का लोकार्पण हो जाएगा। शेर आ चुके हैं। यह प्रदेश का बेहतरीन चिड़ियाघर होगा, मनोरंजन के साथ ज्ञानवर्धन का माध्यम भी बनेगा। 20 साल पहले गोरखपुर की पहचान अपराध के केंद्र के रूप में थी। यहां के रामगढ़ ताल में शहर की गंदगी गिरती थी। आज रामगढ़ ताल खूबसूरती के लिए जाना जाता है। सार्वजनिक कार्यक्रम के लिए जगह नहीं होती थी और आज महंत दिग्विजय नाथ पार्क और चंपा देवी पार्क जैसे दो बड़े सार्वजनिक स्थान हैं। इसी माह यहां बड़ी क्षमता का एक अत्याधुनिक प्रेक्षागृह समर्पित करने जा रहे हैं। जिस राजघाट पर गंदगी देख लोगों का मन खिन्न होता था आज वहां हर प्रकार की सुविधा के साथ शानदार प्लेटफार्म और स्नान की बेहतरीन व्यवस्था है। लाखों की संख्या में लोग बाबा गोरखनाथ की धरती पर आस्था निवेदित करने आते हैं। उन्होंने कहा कि गोरखपुर बौद्धिस्ट पर्यटन व सनातन संस्कृति के अनुनायियों का प्रमुख केंद्र है। यहां से होकर ही पर्यटक कुशीनगर, कपिलवस्तु, श्रावस्ती, अयोध्या, मगहर और काशी आते जाते हैं। ऐसे में यहां रोजगार की बड़ी संभावनाएं हैं। स्थानीय युवक इन पर्यटकों के लिए गाइड का कार्य कर सकते हैं।

Related Post

लखनऊ स्वस्थ्य भवन

लखनऊ स्वस्थ्य भवन का निरीक्षण कर सीएम योगी ने दिए अपडेटेड कंट्रोल रूम बनाने के निर्देश

Posted by - March 16, 2020 0
लखनऊ। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए देश के सभी राज्यों में बचाव के लिए कई कदम उठाए…
यूपी बोर्ड विज्ञान विषय का पेपर आउट

यूपी बोर्ड : विज्ञान विषय का पेपर आउट, ईंट भट्टे पर सॉल्वर और नकल माफिया पकड़े गए

Posted by - February 29, 2020 0
लखनऊ। यूपी बोर्ड परीक्षा के दौरान अलीगढ़ के अतरौली क्षेत्र में पर्चा लीक होने का मामला सामने आया है। शनिवार…