महाव्याधि मंत्र का करें जाप

कोरोना से बचने के लिए ‘महाव्याधि मंत्र’ का करें जाप : बह्मचारी वागीश शास्त्री

141 0

लखनऊ। युवा संत ब्रह्मचारी वागीश शास्त्री ने कहा कि भारत सनातन धर्म को मानने वाला देश है। यहां के धर्म ग्रन्थों में भू-लोक से लेकर पूरे ब्रह्माण्ड की समस्याओं का समाधान मौजूद है। यह जहां शास्त्र सम्मत हैं, वहीं वै​ज्ञानिक कसौटी पर भी खरा उतर चुका है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्वच्छता, सयंम व सर्तकता के साथ 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की अपील की

कोराना वायरस के चपेट पूरा विश्व है। एक ओर जहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्वच्छता, सयंम व सर्तकता के साथ 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का अपील की है। तो वहीं सनात्तन धर्मावलम्बियों ने उनके अपील का स्वागत करते हुए धर्म शास्त्रों में वर्णित उपायों को भी करने का आह्वान कर रहे हैं।

कोरोना वायरस से बचने के लिए महाव्याधि मंत्र-‘अच्युताय नम:, अनन्ताय नम:, गोविन्दाय नम:’ जपने का आह्वान किया

युवा संत ब्रह्मचारी वागीश शास्त्री ने करोना वायरस से बचने के लिए ‘शक्ति मंत्र’ का जप करने का आह्वान किया है। बताया कि सनातन धर्म में रोग निदान के लिए मंत्रों का प्रयोग भी होता है। इन्होंने कोरोना वायरस से बचने के लिए महाव्याधि मंत्र-‘अच्युताय नम:, अनन्ताय नम:, गोविन्दाय नम:’ जपने का आह्वान किया है।

कोरोना का खौफ : कुछ इस तरह अनुपम खेर और अनिल कपूर एक-दूसरे का हालचाल लेते दिखे

बताया कि इस मंत्र को निरन्तर घर में बैठकर जप करें। इस मंत्र के जप करने से सिर्फ कोरोना ही नहीं, हर व्याधि का नाश हो जाएगा। यह मानने की बात है। यह महाव्याधि नाश व शमन मंत्र है। इस मंत्र पर जिन भाईयों को विश्वास नहीं है, उन पर इस मंत्र को जप करने का कोई दबाव नहीं है।

यह सनात्तन धर्म का प्रमाणिक मंत्र है, यह कपोल कल्पना नहीं

उन्होंने कहा कि इस मंत्र का जप शुद्ध रहकर करें, तो कोरोना वायरस से बचा जा सकता है। इस मंत्र के जाप मात्र से ही सारी व्याधियां नष्ट हो जाती हैं। यह सनात्तन धर्म का प्रमाणिक मंत्र है, यह कपोल कल्पना नहीं है। यह मंत्र श्रद्धावान लोगों के लिए ही है। इस वायरस से घबरायें नहीं है। धर्म के आड़ में मत आईये। बाजार में मत जाईये, मंदिर में मत जाईये। अपने-अपने मत-पंथ के अनुसार नियमों तथा पूजा व पाठ का पालन करिए।

प्रधानमंत्री के अपील को अक्षरश: पालन करने की जरूरत

उन्होंने कहा कि ‘दुर्गति-नाशिनी दुर्गा जय जय, काल विनाशिनी काली जय जय। व्याधि विनाशिनी ललिता जय जय, रोग नाश तो हर-हर शंकर,’ हमारे यहां यह चिरतन काल से धर्म ग्रन्थों में वर्णित है। उन्होंने सोशल मीडिया पर अपना वीडियो भी डाला है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से विश्वभर में एक डर बना हुआ है। मेरा मानना है कि डरने से अच्छा है कि सचेत रहें। प्रधानमंत्री के अपील को अक्षरश: पालन करने की जरूरत है। उनकी अपील से हम महामारी को नष्ट कर सकते हैं।

Loading...
loading...

Related Post

उमा भारती

Ayodhya Verdict : उमा भारती बोलीं- SC ने एक निष्पक्ष और दिव्य निर्णय दिया

Posted by - November 9, 2019 0
नई दिल्ली। अयोध्या विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को अपना ऐतिहासिक फैसला सुना दिया। पांच जजों की संवैधानिक…
झाविमो की पांचवीं सूची जारी

झाविमो ने 15 उम्‍मीदवारों की पांचवीं सूची जारी, सरोज सिंह को धनबाद से टिकट

Posted by - November 23, 2019 0
रांची। झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 को लेकर बाबूलाल मरांडी की पार्टी झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) ने शनिवार को अपने प्रत्‍याशियों…

केजरीवाल पर मिर्च पाउडर फेकने वाले शक्स को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

Posted by - November 22, 2018 0
नई दिल्ली। दिल्ली सचिवालय में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर मिर्च पाउडर फेकना अनिल कुमार शर्मा नामक शक्स को…