Amit Shah

नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई निर्णायक मोड़ पर: अमित शाह

225 0
रायपुर। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि जवानों ने जो देश के लिए बलिदान दिया है, उसे देश कभी भुला नहीं सकता है। उन्होंने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि, जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। शाह (Amit Shah) ने कहा विगत कुछ वर्षों में नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई निर्णायक मोड़ पर पहुंची है। इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना ने इसको और बढ़ाने का काम किया है, हम दो मकाम और आगे पहुंचे हैं। बता दें कि जगदलपुर में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर सीएम भूपेश बघेल भी मौजूद रहे।

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हुए नक्सली हमले में 22 जवानों की शहादत पर बोलते हुए शाह ने कहा कि विगत कुछ वर्षों में नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई निर्णाय मोड़ पर पहुंची है और इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना ने इसको और आगे बढ़ाने का काम किया है।

उन्होंने मीटिंग के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि, लड़ाई रुकेगी नहीं और गति के साथ आगे बढ़ेगी. इस लड़ाई को अंजाम तक ले जाएंगे। नक्सलवादियों के खिलाफ हमारी जीत निश्चित है।

गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सुकमा-बीजापुर बॉर्डर पर हुए नक्सली हमले पर जगदलपुर में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। इससे पहले अमित शाह ने जगदलपुर में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी थी।

इसके साथ ही वे घायल जवानों से अस्पताल में मुलाकात भी करेंगे। बता दें, बीजापुर नक्सली हमले में 22 जवान शहीद हुए हैं, एक लापता है जबकि 31 जवान घायल हैं।

शनिवार को हुई मुठभेड़

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हुई मुठभेड़ में 22 जवान शहीद हो गए और 31 जवान घायल हैं। एक जवान अभी भी लापता है। जिसकी तलाश की जा रही है। शहीद जवानों में DRG के 8, STF के 6, COBRA बटालियन के 7 जवान और बस्तर बटालियन का 1 जवान शहीद हुए हैं। कोरबा बटालियन के शहीद हुए जवानों में असम के 2, आंध्र प्रदेश के 2, उत्तर प्रदेश के 2 और त्रिपुरा का एक जवान शामिल है।

असम का दौरा छोड़कर पहुंचे थे दिल्ली

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) अधिकारियों के साथ छत्तीसगढ़ की स्थिति का जायजा लेने के लिए दिल्ली पहुंचे थे। गृह मंत्री अमित शाह असम का अपना दौरा बीच में ही समाप्त कर दिल्ली लौटे थे।

Related Post