Mamta angry on amit shah

कूचबिहार हिंसा पर बोले अमित शाह, कहा – मौत पर भी तुष्टिकरण करती हैं ममता दीदी

439 0

नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने रविवार को पश्चिम बंगाल के शांतिपुर में एक रोड शो का आयोजन किया। इसके बाद उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) पर तुष्टिकरण और वोट की राजनीति करने का आरोप लगाया।

शाह (Amit Shah) ने कहा कि कूचबिहार के सीतलकुची में चार लोगों की मौत के लिए दीदी का भाषण जिम्मेदार है। अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि कुछ दिन पहले सीतलकुची सीट पर ममता दीदी ने भाषण दिया था कि कोई भी सेंट्रल फोर्स आए तो उन्हें घेर लो और उन पर हमला करो। मैं ममता दीदी से पूछना चाहता हूं कि क्या आपका वो भाषण उन 4 लोगों की मौत का जिम्मेदार नहीं है?

गृह मंत्री शाह  (Amit Shah)  ने कहा कि जिस प्रकार से इस घटना का राजनीतिकरण किया जा रहा है ये बहुत दुखद है। मैंने ममता दीदी के बयान देखे हैं, उसी बूथ पर सुबह आनंद बर्मन की गुंडों द्वारा हत्या कर दी गई ताकि वहां पर मतदान न हो और सीआईएसएफ के हथियार लूटने की कोशिश की। यही नहीं अमित शाह ने आगे कहा कि ममता दीदी सिर्फ चार लोगों को श्रद्धांजलि देती हैं, उनको आनंद बर्मन की मौत की नहीं पड़ी है। मृत्य में भी तुष्टिकरण और वोट की राजनीति करना, ममता दीदी ने बंगाल की राजनीति को कितना नीचे गिराया है, ये इसका एक उदाहरण है।

वहीं अमित शाह ने बंगाल के बशीरहाट दक्षिण में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि दीदी बौखलाई हुई हैं और हर दिन ये ही बात करती हैं कि अमित शाह इस्तीफा दें। दीदी जब जनता मुझे कहेगी तब मैं इस्तीफा दे दूंगा, मगर आप इस्तीफा तैयार रखो 2 मई को आपको इस्तीफा जरूर देना पड़ेगा।

सीएए को लेकर साधा निशाना

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah)  ने कहा कि दीदी सीएए (CAA) का विरोध करती हैं क्योंकि शरणार्थियों को नागरिकता मिलने वाली है। उनको तकलीफ है कि घुसपैठिए नाराज होंगे। सीएए के खिलाफ दीदी ने जो प्रस्ताव लाया था, हम वापस लेंगे। शरणार्थियों के लिए मुख्यमंत्री शरणार्थी कल्याण योजना शुरू करेंगे। उनको सालाना 10,000 रूपये सहायता दी जाएगी।

अनुसूचित जाति के लोगों का अपमान मत करो : शाह

अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि कुछ दिन पहले टीएमसी की एक नेता ने बयान दिया कि अनुसूचित जाति के लोग स्वभाव से भिक्षा मांगने वाले हैं। दीदी आपके लोग ये क्या कह रहे हैं? जो गौरव से रह रहे हैं आप उनको भिखारी कह रही हैं, उनका अपमान कर रही हैं। दीदी अगर जरा भी शर्म बची है तो उनको बेदखल कर दो।

Related Post

Narayan dandekar

‘मैंनें जी ली अपनी जिंदगी’…कहकर बुजुर्ग ने युवक को दिया अपना बेड, नहीं रहे तीन दिन बाद

Posted by - April 28, 2021 0
नागपुर। कोरोना माहामारी के बीच एक ऐसी खबर नागपुर से सामने आई है, जिसने इंसानियत की मिसाल पेश करने के…
सारा का कंप्यूटर से तेज है दिमाग

चेन्नई की सारा का कंप्यूटर से तेज है दिमाग, चंद मिनटों में हल करती है पहेली

Posted by - November 22, 2019 0
चेन्नई। दुनिया में हर क्षेत्र में कुछ नया इतिहास लिखने वाले को ही पुरस्कार दिया जाता है। ऐसी ही श्रेणी…